होम /न्यूज /व्यवसाय /

PIB Fact Check: क्या SBI के ट्रांजैक्शन नियम बदल गए? जानिए वायरल मैसेज की सच्चाई

PIB Fact Check: क्या SBI के ट्रांजैक्शन नियम बदल गए? जानिए वायरल मैसेज की सच्चाई

पीआईबी ने कहा कि बैंक ने ट्रांजैक्शन करने पर किसी तरह के नियमों में बदलाव नहीं किया है.

पीआईबी ने कहा कि बैंक ने ट्रांजैक्शन करने पर किसी तरह के नियमों में बदलाव नहीं किया है.

पीआईबी ने अपने फैक्ट चेक में इन सभी दावों को फर्जी बताया. पीआईबी ने अपने फैक्ट चेक अकाउंट से ट्वीट कर कहा कि बैंक की तरफ से ऐसा कोई भी नियम नहीं बनाया गया है. उन्होंने बताया कि ये सभी दावे फर्जी हैं.

हाइलाइट्स

वायरल मैसेज में यह दावा किया जा रहा है कि सेविंग अकाउंट में आप सालाना 40 ट्रांजैक्शन कर सकते हैं.
40 से अधिक ट्रांजैक्शन होने पर खाते में जमा राशि से हर ट्रांजेक्शन पर 57.5 रुपये की काट ली जाएगी
एटीएम से 4 बार से अधिक पैसा निकालने पर कुल 173 रुपए काटे जाएंगे.

नई दिल्ली. देश के सबसे बड़े सरकारी बैंक एसबीआई (SBI) के ट्रांजैक्शन से जुड़ा मैसेज वायरल हो रहा है. अगर आपका भी सेविंग अकाउंट एसबीआई (SBI) में है तो यह खबर आपके लिए बहुत महत्वपूर्ण है. वायरल मैसेज में यह दावा किया जा रहा है कि सेविंग अकाउंट में आप सालाना 40 ट्रांजैक्शन कर सकते हैं. 40 से अधिक ट्रांजेक्शन होने पर खाते में जमा राशि से हर ट्रांजैक्शन पर 57.5 रुपये की कटौती की जाएगी और एटीएम से 4 बार से अधिक पैसा निकालने पर कुल 173 रुपये काटे जायेंगे.

PIB ने इन मैसेजों को बताया फर्जी
पीआईबी ने अपने फैक्ट चेक में इन सभी दावों को फर्जी बताया. पीआईबी ने अपने फैक्ट चेक अकाउंट से ट्वीट कर कहा कि बैंक की तरफ से ऐसा कोई भी नियम नहीं बनाया गया है. उन्होंने बताया कि ये सभी दावे फर्जी हैं. बैंक ने ट्रांजैक्शन करने पर किसी तरह के नियमों में बदलाव नहीं किया है.

हर महीने किए जा सकते हैं 5 मुफ्त ट्रांजैक्शन
पिछले दिनों पीआईबी फैक्ट की तरफ से बताया गया था कि अपने बैंक के ATM से आप हर महीने 5 मुफ्त ट्रांजैक्शन कर सकते हैं. इसके बाद अधिकतम 21 रुपये ट्रांजैक्शन या कोई टैक्स होने पर अलग से देय होगा.

ये भी पढ़ें – HDFC म्यूचुअल फंड के जरिए चांदी में भी कर सकेंगे निवेश, लॉन्च किया सिल्वर ईटीएफ

हाल ही में पीआईबी फैक्ट चेक ने एक अन्य वायरल मैसेज को फेक बताया था. इस वायरल मैसेज में यह दावा किया जा रहा था कि केंद्र की मोदी सरकार आधार कार्ड होल्डर्स को 4.78 लाख रुपये का लोन दे रही है. अपने फैक्ट चेक में पीआईबी ने यह बताया कि यह दावा पूरी तरह से भ्रामक है. इसमें किसी तरह की सच्चाई नहीं हैं. केंद्र की मोदी सरकार आधार कार्ड होल्डर्स को किसी प्रकार का लोन नहीं देने वाली है.

क्या है पीआईबी फैक्ट चेक?
पीआईबी फैक्ट चेक भारत सरकार की आधिकारिक फैक्ट चेक एजेंसी है. सोशल मीडिया के दौर में कई बार गलत खबरें वायरल होने लगती हैं. ऐसे में पीआईबी फैक्ट चेक ऐसे खबरों की पुष्टि करती है और भ्रामक खबरों को फैलने से रोकती है.

Tags: PIB fact Check, Sbi, SBI Bank, Viral news

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर