होम /न्यूज /व्यवसाय /Opinion: 5G से वास्तव में विकास को अनंत आकाश मिलेगा

Opinion: 5G से वास्तव में विकास को अनंत आकाश मिलेगा

5जी सर्विस के लॉन्च होते ही भारत में आज से हाई स्पीड इंटरनेट के युग की शुरुआत हो गई. (सांकेतिक तस्वीर)

5जी सर्विस के लॉन्च होते ही भारत में आज से हाई स्पीड इंटरनेट के युग की शुरुआत हो गई. (सांकेतिक तस्वीर)

आज प्रधानमंत्री द्वारा चुनिंदा शहरों में लॉन्च किया गया 5G अगले कुछ वर्षों में पूरे देश को कवर करेगा. कंपनियां शुरुआत म ...अधिक पढ़ें

नई दिल्ली: पहली अक्टूबर 2022, शनिवार न केवल टेलिकॉम की दुनिया में बल्कि भारत की विकास यात्रा में सबसे क्रांतिकारी दिन के तौर पर याद किया जाएगा. राजधानी दिल्ली के प्रगति मैदान में 5G सेवा लांच करते हुए खुद प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, ‘5जी अवसरों के अनंत आकाश की शुरुआत है. भारत के युवाओं के लिए 5G बहुत बड़ा अवसर लेकर आएगा.’

दस गुना तेज स्पीड
5G तकनीक से बिना किसी रुकावट के अनवरत कवरेज, उच्च डेटा दर, बेहतर स्पेक्ट्रम, बेहतर नेटवर्क और भी अधिक विश्वसनीय तरीके से मिलेगा. बकौल केंद्रीय संचार, इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री अश्विनी वैष्णव, ‘5G सेवाओं से कई क्षेत्रों जैसे शिक्षा, स्वास्थ्य, कृषि, लॉजिस्टिक्स, बैंकिंग में मूलभूत परिवर्तन आएगा और नई संभावना पैदा होंगी. डिजिटल क्षमताएं को बीच में रखकर उसके चारों तरफ नई सेवाएं बनेंगी.’ दावा किया जा रहा है कि 5G नेटवर्क आने के बाद अभी मौजूदा 4G LTE से कम से कम 10 गुना तेज इंटरनेट स्पीड मिलेगी. 5G की अधिकतम इंटरनेट स्पीड 10 गीगाबाइट प्रति सेकेंड हो सकती है, जबकि 4G सर्विस में यह 100 मेगाबाइट प्रति सेकेंड है. इससे अर्थव्यवस्था में बहुत बड़ी उछाल आने की संभावना है. विशेषज्ञों का मानना है कि भारतीय अर्थव्यवस्था को 5G कम्युनिकेशन की वजह से 2023 से 2040 के बीच 36.4 ट्रिलियन ($ 455 बिलियन) का लाभ होने की संभावना है.

स्वास्थ्य और शिक्षा में क्रांति
सबसे बड़ी क्रान्ति स्वास्थ्य सेवाओं और शिक्षा के क्षेत्र में देखने को मिलेगी. हेल्थ सेक्टर में टेलीमेडिसिन के साथ-साथ रोबोटिक चिकित्सा का इस्तेमाल बढ़ेगा. दूर-दराज के गांव-देहात हों या फिर ऊंचाई पर बसे पहाड़ी इलाके, वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से गंभीर बीमारियों के इलाज की भी व्यवस्था बनाई जा सकेगी. होटल और हॉस्पिटालिटी सेक्टर में भी रोबोट का इस्तेमाल करना संभव हो सकेगा. इसी तरह शिक्षा और शोध का क्षेत्र भी तेज इंटरनेट और ज्यादा कनेक्टिविटी से गेम चेंजर साबित होने जा रहा है. 5G की बेहतर डाउनलोडिंग स्पीड के चलते लंबे-लंबे और हाई क्वॉलिटी के वीडियोज बहुत कम समय में डाउनलोड हो जाएंगे. वेबसाइटें भी जल्दी खुलेंगी और वीडियो कॉल्स में कोई बाधा नहीं आएगी. शिक्षा के लिए 3D वीडियोज सरलता से देखे भी जा सकेंगे और डाउनलोड भी होंगे. 5G सर्विस लॉन्च पर बोलते हुए रिलायंस इंडस्‍ट्री के चेयरमैन व प्रबंध निदेशक मुकेश अंबानी ने कहा, ‘5G से देश में बदलाव आएगा, हाई क्वालिटी एजुकेशन मिलेगी.’ इसी कार्यक्रम में रिलायंस जियो ने एक स्कूल टीचर को भारत के अन्य हिस्सों में बैठे छात्रों को 5जी नेटवर्क से कनेक्ट किया और शिक्षक ने मीलों दूर बैठे छात्रों को पढ़ा कर दिखाया. खुद प्रधानमंत्री मोदी ने स्कूल के बच्चों से बात की. 5G से ना केवल ‘Ease of Living’ बेहतर होगा बल्कि ‘Ease of Doing Business’ भी बढ़ेगा. अभी प्रयोग के स्तर पर चलाई जा रही ड्राइवर लेस कार और ड्राइवरलेस मेट्रो के संचालन को अंजाम दिया जा सकेगा.

निचले स्तर तक दिखेगा फायदा
भारत डिजिटल क्रान्ति के दौर पर में है. देश के विकास के सबसे बड़े विजन डिजिटल इंडिया ने अर्थव्यस्था में बड़े परिवर्तन किये हैं. साल 2014 में 25 करोड़ इंटरनेट कनेक्शन थे, अब बढ़कर 85 करोड़ इंटरनेट कनेक्शन हो गए हैं. 2014 तक भारत 100% मोबाइल फोन आयात करता था जबकि आज मोबाइल उत्पादन में हम दुनियां में दूसरे स्थान पर हैं. 2014 में देश में केवल 2 मोबाइल मैन्युफैक्चरिंग यूनिट थी, जो अब 200 के ऊपर हैं. 2G, 3G, 4G के समय भारत टेक्नॉलजी के लिए दूसरे देशों पर निर्भर रहा लेकिन 5G के साथ भारत ने नया इतिहास रच दिया है. 5G के साथ अब भारत टेलीकॉम टेक्नॉलजी में वैश्विक मानदंड तय कर रहा है. डिजिटल दौर में ना केवल उत्पादन बल्कि क्रय विक्रय में भी सिर्फ 5 सालों में ज़बरदस्त बदलाव आये हैं. आज आप किसी भी साप्ताहिक बाजार में चले जाइए, सड़क किनारे खड़े ठेले हों या फिर ज़मीन पर दरी लगा कर सब्जी बेचने वाले, सबके पास QR कोड है. मैकेनिक हो या कारीगर, छोटे व्यापारी हों या छोटे उद्यमी डिजिटल इंडिया ने सबको बराबर का बाजार दिया है. 5G से आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस, इंटरनेट ऑफ थिंग्स, रोबोटिक्स जैसे इनोवेशन के क्षेत्र में बड़े बदलाव देखने को मिलेंगे.

आज प्रधानमंत्री द्वारा चुनिंदा शहरों में लॉन्च किया गया 5G अगले कुछ वर्षों में पूरे देश को कवर करेगा. कंपनियां शुरुआत में देश भर के कुछ शहरों में 5G लॉन्च करेंगी, इनमें अहमदाबाद, बेंगलुरु, चंडीगढ़, चेन्नई, दिल्ली, गांधीनगर, गुरुग्राम, हैदराबाद, जामनगर, कोलकाता, लखनऊ, मुंबई और पुणे शामिल हैं. रिलायंस जियो इसी दिवाली तक दिल्ली, मुंबई, चेन्नई और कोलकाता जैसे महानगरों में हाई-स्पीड मोबाइल इंटरनेट सेवाएं शुरू करेगी. रिलायंस इंडस्‍ट्री के चेयरमैन व प्रबंध निदेशक मुकेश अंबानी ने कहा दिसंबर, 2023 तक देश के हर शहर, हर तालुका और हर तहसील में जियो 5जी पहुंच जाएगा. पूरे देश में 5G का जाल बिछ जाने से ई-कॉमर्स इंडस्ट्री में भी चौंकाने वाले बदलाव देखने को मिलेंगे. भारत में ड्रोन से सामान की डिलीवरी के ट्रायल शुरू हो चुके हैं. अब 5जी से इसमें और तेजी आएगी. लेकिन सबसे दिलचस्प होगा सरकारी काम काज में बदलाव देखना. शासन-प्रशासन से जुड़े काम भी 5G के आने से तेजी देखने को मिलेगी. मोदी सरकार वैसे भी हर मंत्रालय और उसकी सेवाओं को डिजिटल स्वरूप देने में जुटी है. डिजिटलीकरण और 5G के इस्तेमाल से सरकारी योजनाओं का लाभ जन-जन तक पहुंचाने और उनसे जुड़ी शिकायतों को निपटाने की प्रकिया तेज हो जाएगी.

Tags: 5G network, PM Modi

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें