प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि स्कीम: 11 करोड़ किसानों के बैंक अकाउंट में पहुंचे 93,000 करोड़ रुपये

पीएम किसान स्कीम के बारे में जानिए
पीएम किसान स्कीम के बारे में जानिए

पीएम किसान सम्मान निधि स्कीम: किसानों को दी गई 93,000 करोड़ रुपये की डायरेक्ट मदद, न मिल रहा हो पैसा तो इस नंबर पर करें फोन

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 22, 2020, 4:40 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. मोदी सरकार ने खेती करने में मदद के लिए देश के 11 करोड़ किसानों के बैंक अकाउंट में 93 हजार करोड़ रुपये भेज दिए हैं. आजादी के बाद पहली बार किसी सरकार ने इतनी बड़ी रकम सीधे किसानों के हाथ में दी है. यह संभव हुआ है प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि स्कीम (Pradhan Mantri Kisan Samman Nidhi Scheme) से, जिसे दिसंबर 2018 में पीएम नरेंद्र मोदी ने शुरू किया था. केंद्रीय कृषि मंत्रालय के सूत्रों का कहना है कि इस साल नवंबर तक कुल सहायता रकम बढ़कर एक लाख करोड़ रुपये से अधिक हो जाएगी. क्योंकि पैसा भेजने का काम जारी है. खास बात यह है कि कोई किसान कभी भी इसमें रजिस्ट्रेशन करवा कर लाभ लेना शुरू कर सकता है. इसके तहत सालाना 6000 रुपये की मदद दी जाती है.

पिछले लगभग डेढ़ महीने में ही 8.80 करोड़ लोगों को 2-2 हजार रुपये भेजे गए हैं. कोरोना संक्रमण (Corona) के समय भी इस स्कीम की रकम किसानों (Farmers) को उबारने के लिए बहुत काम आई है. सारा पैसा डायरेक्ट बेनिफट ट्रांसफर (DBT) के माध्यम से भेजा जा रहा है, ताकि इस पर भ्रष्ट नेताओं और नौकरशाहों की नजर न पड़े. पैसा देश के सभी 14.5 करोड़ किसान परिवारों को दिया जाना है लेकिन इस स्कीम के तहत सभी का वेरीफिकेशन नहीं हो पाया है. मोदी सरकार ने यह योजना इसलिए चलाई है ताकि किसानों की आय बढ़ सके. उन पर दबाव कम हो.

Pradhan Mantri Kisan Samman Nidhi Scheme, प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि स्कीम, PM-Kisan, पीएम-किसान, aadhaar card, आधार कार्ड, ministry of agriculture, कृषि मंत्रालय, KISAN Help Desk, किसान हेल्प डेस्क, डायरेक्ट बेनिफिट ट्रांसफर, DBT, बैंक अकाउंट, bank account
इस स्कीम में किसानों को डायरेक्ट पैसा मिलता है




इसे भी पढ़ें: किसान आंदोलन रिटर्न: कौन काटेगा कृषि कानूनों की चुनावी फसल?
इस तरह ज्यादा लोगों को मिल सकता है फायदा

पीएम किसान सम्मान निधि स्कीम के तहत परिवार की परिभाषा में पति-पत्नी और नाबालिग बच्चे हैं. जिस भी बालिग व्यक्ति का नाम रेवेन्यू रिकॉर्ड (Revenue Record) में दर्ज है वो इसका अलग से इसका फायदा ले सकता है. इसका अर्थ यह है कि एक ही खेती योग्य जमीन (Agriculture Land) के भूलेख पत्र में अगर एक से ज्यादा व्यस्क सदस्य के नाम दर्ज हैं तो योजना के तहत हर व्यस्क सदस्य अलग से लाभ के लिए पात्र हो सकता है. भले ही वो संयुक्त परिवार में ही क्यों न रह रहा हो. इसके लिए रेवेन्यू रिकॉर्ड के अलावा आधार कार्ड (Aadhaar Card) और बैंक अकाउंट नंबर (Bank Account) की जरूरत पड़ेगी.

इस तरह खुद करें अप्लाई

स्कीम के तहत आप घर बैठे ऑनलाइन आवेदन (Registration) कर सकते हैं. आवेदन की स्थिति जानना चाह रहे हैं या उसमें कोई बदलाव करना चाह रहे हैं तो वह भी कर सकते हैं, वह भी बस क्लिक में.

इसके लिए सबसे पहले आपको www.pmkisan.gov.in की बेवसाइट पर जाना होगा. वेबसाइट के पहले पेज पर ही दाएं साइड में बडे़ अक्षरों में फार्मर कॉर्नर लिखा है. अगर आप देखना चाह रहे हैं कि आपका नाम लिस्ट में है कि नहीं तो आपको लाभार्थी सूची/Beneficiary list पर क्लिक करना है. इसके बाद आप राज्य, जिला, उप-जिला, ब्लॉक और गांव का नाम भरकर अपना नाम देख सकते हैं.

Pradhan Mantri Kisan Samman Nidhi Scheme, प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि स्कीम, PM-Kisan, पीएम-किसान, aadhaar card, आधार कार्ड, ministry of agriculture, कृषि मंत्रालय, KISAN Help Desk, किसान हेल्प डेस्क, डायरेक्ट बेनिफिट ट्रांसफर, DBT, बैंक अकाउंट, bank account
पीएम मोदी ने शुरू करवाई है सम्मान निधि स्कीम


इसे भी पढ़ें: पूर्वांचल में 19 साल पहले से हो रही है कांट्रैक्ट फार्मिंग के मॉडल पर खेती

अगर आपने योजना के लिए अप्लाई कर दिया है और उसकी स्थिति के बारे में जानने चाहते हैं तो Beneficiary status पर क्लिक करना होगा. इसके बाद आप आधार नंबर, बैंक अकाउंट नंबर या फिर मोबाइल नंबर डालकर वर्तमान स्थिति पता कर सकते हैं. आप अपने आवेदन की स्थिति PM-KISAN की हेल्पलाइन नंबर 011-24300606 पर कॉल करके भी जान सकते हैं. इस नंबर पर फोन करके आप यह भी पता कर सकते हैं कि आखिर आवेदन के बाद भी पैसा क्यों नहीं मिल पा रहा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज