होम /न्यूज /व्यवसाय /PhonePe से ही खरीद सकेंगे किसी भी कंपनी की इंश्‍योरेंस पॉलिसी, IRDAI ने दिया ब्रोकर लाइसेंस, चेक करें डिटेल्‍स

PhonePe से ही खरीद सकेंगे किसी भी कंपनी की इंश्‍योरेंस पॉलिसी, IRDAI ने दिया ब्रोकर लाइसेंस, चेक करें डिटेल्‍स

IRDAI ने फोन-पे को डायरेक्‍ट ब्रोकिंग लाइसेंस जारी कर दिया है.

IRDAI ने फोन-पे को डायरेक्‍ट ब्रोकिंग लाइसेंस जारी कर दिया है.

इंश्‍योरेंस रेग्‍युलेटरी एंड डेवलपमेंट अथॉरिटी ऑफ इंडिया (IRDAI) की ओर से मिले ब्रोकर लाइसेंस के बाद अब फोन-पे (PhonePe ...अधिक पढ़ें

    नई दिल्‍ली. डिजिटल पेमेंट व फाइनेंशियल सर्विसेस फिनटेक फोन-पे (PhonePe) को इंश्‍योरेंस रेग्‍युलेटरी एंड डेवलपमेंट अथॉरिटी ऑफ इंडिया (IRDAI) ने इंश्‍योरेंस ब्रोकिंग लाइसेंस (Insurance Broking License) जारी कर दिया है. फोन-पे इस लाइसेंस के मिलने के बाद अब किसी भी इंश्‍योरेंस कंपनी के प्रोडक्‍ट्स का वितरण कर सकती है. दूसरे शब्‍दों में कहें तो अब फोन-पे यूजर्स को इंश्‍योरेंस प्रोडक्‍ट्स के लिए ज्‍यादा भटकना नहीं पड़ेगा. वे फोन-पे पर ही किसी भी इंश्‍योरेंस कंपनी का कोई भी प्रोडक्‍ट खरीद सकेंगे. बता दें कि फोन-पे ने पिछले साल इंश्‍योरेंस कॉरपोरेट एजेंट लाइसेंस मिलने के साथ इंश्‍योर-टेक सेक्‍टर (Insurtech Sector) में एंट्री की थी.

    पर्सनलाइज्‍़ड प्रोडक्ट्स की पेशकश भी कर सकती है PhonePe
    इंश्‍योरेंस कॉरपोरेट एजेंट लाइसेंस के जरिये फोन-पे हेल्‍थ, लाइफ और जनरल इंश्‍योरेंस (Health, Life and General Insurance) में हर कैटेगरी की सिर्फ तीन कंपनियों के साथ साझेदारी कर सकती थी. अब डायरेक्‍ट ब्रोकिंग लाइसेंस (Direct Broking License) मिलने से फोन-पे देश में मौजूद सभी इंश्‍योरेंस कंपनियों के प्रोडक्‍ट्स बेच सकती है. वहीं, फोनपे अब अपने यूजर्स को पर्सनलाइज्‍़ड प्रोडक्ट्स की पेशकश भी कर सकती है. साथ ही भारतीय उपभोक्‍ताओं के लिए इंश्योरेंस प्रोडक्ट्स के ज्यादा डायवर्स पोर्टफोलियो की भी पेशकश कर सकती है.

    ये भी पढ़ें- PF Account में दो दिन के भीतर आएगा ब्‍याज का पैसा! जानें EPFO ने इस बारे में क्‍या दी जानकारी

    इंश्‍योरेंस सेक्‍टर में फोन-पे की ग्रोथ में आएगी तेजी
    फोनपे के वाइस प्रेसिडेंट और इंश्योरेंस के हेड गुंजन घई ने बताया कि लाइसेंस इश्योरेंस कंपनी के लिए बड़ी सफलता है. डायरेक्‍ट ब्रोकिंग लाइसेंस से कंपनी को इंश्‍योरेंस सेक्‍टर में मजबूत पकड़ देगा. साथ ही इस सेक्‍टर में कंपनी की ग्रोथ में भी तेजी आएगी. बता दें कि फोन-पे भारत का लीडिंग डिजिटल पेमेंट प्लेटफॉर्म है. इसके 30 करोड़ से ज्यादा यूजर्स हैं. फोन-पे के जरिये यूजर्स पैसे ट्रांसफर कर सकते हैं. इसके अलावा मोबाइल, डीटीएच, डाटा कार्ड रिचार्ज भी कर सकते हैं. क्‍यूआर कोड के जरिये स्टोर पर पेमेंट कर सकते हैं. यही नहीं फोनपे के जरिये गोल्‍ड में निवेश के ऑप्‍शंस भी मिलते हैं. जुलाई 2021 में कुल 1.4 अरब लेनदेन फोन-पे की मदद से किए गए हैं. नेशनल पेमेंट्स कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया (NPCI) के मुताबिक, फोन-पे से जुलाई 2021 में कुल 2,88,572 करोड़ रुपये का लेनदेन किया गया.

    Tags: Business news in hindi, Digital payment, General Insurance Company, Health insurance scheme, Insurance Policy, Insurance Regulatory and Development Authority, Phonepe

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें