पीएम किसान योजना की नई किस्त के 2000 रुपये आपके खाते में नहीं आए, तो इन नंबर्स पर करें फोन

पीएम किसान योजना की नई किस्त के 2000 रुपये आपके खाते में नहीं आए, तो इन नंबर्स पर करें फोन
पीएम किसान स्कीम के तहत सालाना 6000 रुपये देती है सरकार

लॉकडाउन के बीच केंद्र सरकार (Government of India) ने पीएम किसान (PM-KISAN) योजना के तहत 9.13 करोड़ किसानों के खातों में 18,253 करोड़ रुपये भेजे हैं. अगर आपको ये रकम नहीं मिली है तो जानिए कहां कहां इसकी शिकायत कर सकते हैं.

  • Share this:
नई दिल्ली. वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण (Finance Minister of India) ने किसानों के लिए कई बड़े ऐलान किए है. गुरुवार को वित्त मंत्री ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में बताया कि पीएम किसान (PM-KISAN) योजना के तहत 9.13 करोड़ किसानों के खातों में 18,253 करोड़ रुपये भेजे हैं. अगर आपके खाते में पैसे नहीं आए हैं तो आप इसकी शिकायत सरकार की ओर से जारी नंबर्स पर कर सकते हैं. आप अपने गांव के लेखपाल या फिर जिला कृषि अधिकारी से संपर्क कर सकते हैं.

आपको बता दें कि पीएम किसान सम्मान निधि योजना 2020 की नई सूची सरकारी वेबसाइट pmkisan.gov.in पर जांच सकते हैं. इसके अलावा अगर आपको लाभार्थी अपनी स्थिति की ऑनलाइन जांच के साथ ऑनलाइन अपना नाम जोड़ने का आवेदन भी कर सकते हैं. भारत सरकार के कृषि और किसान कल्याण मंत्रालय के अनुसार पीएम किसान सम्मान निधि लाभार्थियों की नई सूची इसी महीने अंत में या अगले महीने यानी मई में जारी कर देगा.

आइए जानें कहां करें शिकायत



(1) आप सीधे केंद्रीय कृषि मंत्रालय की ओर से जारी किए गए हेल्पलाइन नंबरों पर संपर्क कर सकते हैं. पीएम किसान हेल्पलाइन नंबर-पीएम किसान हेल्पलाइन - 155261. पीएम किसान टोल फ्री - 1800115526. पीएम किसान लैंड लाइन नंबर- 011-23381092, 23382401. इसके अलावा आप इस मेल आईडी pmkisan-ict@gov.in पर ईमेल भी कर सकते हैं.
Agriculture news in hindi, farmers helpline, modi government, Agriculture Transport Call Center, kisan, mandi rate, transport, Covid-19, Lockdown, हिंदी में कृषि समाचार, किसान हेल्पलाइन, मोदी सरकार, कृषि परिवहन कॉल सेंटर, किसान, मंडी रेट, परिवहन, कोविड-19, लॉकडाउन
किसानों और ट्रांसपोर्टरों की समस्या के समाधान के लिए कॉल सेंटर


(2) अगर आपने इस योजना को फायदा लेने के लिए आवेदन किया है और अब अपना नाम लाभार्थियों की सूची में देखना चाहते हैं तो आपके लिए सरकार ने अब यह सुविधा ऑनलाइन भी मुहैया करा दी है.

(3) पीएम किसान सम्मान निधि योजना 2020 की नई सूची को सरकारी वेबसाइट pmkisan.gov.in पर चेक कर सकते हैं.

(4) किसानों को इसके लिए pmkisan.gov.in बेवसाइट को लॉग इन करना होगा. इसमें दिये गए फार्मर कार्नर वाले टैब में क्लिक करना होगा. इस टैब में किसानों को खुद को पीएम किसान योजना में पंजीकृत करने का विकल्प दिया गया है. अगर आपने पहले आवेदन किया है और आपका आधार ठीक से अपलोड नहीं हुआ है या किसी वजह से आधार नंबर गलत दर्ज हो गया है तो भी इसकी जानकारी भी इसमें मिल जाएगी.

(5) जिन किसानों को इस योजना का लाभ सरकार की तरफ से दिया गया है उनके भी नाम राज्य/जिलेवार/तहसील/गांव के हिसाब से देखे जा सकते हैं. इसमें सरकार ने सभी लाभार्थियों की पूरी सूची अपलोड कर दी है. इतना ही नहीं आपके आवेदन की स्थिति क्या है .

(6) इसकी जानकारी किसान आधार संख्या/ बैंक खाता/ मोबाइल नंबर के जरिये भी मालूम कर सकते हैं. इसके अलावा पीएम किसान योजना के बारे में खुद को अपडेट रखना चाहते हैं तो इसका लिंक भी दिया गया है. इस लिंक के जरिये आप गूगल प्ले स्टोर में जाकर पीएम किसान मोबाइल एप डाउनलोड कर सकते हैं.

Farmers, kisan, ministry of agriculture, sompal shastri, National Commission on Farmers, Government of India, Swaminathan Report, MSP-Minimum Support Prices, msp of crop, CACP-Commission for Agricultural Costs and Prices, न्यूनतम समर्थन मूल्य, सोमपाल शास्त्री, कृषि क्षेत्र में आय, राष्ट्रीय किसान आयोग, भारत सरकार, स्वामीनाथन आयोग की रिपोर्ट, कृषि मंत्रालय, फसल का मूल्य, कृषि लागत और मूल्य आयोग
एमएसपी के बारे में जानिए


किसान होने पर भी किसे नहीं मिलेगा इस स्कीम का फायदा
मोदी सरकार ने सभी किसानों के लिए पीएम-किसान स्कीम लागू कर भले ही कर दी है लेकिन कुछ लोगों के लिए तो शर्तें लगाई ही गईं हैं. जिन लोगों के लिए कंडीशन लागू है वो यदि गलत तरीके से फायदा उठा रहे हैं तो आधार वेरीफिकेशन (Aadhar verification) में पता चल जाएगा. सभी 14.5 करोड़ किसान परिवार इसके लिए पात्र हैं. पति-पत्नी और 18 वर्ष तक की उम्र के बच्चों को एक इकाई माना जाएगा. जिन लोगों के नाम 1 फरवरी 2019 तक लैंड रिकॉर्ड में पाया जाएगा वही इसके हकदार होंगे.

एमपी, एमएलए, मंत्री और मेयर को भी लाभ नहीं दिया जाएगा, भले ही वो किसानी भी करते हों. यदि इन्होंने आवेदन किया है तो पैसा नहीं आएगा. मल्टी टास्किंग स्टाफ/चतुर्थ श्रेणी/समूह डी कर्मचारियों को छोड़कर केंद्र या राज्य सरकार में किसी भी अधिकारी या कर्मचारी को लाभ नहीं मिलेगा. यदि ऐसे लोगों ने लाभ लिया तो आधार अपने आप बता देगा.

पेशेवर, डॉक्टर, इंजीनियर, सीए, वकील, आर्किटेक्ट, जो कहीं खेती भी करता हो उसे लाभ नहीं मिलेगा.इनकम टैक्स देने वालों और 10 हजार से अधिक पेंशन पाने वाले किसानों को भी लाभ से वंचित रखने का प्रावधान है. यदि किसी आयकर देने वाले ने स्कीम की दो किश्त ले भी ली है तो वो तीसरी बार में पकड़ा जाएगा. क्योंकि आधार वेरीफिकेशन हो रहा है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading