Home /News /business /

PM Modi Inaugurates Infinity Forum: पीएम मोदी ने कहा- फिनटेक को अब क्रांति में बदलने का आ गया है समय

PM Modi Inaugurates Infinity Forum: पीएम मोदी ने कहा- फिनटेक को अब क्रांति में बदलने का आ गया है समय

PM Modi ने Fintech आधारित इनफिनिटी-फोरम (Infinity Forum) का उद्घाटन किया.

PM Modi ने Fintech आधारित इनफिनिटी-फोरम (Infinity Forum) का उद्घाटन किया.

PM Modi Inaugurates Infinity Forum: इनफिनिटी फोरम फिन-टेक पर आधारित मंच है. इसका मकसद दुनियाभर की बिजनेस और टेक्नोलॉजी की प्रतिभाओं को एक मंच पर लाना है. Infinity Forum का आयोजन भारत सरकार के तत्वावधान में अंतरराष्ट्रीय वित्तीय सेवा केंद्र प्राधिकरण (IFSCA) कर रहा है.

अधिक पढ़ें ...

    Infinity Forum News: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये वित्तीय प्रौद्योगिकी (Fintech) पर इनफिनिटी-फोरम (PM Modi Inaugurates Infinity Forum) का उद्घाटन किया. इस फोरम में रिलायंस इंडस्‍ट्रीज लिमिटेड के चेयरमैन व प्रबंध निदेशक मुकेश अंबानी (RIL CMD Mukesh Ambani) सहित उद्योग जगत की कई प्रमुख हस्तियां शामिल हो रही हैं. फोरम का मकसद दुनियाभर की बिजनेस और टेक्नोलॉजी की प्रतिभाओं को एक मंच पर लाना है.

    इनफिनिटी फोरम का आयोजन भारत सरकार के तत्वावधान में अंतरराष्ट्रीय वित्तीय सेवा केंद्र प्राधिकरण (IFSCA) कर रहा है. गुजरात इंटरनेशनल फाइनेंस टेक-सिटी (GIFT City) और ब्लूमबर्ग आयोजन में सहयोग कर रहे हैं. दो दिन के इस आयोजन में 70 से अधिक देशों के प्रतिनिधि शिरकत कर रहे हैं.

    InFinity Forum के मुख्य वक्ताओं में मलेशिया के वित्तमंत्री तेंगकू ज़फरुल-अज़ीज, इंडोनेशिया की वित्तमंत्री मुल्यानी इंद्रावती, रिलायंस इंडस्ट्रीज (reliance industries) के अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक मुकेश अंबानी, कोटक महिंद्रा बैंक लिमिटेड (Kotak Mahindra) के प्रबंध निदेशक एवं सीईओ उदय कोटक, सॉफ्टबैंक ग्रुप कॉर्प (SoftBank Group Corp) के अध्यक्ष एवं सीईओ मासायोशी सून, भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण के सीईओ सुभाष गर्ग और आईबीएम कॉरपोरेशन के अध्यक्ष अरविंद कृष्ण सहित कई बड़ी हस्तियां शामिल हैं.

    भारतीय मूल की गीता गोपीनाथ को मिली बड़ी जिम्मेदारी, IMF में निभाएंगी अहम भूमिका

    फिनटेक क्रांति का समय
    प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) ने अपने उद्घाटन भाषण में कहा कि मुझे इस फोरम का उद्घाटन करते हुए बहुत खुशी हो रही है. उन्होंने कहा कि हम अपने अनुभवों और विशेषज्ञता को दुनिया के साथ साझा करने और उनसे सीखने में विश्वास करते हैं. हमारे डिजिटल पब्लिक इंफ्रास्ट्रक्चर समाधान दुनियाभर के नागरिकों के जीवन में सुधार कर सकते हैं. अब इन फिनटेक पहलों को फिनटेक क्रांति में बदलने का समय आ गया है. एक क्रांति जो देश के हर एक नागरिक के वित्तीय सशक्तिकरण को प्राप्त करने में मदद करती है.

    भारत में डिजिटल क्रांति
    प्रधानमंत्री ने भारत में डिजिटल क्रांति (Digital India) का उल्लेख करते हुए कहा कि पिछले सात वर्षों में भारत ने 430 मिलियन जन धन खाते (jan dhan account) दर्ज किए हैं जो दिखाते हैं कि हम कितनी मेहनत करते हैं और बदलते समय के साथ नई तकनीकों को अपनाते हैं.

    प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि जैसे-जैसे मनुष्य विकसित हुआ, वैसे-वैसे हमारे लेन-देन का तरीके में भी परिवर्तन आया. वस्तु विनिमय प्रणाली से धातुओं तक, सिक्कों से लेकर नोटों तक, चेक से लेकर कार्ड तक. आज हम बहुत आगे आकर यहां तक पहुंच गए हैं. पिछले साल भारत में मोबाइल भुगतान से लेकर एटीएम नकद निकासी को जैसी उपलब्धियां हासिल कीं.

    जल्द ही सड़कों पर दौड़ेंगी ग्रीन हाइड्रोजन से चलने वाली कारें, देश के इस शहर से लिया ईंधन

    गुजरात इंटरनेशनल फाइनेंस टेक-सिटी (GIFT City) के विषय में पीएम मोदी ने कहा कि गिफ्ट सिटी (GIFT City) केवल एक आधार नहीं है, यह भारत का प्रतिनिधित्व करता है. यह भारत के लोकतांत्रिक मूल्यों, मांग, जनसांख्यिकी और विविधता का प्रतिनिधित्व करता है. उन्होंने कहा कि गिफ्ट सिटी वैश्विक फिनटेक दुनिया का प्रवेश द्वार है.

    Infinity Forum
    इस बार इनफिनिटी फोरम का एजेंडा ‘बियॉन्ड’ विषय पर केंद्रित है. इसके तहत कई विषयों पर चर्चा की जाएगी. इनफिनिटी-फोरम का मकसद नीति, व्यापार और प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में विश्व की जानी-मानी प्रतिभाओं को एक मंच पर लाना और प्रौद्योगिकी तथा नवाचार को फिन-टेक उद्योग में शामिल करना है.

    Tags: Digital India, Fintech market, Mukesh ambani, Narendra modi, Pm Jandhan, PM Modi, Pm narendra modi, PM Narendra Modi Speech

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर