Pm Kisan योजना के दो साल पूरे होने पर प्रधानमंत्री ने कही ये बात, किसानों को होगा बड़ा फायदा

PM Kisan योजना के तहत  होली से पहले आ सकती आठवीं क़िस्त

PM Kisan योजना के तहत होली से पहले आ सकती आठवीं क़िस्त

Pm Kisan: पीएम किसान योजना को आज दो साल पूरे हो गए हैं. इस योजना में सरकार देश के किसानों को आर्थिक सहायता पहुंचाती है. इसके साथ ही किसानों की आय को दोगुनी करने के लिए भी सरकार की ओर से हर संभव प्रयास किए जा रहे हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 24, 2021, 2:01 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली: Pm Kisan: पीएम किसान योजना को आज दो साल पूरे हो गए हैं. इस योजना में सरकार देश के किसानों को आर्थिक सहायता पहुंचाती है. इसके साथ ही किसानों की आय को दोगुनी करने के लिए भी सरकार की ओर से हर संभव प्रयास किए जा रहे हैं. पीएम मोदी (Pm Modi) ने योजना के दो साल पूरे होने पर ट्वीट करके सभी को बधाई दी है. इसके साथ ही उन्होंने कहा कि इस योजना देश के करोड़ों लोगों के जीवन में बदलाव देखने को मिले हैं, जिससे हमें प्रेरणा मिल रही है.

पीएम मोदी ने आगे लिखा कि देश के अन्नदाताओं के जीवन को आसान बनाने और आय को दोगुनी करने के लिए हम सभी प्रयास कर रहे हैं. इसके सथ ही कहा कि सरकार न्यनतम समर्थन मूल्य(MSP) बढ़ाने पर भी जोर दिया जा रहा है.



पीएम मोदी ने किया ट्वीट
इसके अलावा उन्होंने एक और दूसरे ट्वीट में कहा कि आज के ही दिन दो साल पहले इस योजना की शुरुआत की गई थी. अन्नदाताओं के कल्याण को समर्पित इस योजना से करोड़ों किसान भाई-बहनों के जीवन में जो बदलाव आए हैं, उससे हमें उनके लिए और अधिक काम करने की प्रेरणा मिली है.

पिछले 7 सालों में किसानों के लिए की कई पहल

पीएम मोदी ने एक और ट्वीट में कहा कि पिछले 7 सालों में केंद्र सरकार ने कृषि को बदलने के लिए कई पहल की हैं. किसानों के लिए सिंचाई से लेकर अधिक प्रौद्योगिकी, अधिक ऋण और बाजार से लेकर उचित फसल बीमा तक, मृदा स्वास्थ्य पर ध्यान केंद्रित करने से बिचौलियों को समाप्त करने के लिए, प्रयास सभी शामिल हैं.



क्या है ये योजना?

आपको बता दें प्रधानमंत्री मोदी ने 25 दिसंबर को पीएम किसान सम्मान निधि की 7वीं किस्त जारी की थी. इस योजना की शुरुआत 2019 में आज ही के दिन हुई थी. इसके तहत सरकार किसानों के बैंक खातों में हर साल 6000 रुपए जमा करती है. सरकार यह राशि दो-दो हजार रुपए के 3 बराबर किस्तों में सीधे किसानों के खाते में डालती है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज