पीएम मोदी करेंगे दुनिया के प्रमुख कंपनियों के CEO को संबोधित, तेल और गैस क्षेत्र में भावी रोडमैप की देंगे जानकारी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

नीति आयोग (NITI Aayog) और पेट्रोलियम मंत्रालय 26 अक्टूबर को ऑयल और गैस क्षेत्र के लिए एक वैश्विक कार्यक्रम का आयोजन करेंगे. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए इस क्षेत्र के वैश्विक नामचीन हस्तियों को संबोधित संबोधित करेंगे. इस बैठक में मुकेश अंबानी और अनिल अग्रवाल समेत कई अन्य लोग शामिल होंगे.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 24, 2020, 7:31 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) 26 अक्टूबर को ऑयल और गैस क्षेत्र के वैश्विक नामचीन हस्तियों को संबोधित करने जा रहे है. नीति आयोग (NITI Aayog) और पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस मंत्रालय (Ministry of Petroleum and Natural Gas) द्वारा आयोजित इस वैश्विक कार्यक्रम को पीएम शाम 6 बजे वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए संबोधित करेंगे. पेट्रोलियम व प्राकृतिक गैस और इस्पात मंत्री धर्मेंद्र प्रधान कार्यक्रम के आरंभिक सत्र को संबोधित करेंगे. इसके बाद भारतीय ऑयल और नेचुरल गैस क्षेत्र में अपेक्षा और अवसर को लेकर एक व्यापक प्रेजेंटेशन प्रस्तुत किया जाएगा.

विश्व के 45-50 वैश्विक कंपनियों के CEO लेंगे हिस्सा
तेल और गैस क्षेत्र में भावी रणनीति और अवसरों को लेकर हर एक साल इस कार्यक्रम में शिरकत करते है. कार्यक्रम में हिस्सा लेने वाले सीईओ और हितधारक अपने सुझाव और विचार रखेंगे. नीति आयोग और पेट्रोलियम मंत्रालय द्वारा आयोजित होने वाला यह 5वां कार्यक्रम होगा. कार्यक्रम को आयोजित करने का मुख्य मकसद है कि तेल और प्राकृतिक गैस क्षेत्र में भारत द्वारा उठाये जा रहे सुधारात्मक कदमों, निवेशपरक माहौल और आगे क्या कुछ सुधार किए जाने है उसपर वैश्विक कंपनियों के साथ चर्चा की जा सके. एक अनुमान के मुताबिक साल 2030 तक इस क्षेत्र में भारत में 300बिलियन डॉलर निवेश की जरूरत होगी.

यह भी पढ़ें: दिल्ली सरकार की इस वेबसाइट से खरीदें कार, नहीं देनी होगी रजिस्ट्रेशन फीस और रोड टैक्स
मुकेश अम्बानी,अनिल अग्रवाल सहित दुनियां की ये हस्तियां होंगे शामिल


इस वैश्विक कार्यक्रम में अडनोक(ADNOC) सीईओ और इंडस्ट्री और एडवांस्ड टेक्नोलॉजी मंत्री सुल्तान अहमद अल जबेर, क़तर के ऊर्जा मंत्री और कतर पेट्रोलियम के प्रेसिडेंट और सीईओ साद शेरीदा अल काबी, ऑस्ट्रिया,ओपेक सेक्रेटरी जनरल मोहम्मद सनुसी बार्किंडो, रोजनेफ्ट के चेयरमैन और सीईओ डॉ0 इगोर सेचिन, बीपी लिमिटेड सीईओ बर्नार्ड लूनी, टोटल एस ए चेयरमैन और सीईओ पैट्रिक पॉयनने-फ्रांस, अनिल अग्रवाल वेदान्ता रिसोर्सेज चेयरमैन, रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड चेयरमैन और मैनेजिंग डायरेक्टर मुकेश अंबानी, इंटरनेशनल एनर्जी एजेंसी ईडी डॉ0 फातिहा बिरौल, सऊदी अरब-इंटरनेशनल एनर्जी फ़ोरम सेक्रेटरी जनरल जोसेफ मैक मोनिगल सहित दुनियां की और कई बड़ी हस्तियां और विशेषज्ञ कार्यक्रम में भाग लेंगे.

यह भी पढ़ें: Royal Enfield भारत में लॉन्च करने जा रही हैं Meteor 350, जानें खासियतें

तेल और गैस क्षेत्र में भारत की है यह स्थिति
यह सर्वविदित है कि दुनियाभर के तेल और गैस कंपनियों के लिए भारत एक बड़ा बाज़ार है. अन्तराष्ट्रीय क्रूड ऑयल (Crude Oil) के बाज़ार में भारत आज तीसरा सबसे बड़ा उपभोक्ता है.वहीं LNG आयात के मामले में भारत चौथा सबसे बड़ा देश है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज