लाइव टीवी

किसानों को पद्मश्री, पीएम-किसान सम्मान निधि स्कीम और पेंशन योजना के लिए याद किया जाएगा 2019

ओम प्रकाश | News18Hindi
Updated: December 31, 2019, 6:04 PM IST
किसानों को पद्मश्री, पीएम-किसान सम्मान निधि स्कीम और पेंशन योजना के लिए याद किया जाएगा 2019
PM किसान सम्मान निधि रहेगी जारी

पहली बार 2019 में किसानों को मिला पद्म पुरस्कार, किसानों के बैंक खातों में सीधे भेजा गया पैसा, अन्नदाताओं के लिए शुरू की गई पेंशन, 2020 में भी अन्नदाताओं के लिए आएंगी कई स्कीम.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 31, 2019, 6:04 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. मोदी सरकार ने 2019 में किसानों के लिए तीन ऐसे अहम निर्णय लिए जो उनके मान-सम्मान और खेती के हित से जुड़े हुए हैं. आजादी के बाद पहली बार 2019 में किसानों को पद्म सम्मान के काबिल समझा गया. पहली बार विशुद्ध किसान पद्मश्री लेने राष्ट्रपति भवन पहुंचा. खेती-किसानी करने वाले 11 लोगों को देश का चौथा बड़ा नागरिक सम्मान देने का फैसला लिया गया. आजादी के बाद पहली बार किसी सरकार ने किसानों के बैंक खातों में सीधे पैसा भेजने की शुरुआत की. इसकी शुरुआत औपचारिक तौर पर 24 फरवरी 2019 को यूपी के गोरखपुर से पीएम नरेंद्र मोदी ने की.

ऐसा इसलिए किया गया ताकि किसानों को भेजी जाने वाली रकम में भ्रष्टाचार का दीमक न लगे. उसे अधिकारी और नेता सफाचट न कर जाएं. देश के सभी किसान परिवारों को प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि (Pradhan Mantri kisan Samman Nidhi Scheme) के तहत खेती करने के लिए 6000-6000 रुपये सीधे उनके बैंक खाते में भेजे जा रहे हैं. इस स्कीम पर एक साल में 87,217.50 करोड़ रुपये खर्च होंगे. अब तक 8.54 करोड़ किसानों को के बैंक अकाउंट में पैसा भेजा जा चुका है.

Pradhan Mantri Kisan Samman Nidhi yojana eligibility, farmer, bank, aadhaar card, Ministry of Agriculture, Modi government, प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना की शर्तें, किसान, बैंक, आधार कार्ड, कृषि मंत्रालय, मोदी सरकार, FAQs of PM-Kisan scheme, प्रधानमंत्री किसान योजना के अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न, beneficiary list of PM-Kisan, पीएम किसान निधि के लाभार्थियों की सूची
24 फरवरी को गोरखपुर में लॉंच हुई थी किसान सम्मान निधि स्कीम


किसान पेंशन यानी मानधन योजना

>>अब तक कर्मचारियों को पेंशन मिलती थी. लेकिन देश के अन्नदाताओं के बुढ़ापे के लिए कोई स्कीम नहीं थी. मोदी सरकार ने 12 सितंबर 2019 को झारखंड से देश भर में मानधन योजना की शुरुआत की. जिसके तहत अब किसान 60 की उम्र पूरी होने के बाद हर माह 3 हजार रुपये पेंशन पाएगा. सरकार तीन वर्ष में अपने अंशदान के रूप में 10,774 करोड़ रुपये खर्च करेगी.

किसानों के लिए ऐप की शुरुआत
>>केंद्र सरकार ने खेती-किसानी को आसान बनाने और किसानों की आमदनी बढ़ाने के लिए कृषि किसान ऐप (Krishi Kisan App) लॉन्च किया. जिससे वो घर बैठे ऐसी जानकारियां ले पाएंगे जो उन्हें अब तक कृषि अधिकारी के पास भी नहीं होती था. जो स्कीमें फाइलों में ही दम तोड़ देती थीं, उसकी जानकारी सीधे मोबाइल पर पहुंचेगी.
PM-Kisan Samman Nidhi Scheme, pm kisan mandhan yojana-pension scheme, CHC Farm Machinery app, Padma Shri award to farmers, modi government, ministry of agriculture, प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि स्कीम, किसान मानधन पेंशन योजना, सीएचसी फार्म मशीनरी ऐप, किसानों को पद्मश्री अवार्ड, मोदी सरकार, कृषि मंत्रालय
सबसे पहले 2013 में किसानों को पद्म सम्मान देने की मांग उठी थी. इस संबंध में RTI से सूचना मांगी गई थी.


ओला, उबर की तरह कृषि उपकरण मिलेंगे
>>कृषि मंत्रालय ने इसी साल सितंबर में एक ऐसे ऐप (CHC Farm Machinery) की शुरुआत की जिसकी मदद से किसान उसी तरह से कृषि उपकरण मंगवा सकते हैं जैसे अभी हम ओला और उबर के ऐप से गाड़ियां मंगवाते हैं. इसमें किसान अपने खेत के 50 किलोमीटर दायरे में उपलब्ध खेती के उपकरण को किराये पर ले सकेंगे. ये ऐप 12 भाषाओं में उपलब्ध है.

केंद्रीय कृषि राज्यमंत्री कैलाश चौधरी ने न्यूज18 हिंदी से बातचीत में कहा कि 2019 की तरह ही 2020 में भी किसानों के कल्याण के लिए कुछ नई स्कीमें लॉंच की जाएंगी. सरकार लगातार किसानों पर फोकस कर रही है ताकि उनकी आय बढ़े.



ये भी पढ़ें:  देखते भारत के किसानों को बर्बाद कर देता है ये पाकिस्तानी दुश्मन!

आप भी लीजिए मोदी सरकार की इस स्कीम का फायदा, देना पड़ेगा सिर्फ 20%, जानिए इसके बारे में सबकुछ!

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मनी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 31, 2019, 4:23 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर