होम /न्यूज /व्यवसाय /

नेशनल पेंशन सिस्टम के तहत न्यूनतम गारंटीड रिटर्न देने की योजना! निवेशकों को होगा ज्यादा लाभ

नेशनल पेंशन सिस्टम के तहत न्यूनतम गारंटीड रिटर्न देने की योजना! निवेशकों को होगा ज्यादा लाभ

NPS में जुड़ने की अधिकतम आयु को बढ़ाकर 70 वर्ष किया जा चुका है.

NPS में जुड़ने की अधिकतम आयु को बढ़ाकर 70 वर्ष किया जा चुका है.

PFRDA (पेंशन फंड रेगुलेटरी एंड डेवलपमेंट अथॉरिटी) एक गारंटी वाले पेंशन प्रोग्राम को शुरू करने की तैयारी में है. इसके तहत न्यूनतम गारंटी रिटर्न योजना (Minimum Assured Return Scheme) लाई जा सकती है, जिससे देश के करोड़ों निवेशकों को लाभ मिलेगा. इसे 30 सितंबर तक लॉन्च किया जा सकता है.

अधिक पढ़ें ...

हाइलाइट्स

PFRDA (पेंशन फंड रेगुलेटरी एंड डेवलपमेंट अथॉरिटी) एक गारंटी वाला पेंशन प्रोग्राम शुरू करने की तैयारी में है.
न्यूनतम गारंटी रिटर्न योजना से देश के करोड़ों निवेशकों को लाभ मिल सकेगा.
PFRDA के चेयरपर्सन ने बताया कि 30 सितंबर से न्यूनतम गारंटी योजना शुरू की जा सकती है.

नई दिल्ली. अपने भविष्य को सुरक्षित करने के लिए नेशनल पेंशन सिस्टम (NPS) में निवेश करने वाले लोगों के लिए एक अच्छी खबर आई है. दरअसल, PFRDA (पेंशन फंड रेगुलेटरी एंड डेवलपमेंट अथॉरिटी) एक गारंटी वाला पेंशन प्रोग्राम शुरू करने की तैयारी में है.

इसके प्रोग्राम के तहत न्यूनतम गारंटी रिटर्न योजना (Minimum Assured Return Scheme) लाने की तैयारी है, जिससे देश के करोड़ों निवेशकों को लाभ मिलेगा. इसे नेशनल पेंशन सिस्टम (NPS) में ही 30 सितंबर तक लॉन्च किया जा सकता है.

ये भी पढ़ें – QR कोड स्कैन करके खोलिए NPS अकाउंट, बैंक ऑफ इंडिया ने दिया डिजिटल प्लेटफार्म

30 सितंबर से शुरू हो सकती है योजना
पीएफआरडीए (PFRDA) के चेयरपर्सन सुप्रतिम बंधोपाध्याय ने शुक्रवार को संवाददाताओं से कहा कि अभी हम न्यूनतम गारंटी रिटर्न योजना पर काम कर रहे हैं. उन्होंने बताया कि PFRDA अपने निवेशकों पर महंगाई और रुपये की वैल्यू में गिरावट से पड़ने वाले असर को समझता है और उसी के मुताबिक रिटर्न देता है. अभी NPS में एक न्यूनतम रिटर्न योजना पर काम चल रहा है, इससे निवेशकों को एक बड़ी राशि मिल सकेगी. बंदोपाध्याय ने बताया कि 30 सितंबर से न्यूनतम गारंटी योजना शुरू की जा सकती है.

नेशनल पेंशन स्कीम से अब तक कितना रिटर्न?
सुप्रतिम बंदोपाध्याय ने बताया कि पिछले 13 सालों में नेशनल पेंशन स्कीम से निवेशकों को सालाना 10.27% से अधिक की दर से रिटर्न दिया गया है. NPS के तहत निवेशकों को ऐसा रिटर्न देने की कोशिश रही है, जिससे उनपर महंगाई का असर कम से कम हों. गारंटी रिटर्न योजना के आने से देश के करोड़ों लोगों को फायदा होगा और नेशनल पेंशन में आवेदन करने वालों की संख्या भी तेजी से बढ़ेगी.

ये भी पढ़ें – आम हुआ WazirX और Binance का झगड़ा, यूजर्स के लिए सिसदर्द! समझें पूरा मामला

इस साल 20 लाख हो जाएंगे सब्सक्राइबर
PFRDA के चेयरपर्सन ने कहा कि पेंशन एसेट्स (परिसंपत्तियों) का साइज 35 लाख करोड़ रुपये है, जिसमें से 22 फीसदी यानी कुल 7.72 लाख करोड़ रुपये NPS के पास और 40 फीसदी हिस्सा EPFO (कर्मचारी भविष्य निधि संगठन) के पास है. उन्होंने बताया कि इसमें जुड़ने की अधिकतम आयु को बढ़ाकर 70 वर्ष कर दिया है, जिससे इस साल सब्सक्राइबर्स की संख्या में काफी बढ़ोतरी हुई है. कुल सब्स्क्राइबर्स की संख्या अब 3.41 लाख से बढ़कर 9.76 लाख हो गई है. चालू वित्त वर्ष में इनकी संख्या में 20 लाख की बढ़ोतरी का अनुमान है.

क्या है नेशनल पेंशन स्कीम यानी NPS?
नेशनल पेंशन स्कीम (NPS) देश की राष्ट्रीय पेंशन योजना है, जिसे केंद्रीय कर्मचारियों के लिए 1 जनवरी 2004 से अनिवार्य किया गया. 2009 से इसमें निजी सेक्टर के कर्मचारियों को भी निवेश की छूट दी गई. कर्मचारी नौकरी में रहते हुए इसमें निवेश करते हैं और रिटायरमेंट के बाद उन्हें इसका फायदा मिलता है. सरकार इस पर उन्हें रिटर्न देती है. यह बाजार से जुड़ी हुई योजना है. इसके रिटर्न में भी उतार-चढ़ाव हो सकता है. रिटायरमेंट से पहले भी कुछ शर्तों के अधीन रहते हुए इसमें से कुछ हिस्सा निकाल सकते हैं.

Tags: Business news, Business news in hindi, National pension, New Pension Scheme, NPS, Pension scheme

अगली ख़बर