PNB-OBC-United Bank में है खाता तो जान लें ये बात, मर्जर के बाद आपके चेकबुक-पासबुक का क्या होगा?

PNB-OBC-United Bank में है खाता तो जान लें ये बात, मर्जर के बाद आपके चेकबुक-पासबुक का क्या होगा?
सोमवार को पंजाब नेशनल बैंक (ONB) में ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स (OBC) और यूनाइटेड बैंक ऑफ इंडिया के मर्जर (Bank Merger) पर ग्राहकों को जरूरी जानकारी दी. पीएनबी ने बताया कि विलय के बाद इन तीनों बैंकों के ग्राहकों के चेकबुक और पासबुक को लेकर क्या निमय होंगे.

सोमवार को पंजाब नेशनल बैंक (ONB) में ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स (OBC) और यूनाइटेड बैंक ऑफ इंडिया के मर्जर (Bank Merger) पर ग्राहकों को जरूरी जानकारी दी. पीएनबी ने बताया कि विलय के बाद इन तीनों बैंकों के ग्राहकों के चेकबुक और पासबुक को लेकर क्या निमय होंगे.

  • Share this:
  • fb
  • twitter
  • linkedin
नई दिल्ली. पंजाब नेशनल बैंक (PNB) में ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स (OBC) और यूनाइटेड बैंक ऑफ इंडिया का मर्जर होने वाला है. मर्जर के बाद जो नया बैंक बनेगा उसका नाम पंजाब नेशनल बैंक ही रहेगा. ग्राहकों की तरफ से इन तीनों बैंक में अपने अकाउंट को लेकर लगातार कई तरह के सवाल पूछे जा रहे हैं. इसी संबंध में आज PNB ने ​विलय के बाद चेकबुक और पासबुक के बारे में जानकारी दी है. साथ ही, पीएनबी ने यह भी बताया कि क्या इसके बाद कैश विड्रॉल कोई लिमिट होगी या नहीं.

इन सवालों के जवाब देने से पहले आपको बता दें कि हाल ही में वित्त मंत्रालय (Ministry of Finance) ने इन तीनों बैंकों के विलय को मंजूरी दी थी. बैंक के मेगा मर्जर प्रोग्राम (Banks mega merger Program) के तहत पब्लिक सेक्टर (PSB's) के 10 बैंकों का विलय कर 4 ​बैंक बनाने की प्रक्रिया चल रही है. इसके बाद पब्लिक सेक्टर में देश का दूसरा सबसे बड़ा बैंक पीएनबी होगा. फिलहाल, भारतीय ​स्टेट बैंक पब्लिक और प्राइवेट में सेक्टर में देश का सबसे बड़ा बैंक है.

चेकबुक और पासबुक का क्या होगा?
PNB ने इस बारे में जानकारी दी है विलय के बाद भी जब तक अगली अधिसूचना नहीं जारी की जाती है, जब तक इन तीनों बैंकों के चेकबुक और पासबुक वैध रहेंगे. ऐसे में इन बैंकों के ग्राहकों को कोई चिंता करने की जरूरत नहीं है.



यह भी पढ़ें: इस बैंक के 27 लाख ग्राहकों को झटका! अब बचत खाते पर इतने फीसदी कम मिलेगा ब्याज



विलय के बाद क्या बैंक अकाउंट से कैश विड्रॉल को लेकर कोई लिमिट होगी?
कैश विड्रॉल को लेकर बैंक ने बताया ऐसी कोई लिमिट होगी. कैश विड्रॉल की लिमिट पहले की तरह ही बनी रहेगी. हालांकि, बैंक ने यह भी बताया कि विलय के बाद मूल बैंक को छोड़कर, किसी से कैश विड्रॉल के लिए प्रति दिन तीन वित्तीय लेनदेन की एक अस्थायी लिमिट है.



क्या ग्राहकों के अकाउंट डिटेल्स जैसे IFSC, MICR, डेबिट कार्ड आदि बदल जाएंगे?
बैंक द्वारा दी गई जानकारी के मुताबिक, मौजूदा अकाउंट नंबर, IFS कोड, MICR, डेबिट कार्ड आदि विलय के बाद भी वैध रहेंगे. इनमें कोई बदलाव ​नहीं किया जाएगा.

क्या ग्राहकों को एक बार फिर से KYC जमा करनी होगी?
अगर किसी ग्राहक की KYC पहले से ही हो चुकी है तो इसे दोबार जमा करने की जरूरत नहीं होगी.

यह भी पढ़ें: PM-Kisan: एक स्पेलिंग ने किसानों के डुबोए 4200 करोड़ रुपये, ऐसे ठीक होगी गलती

क्या बैंकों के टोल फ्री नंबर और कस्टमर केयर ईमेल आईडी में कोई बदलाव होगा?
विलय होने के बाद भी तीनों बैंकों के टोल फ्री नंबर्स और कस्टमर केयर नंबर एक्टिव रहेंगे. खास बात होगी कि ​किसी भी बैंक के कस्टमर केयर से संपर्क कर तीनों बैंकों के बारे में जानकारी प्राप्त की जा सकती है.

क्या कुछ ब्रांच बंद कर दिए जाएंगे?
बैंक ने कहा है कि विलय के बाद इन तीनों बैंकों में से किसी भी बैंक का ब्रांच बंद नहीं होगा. हालांकि, बैंक ने यह भी कहा कि भविष्य उन ब्रांचों को बंद किया जा सकता है, जिनके बीच कम दूरी है. ऐसा करने से पहले बैंक की तरफ से ग्राहकों को जानकारी दे दी जाएगी.

यह भी पढ़ें: ड्राइविंग लाइसेंस को लेकर हुआ बड़ा फैसला, अब सरकार ने दी ये राहत
First published: May 25, 2020, 7:20 PM IST
अगली ख़बर

फोटो

corona virus btn
corona virus btn
Loading