PharmEasy ने ई-रिटेलर Medlife का किया अधिग्रहण, बनी देश की सबसे बड़ी ई-फार्मा कंपनी

फार्मईजी मेडलाइफ के अधिग्रहण के बाद अब हर महीने 20 लाख कस्टमर्स को अपनी सेवाएं देगी.

फार्मईजी मेडलाइफ के अधिग्रहण के बाद अब हर महीने 20 लाख कस्टमर्स को अपनी सेवाएं देगी.

देश के पहले ई-फार्मेसी यूनिकॉर्न फार्मईजी (PharmEasy) ने मेडिसिन ई-रिटेलर मेडलाइफ (Medlife) का अधिग्रहण कर लिया है. इस अधिग्रहण (Acquisition) के बाद कंपनी अब हर महीने 20 लाख कस्टमर्स को अपनी सेवाएं देगी.

  • Share this:

नई दिल्‍ली. देश के पहले ई-फार्मेसी यूनिकॉर्न फार्मईजी (PharmEasy) ने मेडिसिन ई-रिटेलर कंपनी मेडलाइफ (Medlife) का अधिग्रहण कर लिया है. इस सौदे के बाद फार्मईजी देश की सबसे बड़ी ई-फार्मा कंपनी (Largest e-Pharma Company) बन गई है. फार्मईजी ने मेडलाइफ के अधिग्रहण में खर्च हुई रकम के बारे में फिलहाल कोई जानकारी नहीं दी है. सीधे शब्‍दों में कहें तो अभी अधिग्रहण राशि का खुलासा नहीं हुआ है. फार्मईजी ने कहा कि अधिग्रहण से हेल्थकेयर इंडस्ट्री (Healthcare Industry) में हमारी स्थिति ज्‍यादा मजबूत होगी.

सीसीआई ने पहले ही दे दी है इस विलय को अपनी मंजूरी

फार्मईजी मेडलाइफ के अधिग्रहण के बाद अब हर महीने 20 लाख कस्टमर्स को अपनी सेवाएं देगी. फार्मईजी के संस्‍थापक धवल शाह ने कहा कि इससे हमें ज्‍यादा से ज्‍यादा भारतीय घरों तक क्‍वालिटी हेल्थकेयर प्रोडक्‍ट्स पहुंचाने में बड़ी मदद मिलेगी. भारतीय प्रतिस्‍पर्धा आयोग (CCI) ने पहले ही दोनों कंपनियों के विलय (Merger) को अपनी मंजूरी दे दी थी. बता दें कि इस अधिग्रहण की राशि का खुलासा अभी नहीं हुआ है. हालांकि, जुलाई 2020 में सूत्रों के हवाले से खबर आई थी कि फार्मईजी अपनी प्रतिद्वंद्वी कंपनी मेडलाइफ को करीब 1500 करोड़ रुपये (20 करोड़ डॉलर) में खरीदने के लिए बातचीत कर रही है.

ये भी पढ़ें- क्विक चेन रेस्‍टोरेंट कंपनी Devyani International पेश करने वाली है IPO, दे सकती है तगड़ा मुनाफा, इसके बारे में जानें सबकुछ
अब मेडलाइफ के यूजर बन जाएंगे फार्मईजी के ग्राहक

जून 2020 में बेंगलुरु स्थित मेडलाइफ अपनी ग्रोथ के लिए पूंजी की जरूरतों को पूरा करने के लिए 10 से 15 करोड़ डॉलर जुटाने की तैयारी कर रही थी. हालांकि, उस समय मेडलाइफ को कोई निवेशक (Investor) नहीं मिला था. उसकी माली हालत (Financial Condition) लगातार बिगड़ रह थी. अब ई-फार्मेसी यूनिकॉर्न फार्मईजी ने कंपनी का अधिग्रहण कर विलय कर लिया है. इस सौदे के मुताबिक, मेडलाइफ अब अपना कारोबार बंद कर देगी और कंपनी के यूजर फार्मईजी के ग्राहक बन जाएंगे.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज