लाइव टीवी

पीएम किसान सम्मान निधि स्कीम: एक साल पूरा, 10 करोड़ से अधिक किसानों तक नहीं पहुंची अंतिम किश्त

ओम प्रकाश | News18Hindi
Updated: December 9, 2019, 11:52 AM IST
पीएम किसान सम्मान निधि स्कीम: एक साल पूरा, 10 करोड़ से अधिक किसानों तक नहीं पहुंची अंतिम किश्त
10 करोड़ से अधिक किसानों तक नहीं पहुंची अंतिम किश्त

PM-Kisan Samman Nidhi Scheme: प्रधान मंत्री किसान सम्मान निधि स्कीम के एक साल पूरे हो गए, 1 दिसंबर को देश के सभी 14.5 करोड़ किसानों तक पहुंच जाने चाहिए थे 6-6 हजार रुपए, लेकिन अब तक तीसरी किश्त सिर्फ 3.86 करोड़ किसानों तक ही पहुंची है, आखिर कहां हुई चूक? 87 हजार करोड़ में से सिर्फ 35 हजार करोड़ ही किसानों तक पहुंचे. आखिर कौन है ज़िम्मेदार?

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 9, 2019, 11:52 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) किसानों को लेकर काफी संजीदा हैं लेकिन अधिकारियों की लापरवाही से उनके मिशन किसान पर ब्रेक लग रहा है. पीएम किसान सम्मान निधि स्कीम को साल भर पूरे हो गए लेकिन अब तक सभी किसानों तक इसका लाभ नहीं पहुंच सका है.

बयानबाजी से अलग है जमीनी हकीकत
मत्रियों और अधिकारियों की बयानबाजियों से इतर जमीनी हालात ये है कि किसानों तक पैसा पहुंच ही नहीं रहा. इस स्कीम के तहत देश के 14.5 करोड़ किसानों को करीब 87 हजार करोड़ रुपए भेजे जाने थे, लेकिन अब तक सिर्फ 35 हजार करोड़ ही पहुंचे हैं. जो 50 किसानों के बैंक अकाउंट तक पहुंचना था वह अभी सरकार के बैंक अकाउंट में पड़ा हुआ है. वजह ये है कि जिन अधिकारियों पर किसानों के कल्याण का जिम्मा है वे ही उनके दुश्मन बन गए हैं. उनकी न लेखपाल सुनता है न कानूनगो और पटवारी. इनके बिना लाभ नहीं मिल सकता.

ये भी पढ़ें: बीते 10 साल में रेलवे की हालत हुई बेहद ख़राब, 100 कमाने के लिए 98 खर्च कर रही है: कैग रिपोर्ट

कम ही किसानों को मिली पूरी किश्त
इस स्कीम के तहत 2000 रुपए की पहली किश्त 1 दिसंबर 2018 से 31 मार्च 2019 के बीच किसानों को भेजी जानी थी. जबकि अंतिम और तीसरी किश्त 30 नवंबर 2019 तक पहुंच जानी चाहिए थी. लेकिन 1 दिसंबर 2019 तक अंतिम किश्त सिर्फ 3.86 करोड़ किसानों तक ही पहुंची है. यानी 10.64 करोड़ किसानों को अब भी इसका इंतजार है. 1 दिसंबर तक स्कीम की पहली किश्त 7.62 करोड़ और दूसरी 6.49 करोड़ किसानों तक ही पहुंची है. केंद्रीय कृषि राज्य मंत्री कैलाश चौधरी का कहना है कि जैसे-जैसे राज्यों से लिस्ट आ रही है उसके हिसाब से स्कीम का पैसा जा रहा है.

सरकार ने क्या किया?केंद्र सरकार ने इस स्कीम में किसानों का आधार लिंक करवाने में 30 नवंबर तक की छूट दी थी. इससे लाभ लेने वालों की संख्या पहले से बढ़ी है.

ये भी पढ़ें: खुशखबरी! अगले साल दुनियाभर में सबसे अधिक मिलेगी भारतीयों को सैलरी

चौधरी के मुताबिक इस योजना में रजिस्ट्रेशन करवाने के लिए अब किसानों को अधिकारियों के पास नहीं जाना पड़ेगा. कोई भी इसके पोर्टल पर जाकर खुद ही अपना रजिस्ट्रेशन कर सकता है.

पीएम किसान पोर्टल पर जाकर कोई भी किसान भाई अपना आधार, मोबाइल और बैंक खाता नंबर दर्ज करके इसके स्टेटस की जानकारी ले सकता है.

ये भी पढ़ें:  वित्त मंत्री ने कहा- हमारे यहां कोई दामाद या जीजा नहीं, जानिए लोकसभा में उनके भाषण से जुड़ी 5 बड़ी बातें

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मनी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 3, 2019, 6:05 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर