क्या केंद्र सरकार ने स्कूली किताबों पर टैक्स लगाया है? जानिए सच्चाई

प्रतीकात्मक फोटो
प्रतीकात्मक फोटो

PIB Fact Check-सोशल मीडिया पर यह दावा किया जा रहा कि केंद्र सरकार ने स्कूली किताबों पर टैक्स लगा दिया है. आइए जानें इसकी हकीकत के बारे में...

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 26, 2020, 8:04 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. अगर आपने कहीं पढ़ा या फिर सुना है कि केंद्र सरकार (Government of India) ने स्कूली किताबों (School Books) पर टैक्स लगा दिया है. तो ये खबर पूरी तरह से झूठी है. क्योंकि सरकार की ओर से ऐसा कोई भी कदम नहीं उठाया गया है.भारत सरकार की प्रेस इंफॉर्मेशन ब्यूरो ने वायरल खबर का खंडन करते हुए कहा है कि भारत सरकार ने ऐसा कोई फैसला नहीं लिया है. सबंधित खबर की पड़ताल पीआईबी फैक्ट चेक (PIB Fact Check) ने की है और इसे फेक पाया है.

आखिर क्या है सच? जानिए- इस खबर की पड़ताल करने पर पता चला कि ये खबर फर्जी है. PIB फैक्ट चेक ने ट्वीट में कहा है कि सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे एक मैसेज में दावा किया जा रहा है कि केंद्र सरकार ने स्कूली किताबों पर टैक्स लगा दिया है. यह दावा फर्जी है। स्कूली टेक्स्ट बुक्स पर कोई टैक्स नहीं है.


FACT Check-क्या केंद्र की मोदी सरकार सभी के घर पर फ्री में सोलर पैनल लगा रही है? जानिए सच्चाई 



PIB Fact Check केन्द्र सरकार की पॉलिसी/स्कीम्स/विभाग/मंत्रालयों को लेकर गलत सूचना को फैलने से रोकने के लिए काम करता है. सरकार से जुड़ी कोई खबर सच है या झूठ, यह जानने के लिए PIB Fact Check की मदद ली जा सकती है. कोई भी PIB Fact Check को संदेहात्मक खबर का स्क्रीनशॉट, ट्वीट, फेसबुक पोस्ट या URL वॉट्सऐप नंबर 918799711259 पर भेज सकता है या फिर pibfactcheck@gmail.com पर मेल कर सकता है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज