PNB को फिर लगा 271 करोड़ रुपये चूना, वसूली के लिए ठोका केस

पंजाब नैशनल बैंक (पीएनबी) को फिर लगा चुना. PNB की यूके की सहायक कंपनी ने पांच भारतीयों, एक अमेरिकी और तीन कंपनियों पर केस किया है.

News18Hindi
Updated: November 10, 2018, 10:42 AM IST
PNB को फिर लगा 271 करोड़ रुपये चूना, वसूली के लिए ठोका केस
पंजाब नैशनल बैंक (पीएनबी) को फिर लगा चुना. PNB की यूके की सहायक कंपनी ने पांच भारतीयों, एक अमेरिकी और तीन कंपनियों पर केस किया है.
News18Hindi
Updated: November 10, 2018, 10:42 AM IST
पंजाब नैशनल बैंक (पीएनबी) को फिर लगा चूना. PNB की यूके की सहायक कंपनी ने पांच भारतीयों, एक अमेरिकी और तीन कंपनियों पर केस किया है. बैंक का दावा है कि इन लोगों ने बैंक को गुमराह करते हुए करोड़ों रुपये का लोन लिया. इन लोगों की बैंक पर अब कुल देनदारी करीब 3.7 करोड़ अमेरिकी डॉलर यानी 271 करोड़ रुपये है.

बैंक ने हाईकोर्ट में मामला दायर किया है बैंक ने कहा है कि पीएनबी (इंटरनैशनल) लिमिटेड, जिसकी यूके में कुल सात शाखाएं हैं, इनकी मुख्य कंपनी पीएनबी है, निजी व्यक्तियों और कंपनियों पर केस दायर कर रही है, चूंकि इन्होंने ऋण लेने के लिए झूठे और गलत दस्तावेज पेश किए हैं. बैंक के दावे के अनुसार ये लोन साउथ कैरोलिना में तेल रिफाइनिंग यूनिट लगाने और पवन ऊर्जा प्रॉजेक्ट्स विकसित करने और उसे बेचने के लिए दिया गया था.

ये भी पढ़ें: जरूरी जानकारी! आज बुक नहीं कर पाएंगे Railway टिकट बंद है ये फैसिलिटी

बैंक ने दावा किया कि लोन लेने के लिए गलत और बढ़ा-चढ़ाकर बैलेंस शीट पेश की गईं. इसके अलावा प्रॉजेक्ट्स की स्थिति के बारे में भी गलत आंकड़े पेश किए गए. बैंक ने अपने दावे में कहा कि निदेशकों और गारंटीदाताओं द्वारा दावेदारों के पैसे का गबन किया गया. यह लोन उन योजनाओं के लिए लिया गया जिसमें शुरू से ही धोखाधड़ी दी गई.

पीएनबी ने कहा कि यह उसने 2011 और 2014 के बीच इस रकम का भुगतान डॉलरों में अमेरिका में पंजीकृत चार कंपनियों को किया. ये चारों कंपनियां अक्षय ऊर्जा के क्षेत्र में काम करती हैं. इनके नाम साउथ ईस्टर्न पेट्रोलियम एलएलसी (एसईपीएल), पेप्सो बीम यूएसए, त्रिशे विंड ऐंड त्रिशे रिसोर्स हैं.

ये भी पढ़ें: Chhath Special Train: ये है रेलवे द्वारा चलाई जा रही ट्रेनों की लिस्ट, जानें कब किस समय कहां पहुंचेंगी

एसईपीएल, अमेरिका में रिसाइक्लिंग प्लांट के क्षेत्र में काम करती है. इसने बैंक के साथ करीब 17 मिलियन डॉलर का डिफॉल्ट किया है. इसमें से 10 मिलियन पीएनबी और 7 मिलियन बैंक ऑफ बड़ौदा की रकम है. बैंक का कहना है कि एसईपीएल के पास अभी धन की कमी हो सकती है चूंकि वह अपना व्यापार समेटने में लगी है.
Loading...
पेप्सो बीम इनवायरमेंटल सॉलूशन (ऑइल रीफाइनिंग में इस्तेमाल होने वाला सिस्टम तैयार करने में महारत) की चेन्नै में फैक्ट्री है और इसके अलावा अमेरिका के वर्जीनिया में भी एक यूनिट है. यह एसईपीएल की 100 फीसदी लाभकारी स्वामी है. पेप्सो यूएसए ने 13 मिलियन डॉलर (लगभग 94 करोड़ 22 लाख रुपये) का डिफॉल्ट किया है. पीएनबी ने अपने दावे में कहा है कि वह पेप्सो बीम यूएसए और पेप्सो बीम इंडिया दोनों पर केस कर रही है.

 ये भी पढ़ें: पतंजलि परिधान आउटलेट खोलकर करें लाखों की कमाई! जानिए इसके बारे में सबकुछ
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर