Home /News /business /

PMFBY : किसान रबी की फसल का 31 दिसंबर 2021 तक करा लें बीमा वरना नहीं मिल पाएगा फायदा

PMFBY : किसान रबी की फसल का 31 दिसंबर 2021 तक करा लें बीमा वरना नहीं मिल पाएगा फायदा

मोदी सरकार प्राकृतिक आपदा के कारण फसल को होने वाले नुकसान का बीमा उपलब्‍ध कराती है.

मोदी सरकार प्राकृतिक आपदा के कारण फसल को होने वाले नुकसान का बीमा उपलब्‍ध कराती है.

Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana: प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना की शुरुआत 13 जनवरी 2016 को की गई थी ताकि फसलों को होने वाले नुकसान से किसानों की आर्थिक क्षति का जोखिम कम किया जा सके. केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर (Narendra Singh Tomar) का दावा है कि प्रीमियम के तौर पर भुगतान किए गए हर 100 रुपये पर किसानों को 537 रुपये का दावा मिला है.

अधिक पढ़ें ...

    नई दिल्‍ली. केंद्र सरकार किसानों की आमदनी दोगुनी (Farmers’ Double Income) करने के साथ ही फसल से जुड़ी कई योजनाएं चला रही है. इनमें से एक प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना (Pradhanmatri Fasal Bima Yojan) भी है. इसके तहत किसानों को किसी भी तरह की प्राकृतिक आपदा के कारण फसल को होने वाले नुकसान से सुरक्षा (Crop Insurance) उपलब्‍ध कराई जाती है. योजना के तहत रबी की फसल का बीमा कराने की अवधि 31 दिसंबर 2021 रखी गई है.

    किसान अपनी फसल का बीमा 31 दिसंबर 2021 तक करा लें वरना किसी तरह का नुकसान होने पर उन्‍हें आर्थिक मदद नहीं मिल पाएगी. यह योजना का लाभ लेने की अंतिम तारीख है. इसके बाद बीमा का लाभ नहीं मिलेगा. प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना वित्त वर्ष 2020-21, 2021-22 और 2022-23 के क्रियान्वयन के लिए दिशानिर्देश जारी कर दिए गए हैं.

    ये भी पढ़ें – PhonePe हर तरह के म्‍यूचुअल फंड प्रोडक्‍ट्स की कर रहा पेशकश, जानें डिजिटल पेमेंट ऐप के 5 इनवेस्‍टमेंट फीचर्स

    फसल बीमा के लिए कितना देना होगा प्रीमियम?
    योजना में अधिसूचित फसलों को प्राकृतिक आपदाओं व नहीं रोके जा सकने वाले दूसरे जोखिमों के लिए फसल बीमा उपलब्‍ध कराया जाता है. किसानों को पीएम फसल बीमा योजना का फायदा लेने के लिए भारत सरकार के पोर्टल पर रजिस्‍ट्रेशन कराना अनिवार्य है. रबी की प्रमुख फसलों में गेहूं, जौ, मसूर, सरसों के लिए 1.5 फीसदी और आलू के लिए 5 फीसदी प्रीमियम की दर तय की गई है.

    फसल को नुकसान होने पर क्‍या करें किसान?
    फसल का नुकसान पहुंचने पर किसानों को 72 घंटे के भीतर क्रियान्वयन अभिकरण / संबंधित बैंक शाखा और कृषि व संबंधित विभाग को हालात का ब्‍योरा देना होता है. किसी भी जानकारी के लिए टोल फ्री नंबर 1800-889-6868 भी संपर्क किया जा सकता है. बता दें कि डिफाल्टर किसान भी फसल बीमा करवा सकते हैं. उनका बीमा भी 1.5 फीसदी प्रीमियम पर ही होगा. केंद्र और राज्य मिलकर बाकी रकम का भुगतान करेंगे.

    ये भी पढ़ें – EPFO ने 23.44 करोड़ लोगों के खाते में भेजी ब्‍याज की रकम, जानें घर बैठे कैसे चेक कर सकते हैं अपना PF Balance?

    किसानों को 100 रुपये पर मिले 537 रुपये
    प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना की शुरुआत 13 जनवरी 2016 को की गई थी ताकि फसलों को होने वाले नुकसान से किसानों की आर्थिक क्षति का जोखिम कम किया जा सके. केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर का दावा है कि प्रीमियम के तौर पर भुगतान किए गए हर 100 रुपये पर किसानों को रिकॉर्ड 537 रुपये का दावा हासिल हुआ है. सरकार का दावा है कि दिसंबर 2020 तक किसानों ने 19 हजार करोड़ रुपये का बीमा प्रीमियम भरा. इसके बदले उन्हें लगभग 90 हजार करोड़ रुपये का क्लेम मिला.

    Tags: Farmer Income Doubled, Narendra Singh Tomar, Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर