लाइव टीवी

छोटे कारोबारियों को राहत, मल्टी ब्रैंड रिटेल में 100% FDI नहीं बढ़ाएगी सरकार

News18Hindi
Updated: October 24, 2019, 1:16 PM IST
छोटे कारोबारियों को राहत, मल्टी ब्रैंड रिटेल में 100% FDI नहीं बढ़ाएगी सरकार
सरकार मल्टीब्रांड रिटेल में FDI की सीमा 49% से ज्यादा नहीं बढ़ाएगी

स्वीडन मे निवेशकों को सम्बोधित करते हुए केंद्रीय मंत्री (Union Minister) पीयूष गोयल ने कहा कि अगले पांच साल में सरकार रिफॉर्म (Reforms) के मोर्चे पर और तेजी से काम करेगी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 24, 2019, 1:16 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. वाणिज्य उद्योग एवं रेल मंत्री पीयूष गोयल ने कहा है कि सरकार का मल्टी ब्रैंड रिटेल (Multi- Brand Retail) में एफडीआई (FDI) की सीमा 49% से बढ़ाने का कोई इरादा नहीं है. स्वीडन मे निवेशकों को सम्बोधित करते हुए उन्होने कहा कि अगले पांच साल में सरकार रिफॉर्म के मोर्चे पर और तेजी से काम करेगी.

मल्टी ब्रैंड रिटेल में 100% FDI नहीं
वाणिज्य उद्योग मंत्री ने इसके पीछे दो दलील दी. पहली दलील ये दी कि अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर कई सारे सर्वे किए गए हैं जिसमें यह बात निकलकर सामने आई है कि इससे छोटे कारोबारियों को नुकसान होता है. भारत में छोटे कारोबारी बड़ी संख्या में हैं. इसलिए उनके हितों को देखते हुए सरकार मल्टी ब्रैंड रिटेल में विदेशी निवेश की सीमा 49 फीसदी से ज्यादा किसी भी हालत में नहीं बढ़ाएगी.

ये भी पढ़ें: शुक्रवार तक जरूर निपटा लें अपने बैंक से जुड़े सभी काम, अगले 4 दिन बंद रहेंगे बैंक

दूसरा मुद्दा चीन से बढ़ते इम्पोर्ट को लेकर है. वहां भी पीयूष गोयल ने साफ तौर पर कहा कि चीन से बढ़ते इम्पोर्ट पर विश्व के कई सारे देशों में चिंता जताई है. भारत भी अब इसकी समीक्षा कर रहा है. भारत की कोशिश चीन के साथ व्यापार संतुलित करना है.

तीसरा मुद्दा था कि अगले 5 साल रिफॉर्म एजेंडा यहां पेश किया गया. केंद्रीय मंत्री ने य बताया कि अगले 5 साल में रिफॉर्म बड़ी तेजी आएगी. इसमें खासतौर से ईज ऑफ डूइंग बिजनेस यानी कारोबार करने के तौर तरीकों को और ज्यादा आसान कैसे बनाया जाए, इंफ्रास्ट्रक्चर में निवेश कैसे बढ़ाया जाए और स्थानीय स्तर पर आधुनिकीकरण का फायदा पहुंचाया जाए.

(लक्ष्मण रॉय, इकोनॉमिक पॉलिटिकल एडिटर- CNBC आवाज़)
Loading...

ये भी पढ़ें: धनतेरस पर Paytm Gold का शानदार ऑफर! सिर्फ 1 रुपये में खरीदें सोना, मिलेंगे ये फायदें

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मनी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 24, 2019, 1:16 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...