लाइव टीवी

किसानों के लिए जरूरी खबर! बैंक खाते और आधार की ये गलती पड़ेंगी भारी, नहीं मिलेंगे 6000 रुपये

ओम प्रकाश | News18Hindi
Updated: December 25, 2019, 11:49 AM IST
किसानों के लिए जरूरी खबर! बैंक खाते और आधार की ये गलती पड़ेंगी भारी, नहीं मिलेंगे 6000 रुपये
आठ राज्यों के 1.19 लाख किसानों से वापस लिया गया पैसा!

बैंक अकाउंट (Bank Account) और खेत मालिक के नाम के बीच अंतर पाया गया तो किसानों की मुश्किलों की बढ़ सकती है. वहीं, बैंक खाते और आधार में भी अगर किसान का नाम की स्पैलिंग एक जैसी नहीं है तो उन्हें पीएम किसान सम्मान योजना के तहत 6000 रुपये नहीं मिलेंगे.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 25, 2019, 11:49 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. किसानों के लिए यह बहुत काम की खबर है. पीएम-किसान सम्मान निधि स्कीम (PM-Kisan Samman Nidhi Scheme) के तहत सालाना 6000 रुपये का लाभ लेने के लिए कुछ लोग गड़गड़ी करने लगे हैं. ऐसे लोग सावधान हो जाएं. मोदी सरकार उन लोगों पर सख्त हो गई है जिन्होंने ऐसा किया है. सरकार ने आठ राज्यों के ऐसे 1,19,743 लोगों से हाल ही में पैसा वापस ले लिया है. लाभार्थियों के नामों एवं उनके बैंक खातों के दिए गए रिकॉर्ड मेल नहीं खा रहे थे. कृषि मंत्रालय के सूत्रों का कहना है कि इन अकाउंट्स में बिना वेरीफिकेशन पैसा जमा हो गया था. मतलब, बैंक अकाउंट (Bank Account) और खेत मालिक के नाम के बीच अंतर पाया गया. ऐसे में बैंक अकाउंट और आधार में किसान का नाम एक होना चाहिए वरना परेशानी खड़ी हो सकती है.

इस स्कीम का पैसा केंद्र सरकार के खाते से किसानों के बैंक अकाउंट में सीधे नहीं जा रहा. केंद्र सरकार राज्यों के अकाउंट में पैसा भेजती है फिर उस अकाउंट से किसानों तक पैसा पहुंचता है. सूत्रों का कहना है कि वेरीफिकेशन करने से पहले ही ऐसे 1.19 लाख बैंक अकाउंट 2000 रुपये की किश्त जमा हो गई थी. लेकिन जब डाटा का वेरीफिकेशन शुरू हुआ तो गलती पकड़ में आने लगी. सरकार की कोशिश है कि स्कीम का पैसा सही किसानों तक पहुंचे. यह बात अच्छी तरह से समझ लीजिए, अगर आप किसान नहीं हैं और सेटिंग करके गलत तरीके से इस स्कीम का फायदा उठा रहे हैं तो हर हाल में पैसे वापस करने होंगे.

Pradhan Mantri Kisan Samman Nidhi yojana eligibility, farmer, bank, aadhaar card, Ministry of Agriculture, Modi government, प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना की शर्तें, किसान, बैंक, आधार कार्ड, कृषि मंत्रालय, मोदी सरकार, FAQs of PM-Kisan scheme, प्रधानमंत्री किसान योजना के अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न, beneficiary list of PM-Kisan, पीएम किसान निधि के लाभार्थियों की सूची
एक दिसंबर 2019 को पूरा हुआ स्कीम का एक साल


गड़बड़ी पर ऐसे वापस लिया जाता है पैसा

केंद्रीय कृषि मंत्रालय (Ministry of Agriculture) ने राज्यों को एक पत्र लिखकर पहले ही कह दिया था कि अगर अपात्र लोगों को लाभ मिलने की सूचना मिलती है तो उनका पैसा कैसे वापस होगा. न्यूज18 हिंदी से बातचीत में योजना के सीईओ विवेक अग्रवाल ने कहा था कि इतनी बड़ी योजना है तो गड़बड़ी की संभावना बनी ही रहती है. अगर अपात्र लोगों के खातों में पैसा ट्रांसफर हुआ तो उसे डायरेक्ट बेनिफिट ट्रांसफर (डीबीटी) से वापस लिया जाएगा. बैंक इस पैसे को अलग अकाउंट में डालेंगे और राज्य सरकार को वापस करेंगे. राज्य सरकारें अपात्रों से पैसे वापस लेकर https://bharatkosh.gov.in/ में जमा कराएंगी. अगली किश्त जारी होने से पहले ऐसे लोगों का नाम हटाया जाएगा.

किसे मिलेगा और किसे नहीं मिलेगा लाभ?

मोदी सरकार ने सभी किसानों के लिए पीएम-किसान स्कीम लागू कर भले ही कर दी है लेकिन कुछ लोगों के लिए तो शर्तें लगाई ही गईं हैं. जिन लोगों के लिए कंडीशन लागू है वो यदि गलत तरीके से फायदा उठा रहे हैं तो आधार वेरीफिकेशन (Aadhar verification) में पता चल जाएगा.>>सभी 14.5 करोड़ किसान परिवार इसके लिए पात्र हैं. पति-पत्नी और 18 वर्ष तक की उम्र के बच्चों को एक इकाई माना जाएगा. जिन लोगों के नाम 1 फरवरी 2019 तक लैंड रिकॉर्ड में पाया जाएगा वही इसके हकदार होंगे.

>> एमपी, एमएलए, मंत्री और मेयर को भी लाभ नहीं दिया जाएगा, भले ही वो किसानी भी करते हों. यदि इन्होंने आवेदन किया है तो पैसा नहीं आएगा.

>> मल्टी टास्किंग स्टाफ/चतुर्थ श्रेणी/समूह डी कर्मचारियों को छोड़कर केंद्र या राज्य सरकार में किसी भी अधिकारी या कर्मचारी को लाभ नहीं मिलेगा. यदि ऐसे लोगों ने लाभ लिया तो आधार अपने आप बता देगा.

>> पेशेवर, डॉक्टर, इंजीनियर, सीए, वकील, आर्किटेक्ट, जो कहीं खेती भी करता हो उसे लाभ नहीं मिलेगा.

>>इनकम टैक्स देने वालों और 10 हजार से अधिक पेंशन पाने वाले किसानों को भी लाभ से वंचित रखने का प्रावधान है. यदि किसी आयकर देने वाले ने स्कीम की दो किश्त ले भी ली है तो वो तीसरी बार में पकड़ा जाएगा. क्योंकि आधार वेरीफिकेशन हो रहा है.

 Pradhan Mantri Kisan Samman Nidhi yojana eligibility, farmer, bank, aadhaar card, Ministry of Agriculture, Modi government, प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना की शर्तें, किसान, बैंक, आधार कार्ड, कृषि मंत्रालय, मोदी सरकार, FAQs of PM-Kisan scheme, प्रधानमंत्री किसान योजना के अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न, beneficiary list of PM-Kisan, पीएम किसान निधि के लाभार्थियों की सूची
सरकार की कोशिश है कि स्कीम का पैसा सही किसानों तक पहुंचे


खेती-किसानी के लिए अहम योजना

खेती-किसानी के विकास के लिए बनाई गई यह सबसे अहम योजना है. मोदी सरकार ने अपने पहले कार्यकाल में 24 फरवरी 2019 को गोरखपुर-यूपी से इसकी औपचारिक शुरुआत की थी. इसके तहत अब चौथी किश्त (दूसरे चरण की पहली किश्त) भी जानी शुरू हो गई है. देश के 2,73,00277 किसानों के बैंक अकाउंट में चौथी किश्त भी पहुंच गई. जबकि अब तक इस स्कीम से 8,46,14,987 किसानों को फायदा मिल चुका है.

ये भी पढ़ें. ये भी पढ़ें:

किसानों को मिलेंगी खेती से मालामाल होने की जानकारियां, बड़े काम का है मोदी सरकार का ये नया ऐप!

मोदी सरकार की E-NAM योजना से जुड़े 1.65 करोड़ किसान, आप भी घर बैठे 585 मंडियों में बेच सकते हैं अपना सामान

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए Mumbai से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 25, 2019, 8:22 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर