लाइव टीवी

पीएम मोदी ने लॉकडाउन के बाद के लिए बनाई रणनीति, जानिए क्या है उनका प्लान

News18Hindi
Updated: April 6, 2020, 9:05 PM IST
पीएम मोदी ने लॉकडाउन के बाद के लिए बनाई रणनीति, जानिए क्या है उनका प्लान
सोमवार को कैबिनेट बैठक के दौरान पीएम मोदी व अन्य केंद्रीय मंत्री

सोमवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये कैबिनेट बैठक के दौरान मंत्रियों से लॉकडाउन के बाद की रणनीतियों पर काम करने को कहा. उन्होंने यह भी कहा कि अर्थव्यवस्था पर COVID-19 के असर को खत्म करने के लिए युद्ध स्तर पर काम करना होगा.

  • Share this:
नई दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने सोमवार को कैबिनेट बैठक में केंद्रीय मंत्रियों से 10 ऐसे क्षेत्रों की लिस्ट बनाने को कहा, जिसपर लॉकडाउन के बाद फोकस किया जाएगा. COVID-19 की वजह से चल रहे मौजूदा लॉकडाउन (Lockdown in India) के बाद सबसे पहले सरकार ध्यान देगी. वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये केंद्रीय मंत्रियों से बात करते हुए पीएम मोदी ने मंत्रालयों को एक बिजनेस कन्टिन्यूटि प्लान (Business Continuity Plan) बनाने को कहा. इस दौरान उन्होंने सभी विभागों से कहा कि वो एक इंडेक्स भी तैयार करें कि कैसे उनके काम से 'मेक इन इंडिया' को प्रोमोट किया जा सकेगा.

मेडिकल सेक्टर में आत्मनिर्भर बनने का मौका
पीएम मोदी ने कहा कि दूसरे देशों पर अपनी निर्भरता को कम करना होगा. सबसे पहले धीरे-धीरे उन डिपार्टमेंट्स पर फोकस किया जाएगा जो COVID-19 के लिए हॉटस्पॉट्स नहीं हैं. प्रधानमंत्री ने कहा ​कि इस संकट से हमें मौका मिला है कि हम मेडिकल सेक्टर (Medical Sector) में आत्मनिर्भर बनें.


यह भी पढ़ें: बीमा कंपनियों को देना होगा कोरोना वायरस से हुई मौत पर क्लैम, नहीं कर सकते मना

निर्यात बढ़ाने के लिए तलाशे जाएं नये रास्ते
इस संकट से भारत के निर्यात में कमी होने पर बात करते हुए उन्होंने मंत्रियों से कुछ ऐसे कदम उठाने को कहा जिससे मैन्युफैक्चरिंग और निर्यात सेक्टर (Export Sector) को बढ़ावा मिले और यह भी सुनिश्चित किया जाए कि निर्यात करने वाली वस्तुओं में नए सेक्टर्स और देश जुड़ें.

राज्यों और जिला प्रशासन से लगातार संपर्क में रहें मंत्री
प्रधानमंत्री कार्यालय (PMO) द्वारा प्राप्त जानकारी के मुताबिक, मोदी ने मंत्रियों की लीडरशीप को सराहा और कहा कि उनके द्वारा लगातार फीडबैक मिलने से ही कोविड-19 से निपटने के​ लिए रणनीतियां बनाने में मदद मिली है. उन्होंने कहा कि यह बहुत जरूरी है कि सभी लीडर्स, राज्यों और जिला प्रशासन से लगातार संपर्क में रहें. कोरोना वायरस हॉटस्पॉट वाले राज्यों और जिला प्रशासन पर विशेष ध्यान दिया जाए.

यह भी पढ़ें: कोरोना ने इस एयरलाइन को किया बर्बाद! कर्मचारियों को बिना वेतन छुट्टी पर भेजा

कालाबाजारी की शिकायत पर तुरंत एक्शन लें
प्रधानमंत्री ने कहा कि यह भी सुनिश्चित किया जाए कि पब्लिक डिस्ट्रीब्युशन सिस्टम (PDS) सेंटर्स पर भीड़ जमा न हो और बेहतर तरीके से इसकी मॉनिटरिंग की जाए. लोगों से शिकायत मिलने पर तुरंत एक्शन लिया जाए और जरूरी वस्तुओं की कालाबाजारी को रोका जाये. उन्होंने कहा कि लॉकडाउन के बाद आने वाले समय में व्यापक रणनीति बनाना भी अनिवार्य है.

अर्थव्यवस्था के लिए युद्ध स्तर पर काम करने होगा
कोविड-19 की वजह से अर्थव्यवस्था (Indian Economy) को होने वाले नुकसान पर बोलते हुए उन्होंने कहा कि इसके असर को खत्म करने के लिए सरकार को युद्ध् स्तर पर कदम उठाने होंगे. सभी मंत्रियों को बिजनेस कन्टीन्यूटि प्लान तैयार करना होगा. बता दें कि 24 मार्च से देशभर में 21 दिन के लिए लॉकडाउन लगा दिया गया है जोकि 14 अप्रैल को खत्म होने वाला है.

यह भी पढ़ें:  COVID-19: PEPSICO देगी 25 हजार परीक्षण किट, 50 लाख लोगों को खाना भी खिलाएगी

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मनी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: April 6, 2020, 7:21 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading