सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है नकली Taxpayers Charter, जान लें सच

सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है नकली Taxpayers Charter, जान लें सच
सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है नकली Taxpayers Charter, जान लें सच

सोशल मीडिया पर Taxpayers Charter को लेकर एक झूठ भी वायरल हो रहा है. एक दस्तावेज को सोशल मीडिया पर नए #TaxPayersCharter of India' के रूप में साझा किया जा रहा है. लेकिन वो दस्तावेज दूसरे देश का चार्टर है न की भारत के चार्टर का.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 14, 2020, 12:06 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने गुरुवार को ईमानदार टैक्सपेयर्स के लिए कई बड़ी घोषणा की हैं. 21वीं सदी के टैक्स सिस्टम की इस नई व्यवस्था का आज लोकार्पण किया गया है. इस प्लेटफॉर्म में Faceless Assessment, Faceless Appeal और Taxpayers Charter जैसे बड़े रिफॉर्म्स हैं. लेकिन इसी के साथ ही सोशल मीडिया पर Taxpayers Charter को लेकर एक झूठ भी वायरल हो रहा है. एक दस्तावेज को सोशल मीडिया पर नए #TaxPayersCharter of India' के रूप में साझा किया जा रहा है. लेकिन वो दस्तावेज दूसरे देश का चार्टर है न की भारत के चार्टर का.



इस नए सिस्टम से ट्रांसफर पोस्टिंग के लिए जुगाड़ और सिफारिश खत्म होगी. सिस्टम फेसलेस होने के कारण आयकर विभाग का प्रभाव जमाने का चक्कर भी खत्म हो जाएगा.
जानिए टैक्सपेयर्स चार्टर क्या है?
अगर आसान भाषा में समझें तो ये चार्टर एक तरह की लिस्ट होगी, जिसमें टैक्सपेयर्स के अधिकार और कर्तव्य के अलावा टैक्स अधिकारियों के लिए भी कुछ निर्देश होंगे. इसके जरिए करदाताओं और इनकम टैक्स विभाग के बीच विश्वास बढ़ाने की कोशिश की जाएगी. इस चार्टर में टैक्सपेयर्स की परेशानी कम करने और इनकम टैक्स अफसरों की जवाबदेही तय करने की व्यवस्था होगी.



इस समय दुनिया के सिर्फ तीन देशों- अमेरिका, कनाडा और ऑस्ट्रेलिया में ही यह लागू है. इन देशों में लागू टैक्सपेयर्स चार्टर की कुछ बातें कॉमन हैं. उदाहरण के लिए जब तक यह साबित न हो जाए कि करदाता ने टैक्स चोरी या गड़बड़ी की है, तब तक उसे ईमानदार करदाता मानना होगा. इसका मतलब ये है कि बेवजह नोटिस भेजकर दबाव नहीं डाला जाएगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading