पाकिस्तान के सेंट्रल बैंक की इमरान खान को चेतावनी! महंगाई की मार से और बेहाल होगा आम आदमी

अखबार डॉन के मुताबिक 7 मई को मटन 1000-950 पाकिस्तानी रुपए बिक रहा था जो अब 1100 का आंकड़ा पार कर गया है. इसी तरह का हाल ब्रेड, गेहूं, आटा, टमाटर है. इन सभी के दाम सातवें आसमान पर पहुंच गए है.

News18Hindi
Updated: May 21, 2019, 11:45 PM IST
पाकिस्तान के सेंट्रल बैंक की इमरान खान को चेतावनी! महंगाई की मार से और बेहाल होगा आम आदमी
अखबार डॉन के मुताबिक 7 मई को मटन 1000-950 पाकिस्तानी रुपए बिक रहा था जो अब 1100 का आंकड़ा पार कर गया है. इसी तरह का हाल ब्रेड, गेहूं, आटा, टमाटर है. इन सभी के दाम सातवें आसमान पर पहुंच गए है.
News18Hindi
Updated: May 21, 2019, 11:45 PM IST
देश की आर्थिक समस्याओं का असल असर पाकिस्तान की जनता पर हो रहा है. रमजान के महीने में उनपर जो गुजर रही है शायद ही कोई समझ पाए. गिरते रुपए के कारण पाकिस्तान में महंगाई बहुत बढ़ रही है. Pakistan Bureau of Statistics के मुताबिक वहां का कन्ज्यूमर प्राइज इंडेक्स 9.4 प्रतिशत हो गया है जिससे लोगों की खरीदने की क्षमता कम हो रही है. वहीं, अब पाकिस्तान के सेंट्रल बैंक (स्टेट ऑफ पाकिस्तान) ने चेतावनी देते हुए कहा है कि अगर महंगाई को नहीं रोका गया तो देश के आर्थिक हालात काबू से बाहर हो जाएंगे. आपको बता दें कि SBP ने ब्याज दरें बढ़ाकर 12.25 फीसदी कर दी है. ये कदम महंगाई को काबू करने के लिए ही उठाया गया है.

महंगाई तोड़ेगी आम आदमी की कमर-अखबार डॉन के मुताबिक, स्‍टेट बैंक ऑफ पाकिस्‍तान ने चेतावनी भरे लहजे में कहा है कि दिनों दिन कमजोर होते पाकिस्‍तान रुपये की वजह से महंगाई बढ़ रही है. भविष्‍य में महंगाई को लेकर चल रही अपेक्षाओं के कारण राजकोषीय घाटा बढ़ जाएगा. इस कारण ही पाकिस्‍तान में सामान के दाम बढ़ रहे हैं और आगे भी बढ़ सकते हैं. (ये भी पढ़ें-सिर्फ 50 हजार में शुरू करें ये बिजनेस, सरकार देगी बाकी पैसा)





पाकिस्तानी अखबार डॉन की रिपोर्ट के मुताबिक कीमतें 7 मई के बाद से ही बढ़नी शुरू हो गई थीं. डॉन की रिपोर्ट कहती है कि कीमतें 7 मई के बाद से ही बढ़नी शुरू हो गई थीं. हर सामग्री 20-50 रुपए प्रति किलो हर हफ्ते बढ़ रही है. 7 मई को मटन 1000-950 पाकिस्तानी रुपए बिक रहा था जो अब 1100 का आंकड़ा पार कर गया है. इसी तरह का हाल ब्रेड, गेहूं, आटा, टमाटर आदि का भी है.

SBP की चेतावनी- पाकिस्‍तान में अगले वित्‍त वर्ष में महंगाई अपने चरम पर होगी. वहां के शीर्ष बैंक स्‍टेट बैंक ऑफ पाकिस्‍तान (एसबीपी) ने इसे लेकर चेतावनी जारी की है. स्‍टेट बैंक ऑफ पाकिस्‍तान द्वारा जारी यह चेतावनी इंटरनेशनल मॉनेटरी फंड (आईएमएफ) की ओर से पाकिस्‍तान को मिल रहे 6 अरब डॉलर के पैकेज के दौरान जारी की गई. ऐेसे में इस पैकेज को लेकर और जटिल हालात बन सकते हैं. माना जा रहा है कि इसकी ब्‍याज दर अधिक हो जाएगी.



क्यों बढ़ रही है महंगाई- दिनों दिन डॉलर के मुकाबले कम होते पाकिस्‍तानी रुपये का ही नतीजा है कि मार्च में पाकिस्‍तान में महंगाई दर पिछले पांच साल के शीर्ष स्‍तर 9.41 फीसदी पर पहुंच गई थी. अप्रैल में यह 8.8 फीसदी दर्ज की गई. इस साल अप्रैल-जुलाई के बीच महंगाई दर 7 फीसदी पर पहुंची. पिछले साल इसी समय यह दर 3.8 फीसदी थी.
Loading...



नहीं है पाकिस्तान के पास पैसा- पाकिस्‍तान का विदेशी मुद्रा भंडार भी घटकर 8.8 अरब डॉलर पर पहुंच गया है. पाकिस्‍तान सरकार ने स्‍टेट बैंक ऑफ पाकिस्‍तान से इस वित्‍त वर्ष में अब तक 4.8 लाख करोड़ रुपये कर्ज लिया हुआ है. य‍ह पिछले साल इसी समय तक 2.4 गुना अधिक था. राजस्‍व वसूली में कमी, सुरक्षा पर अधिक धन खर्च होने और विदेशी कर्ज में अधिक ब्‍याज दर अदा करने के कारण इस वित्‍त वर्ष के पहली तीन तिमाही में राजकोषीय घाटा काफी अधिक होने का अनुमान जताया जा रहा है.
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...