PNB जल्द लॉन्च कर सकता है QIP! इतने करोड़ का हो सकता है बेस साइज, जानें डिटेल्स

बैंक के इस कदम को अपना कैपिटल बेस बढ़ाने की कवायद माना जा रहा है.

बैंक के इस कदम को अपना कैपिटल बेस बढ़ाने की कवायद माना जा रहा है.

CNBC आवाज को मिली एक्सक्लूसिव जानकारी के मुताबिक, बैंक के QIP का बेस साइज 12,00 करोड़ रुपये हो सकता है. इस इश्यू को बढ़ाकर 1800 करोड़ रुपये करने का भी विकल्प होगा. शुरुआती जानकारी के मुताबिक, इस QIP की इंडीकेटिव ऑफर प्राइस 33.75 रुपये प्रति शेयर रह सकती है.

  • Share this:

नई दिल्ली. शेयर बाजार में दिलचस्पी रखने वालों के लिए यह अच्छी खबर है. पंजाब नेशनल बैंक (Punjab National Bank) जल्द ही क्वालिफाइड इंस्टीट्यूशनल प्लेसमेंट (Qualified Institutional Placement QIP) लॉन्च कर सकता है. CNBC आवाज को मिली एक्सक्लूसिव जानकारी के मुताबिक, बैंक के QIP का बेस साइज 12,00 करोड़ रुपये हो सकता है. इस इश्यू को बढ़ाकर 1800 करोड़ रुपये करने का भी विकल्प होगा. शुरुआती जानकारी के मुताबिक, इस QIP की इंडीकेटिव ऑफर प्राइस 33.75 रुपये प्रति शेयर रह सकती है.हालांकि मैनजमेंट की तरफ से अभी इस बारे में कोई ऐलान नहीं किया गया है. बैंक के इस कदम को अपना कैपिटल बेस बढ़ाने की कवायद माना जा रहा है. इस सरकारी बैंक ने फरवरी में कहा था कि वर्तमान तिमाही के दौरान शेयरों की बिक्री के जरिए उसकी 3200 करोड़ रुपये जुटाने की योजना है. इसके पहले दिसंबर 2020 में PNB ने QIP के जरिए 3,788 करोड़ रुपये जुटाए थे जिसके बाद बैंक में सरकार की हिस्सेदारी 85.59 फीसदी से घटकर 76.87 फीसदी पर गई थी. 


मुनाफा 87.3 फीसदी की बढ़त के साथ 948 करोड़ रुपये रह सकता है


ब्रोकरेज हाउस शेयर खान का अनुमान है कि चौथी तिमाही में बैंक का मुनाफा तिमाही आधार पर 87.3 फीसदी की बढ़त के साथ 948 करोड़ रुपये रह सकता है. वहीं इस अवधि में बैंक की ब्याज आय सालाना आधार पर 83.3 फीसदी और तिमाही आधार पर 3.3 फीसदी बढ़कर 8,586 करोड़ रुपये पर रह सकती है. जबकि इस अवधि में बैंक का प्री-प्रोवजनिंग प्रॉफिट (PPF) सालाना आधार पर 62 फीसदी बढ़कर और तिमाही आधार पर 0.3 फीसदी घटकर 6,372 करोड़ रुपये पर रह सकता है.  


ये भी पढ़ें - FD रेट्स में इस बैंक ने किया बदलाव, आप भी ज्यादा ब्याज दर का उठा सकते हैं फायदा, जानें सबकुछ



 क्या होता है क्वालिफाइड इंस्टीट्यूशनल प्लेसमेंट 





दरअसल क्वालिफाइड इंस्टीट्यूशनल प्लेसमेंट (क्यूआईपी) कंपनियों के लिए पूंजी जुटाने का एक तरीका है. शेयर बाजार में सूचीबद्ध कंपनी क्यूआईपी के तहत क्वालिफाइड इंस्टीट्यूशनल बायर (क्यूआईबी) को वॉरंट के अलावा शेयर, आंशिक या पूर्णत: परिवर्तनीय डिबेंचर जैसी सिक्योरिटीज जारी कर पूंजी जुटाती है. ये सिक्योरिटी तय अवधि के बाद शेयरों में परिवर्तित कर दी जाती हैं. प्रिफरेंशियल आवंटन के अलावा जल्द पूंजी जुटाने का यह दूसरा जरिया है. सेबी ने घरेलू कंपनियों को कम अवधि में बाजार से पैसे जुटाने की सुविधा देने के लिए 2006 में इसकी शुरुआत की थी. इसका मकसद विदेशी पूंजी पर घरेलू कंपनियों की अत्यधिक निर्भरता में कमी लाना भी था.



अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज