होम /न्यूज /व्यवसाय /भारत-नेपाल के बीच पहली बड़ी लाइन वाली रेलवे सर्विस शुरू, PM मोदी और शेर बहादुर देउबा ने दिखाई हरी झंडी

भारत-नेपाल के बीच पहली बड़ी लाइन वाली रेलवे सर्विस शुरू, PM मोदी और शेर बहादुर देउबा ने दिखाई हरी झंडी

पीएम मोदी और शेर बहादुर देउबा (फोटो-twitter.com/narendramodi/status/1510217755236380676/photo/3)

पीएम मोदी और शेर बहादुर देउबा (फोटो-twitter.com/narendramodi/status/1510217755236380676/photo/3)

Indian Railways News: जयनगर-कुर्था खंड 35 किलोमीटर लंबा है और इसका तीन किलोमीटर हिस्सा बिहार और शेष नेपाल में स्थित है.

नई दिल्ली. भारत और नेपाल के बीच रेल संपर्क को बढ़ावा देने के लिए एक ऐतिहासिक कदम के तहत प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) और उनके नेपाली समकक्ष शेर बहादुर देउबा (Sher Bahadur Deuba) ने शनिवार को बिहार के जयनगर को नेपाल के कुर्था क्षेत्र से जोड़ने वाली पहली बड़ी लाइन वाली यात्री रेलवे सेवा का उद्घाटन किया.

दोनों प्रधानमंत्रियों ने व्यापार, निवेश और संपर्क सहित कई प्रमुख क्षेत्रों में सहयोग बढ़ाने पर केंद्रित व्यापक वार्ता के बाद इस रेल सेवा को ऑनलाइन तरीके से हरी झंडी दिखाई. जयनगर-कुर्था खंड जयनगर-बिजलपुरा-बरदीबास रेल संपर्क का हिस्सा है और इस परियोजना को भारत से 548 करोड़ रुपये की अनुदान सहायता के जरिए लागू किया जा रहा है


जुलाई 2021 में पांचवीं बार प्रधानमंत्री बनने के बाद देउबा अपनी पहली द्विपक्षीय विदेश यात्रा पर शुक्रवार को नई दिल्ली पहुंचे. प्रधानमंत्री मोदी ने मीडिया को दिए अपने बयान में कहा, ‘‘जयनगर-कुर्था रेल लाइन की शुरूआत इसी परियोजना का एक हिस्सा है। इस तरह की परियोजनाएं दोनों देशों के बीच सुगम, परेशानी मुक्त यात्रा में मदद करेगी.’’

35 किलोमीटर लंबा है जयनगर-कुर्था खंड
मोदी और देउबा के बीच बातचीत के बाद, दोनों पक्षों ने रेलवे क्षेत्र में तकनीकी सहयोग बढ़ाने पर भी एक समझौता किया. जयनगर-कुर्था खंड 35 किलोमीटर लंबा है और इसका तीन किलोमीटर हिस्सा बिहार और शेष नेपाल में स्थित है. इस खंड पर भारत में जयनगर, इनरवा (सीमा स्टेशन), खजूरी, महिनाथपुर, बैदेही, परवाहा, जनकपुर और कुर्था नामक आठ स्टेशन शामिल हैं.

ये भी पढ़ें- Opinion: कोरोना महामारी के दौरान पीएम मोदी ने जान और जहान दोनों को इस तरह बचाया

अधिकारियों ने कहा कि शुरुआत में लगभग 1,000 यात्रियों की क्षमता वाली एक रेल को 40 किमी प्रति घंटे की औसत गति से चलाने का प्रस्ताव है और जनकपुर / कुर्था तक पहुंचने में एक घंटे का समय लगेगा. नेपाल रेलवे कंपनी (एनआरसी) द्वारा कोंकण रेलवे कॉर्पोरेशन लिमिटेड और आईआरसीओएन या ‘इंडियन रेलवे कंस्ट्रक्शन लिमिटेड’ की सहायता से किया जाएगा.

Tags: Indian Railways, Narendra modi, PM Modi

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें