लाइव टीवी

'सर्विस सेक्टर में रोजगार पैदा करने और इकोनॉमिक ग्रोथ बढ़ाने का है दम'

भाषा
Updated: November 5, 2019, 7:30 PM IST
'सर्विस सेक्टर में रोजगार पैदा करने और इकोनॉमिक ग्रोथ बढ़ाने का है दम'
सेवा क्षेत्र में काफी संभावनाएं: गोयल

वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री पीयूष गोयल ने सुझाव दिया कि मंत्रालय, राज्य और उद्योग संगठन सीआईआई सभी मिलकर सरकार द्वारा पहचान किए गए 12 अग्रणी क्षेत्रों की वृद्धि को बढ़ाने के लिए कुछ प्रकार की नीतियों और अन्य उपायों पर काम कर सकते हैं.

  • Share this:
नई दिल्ली. देश के सेवा क्षेत्र (Service Sector) में रोजगार सृजित करने और आर्थिक वृद्धि (Economic Growth) को बढ़ावा देने की काफी क्षमता है. वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री (Minister of Commerce and Industry) पीयूष गोयल ने मंगलवार को यह बात कही. उन्होंने सुझाव दिया कि मंत्रालय, राज्य और उद्योग संगठन सीआईआई (CII) सभी मिलकर सरकार द्वारा पहचान किए गए 12 अग्रणी क्षेत्रों की वृद्धि को बढ़ाने के लिए कुछ प्रकार की नीतियों और अन्य उपायों पर काम कर सकते हैं.

सरकार ने जिन 12 अग्रणी क्षेत्रों की पहचान की है, उनमें लेखा (Accounting), वित्त (Finance), मीडिया (Media), मनोरंजन (Entertainment), सूचना प्रौद्योगिकी (Information Technology) , स्वास्थ्य (Health), कानूनी (Legal), परिवहन (Transport) और लॉजिस्टिक्स (Logistics) शामिल हैं. गोयल ने कहा, मैंने एक सुझाव दिया है कि अगले 15-20 दिनों में, हम राज्यों के साथ कुछ प्रकार की नीतियों और प्रोत्साहन पर काम कर सकते हैं. ये नीतियां विभिन्न अग्रणी क्षेत्रों को बढ़ाने और बहुत तेजी से विस्तार करने में बड़े पैमाने पर मदद कर सकती हैं.

ये भी पढ़ें: बड़ी राहत! PMC बैंक ग्राहक अब निकाल सकेंगे इतने रुपये तक का कैश

केंद्रीय मंत्री ने सेवा क्षेत्र पर वैश्विक प्रदर्शनी (जीईएस) 2019 के अनावरण कार्यक्रम में यह बात कही. यह प्रदर्शनी 26 से 28 नवंबर को बेंगलुरु में आयोजित होगी. मंत्रालय और भारतीय उद्योग परिसंघ (सीआईआई) इसका आयोजन करेंगे. उन्होंने कहा कि सेवा क्षेत्र में बहुत क्षमता है और यह भारतीय अर्थव्यवस्था में महत्वपूर्ण योगदान देता है.

गोयल ने 'स्टैच्यू ऑफ यूनिटी' पर कहा कि बेशक कुछ लोग इस परियोजना को लेकर सरकार की आलोचना कर रहे हैं लेकिन इसमें आसपास के क्षेत्र में काफी आर्थिक गतिविधियां सृजित करने की क्षमता है. उन्होंने कहा, मेरा अनुमान है कि स्टैच्यू ऑफ यूनिटी से एक ऐसी व्यवस्था का निर्माण करेगा कि अगले चार-पांच साल में इस प्रतिमा से या इसके इर्द-गिर्द की चीजों से सालाना 1 लाख करोड़ रुपये की आमदनी होगी.

प्रदर्शनी के बारे में जानकारी देते हुए वाणिज्य मंत्रालय के संयुक्त सचिव दर्पण जैन ने कहा कि यह भारत में इन 12 क्षेत्रों में मौजूद अवसरों को प्रदर्शित करने का मंच देगा. जैन ने कहा, यह स्टार्टअप और सूक्ष्म , लघु एवं मझोले उद्यम (एमएसएमई) के लिए भी मंच प्रदान करेगा.

ये भी पढ़ें: 
Loading...

अब किसान खुद कर सकेंगे 6000 रुपए पाने के लिए रजिस्ट्रेशन, बस करना होगा ये काम!
खुशखबरी! 6 करोड़ PF खाताधारकों को मिल सकता है ₹10 लाख का बीमा

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मनी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 5, 2019, 7:27 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...