FD नहीं पोस्ट ऑफिस की इस स्कीम में करें इन्वेस्ट, बैंक से ज्यादा मिलेगा मुनाफा और बचेगा टैक्स

FD नहीं पोस्ट ऑफिस की इस स्कीम में करें इन्वेस्ट, बैंक से ज्यादा मिलेगा मुनाफा और बचेगा टैक्स
जूट के बैग बनाने की यूनिट शुरू करने का प्रोसेस

ज्यादा रिटर्न हमेशा ज्यादा जोखिम वाली जगह पर ही मिलता है, लेकिन ऐसे जोखिम सभी नहीं उठा पाते. अब सवाल उठता है कि ऐसे मौके फिलहाल कहां हैं? आइए आपको बताते हैं इस सरकारी स्कीम के बारे में कुछ..

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 8, 2019, 10:20 AM IST
  • Share this:
पोस्ट ऑफिस (Post Office) की सेविंग स्कीम्स हमेशा से इन्वेस्टमेंट के लिए अच्छा ऑप्शन रही हैं. आज हम आपको पोस्ट ऑफिस की एक खास स्कीम के बारे में बता रहे हैं जिसमें सामान्य खाते के मुकाबले ज्यादा रिटर्न मिलता है और टैक्स छूट भी मिलती है. एक्सपर्ट्स कहते हैं कि ज्यादा रिटर्न हमेशा ज्यादा जोखिम वाली जगह पर ही मिलता है, लेकिन ऐसे जोखिम सभी नहीं उठा पाते. अब सवाल उठता है कि ऐसे मौके फिलहाल कहां हैं? आइए आपको बताते हैं इस सरकारी स्कीम के बारे में कुछ..

नेशनल सेविंग सर्टि‍फि‍केट (NSC) है. भारत सरकार की ओर से जारी एक छोटी बचत योजना है. इसे डाकघर चलाता है. एनएससी (NSC) से जुड़ी एक अच्छी बात यह  है कि आप सिर्फ 100 रुपए भी नि‍वेश कर सकते हैं. जिस तरह नोट 100, 500, 2000 के होते हैं, उसी प्रकार NSC के सर्टि‍फि‍केट भी 100, 500, 1000, 5000 के सर्टिफिकेट मिलते हैं. इसमें नि‍वेश करने की कोई सीमा नहीं है. आप अपनी क्षमता के हिसाब से एनएससी खरीद सकते हैं. आपको बता दें कि सेविंग बैंक खाते में फिलहाल 4 फीसदी ब्याज मिलता है. वहीं, एनएससी में 7.9 फीसदी सालाना ब्याज मिल रहा है.

LIC की पॉलिसी जीवन अमर लॉन्च, 22 रु खर्च कर मिलेंगे 4 फायदे



NSC में कौन कर सकता है इन्वेस्ट



कोई भी व्यक्ति इसमें नि‍वेश कर सकता है. आप अपने बच्‍चों के नाम पर भी इसे खरीद सकते हैं. इन सर्टिफि‍केट की मैच्‍योरि‍टी अवधि 5 साल होती है. ब्‍याज हर साल जुड़ता है और कपांउड इंटरेटस्‍ट की ताकत से ये पैसा लगातार बढ़ता जाता है. आपके द्वारा लगाई गए 100 रुपए की राशि 5 साल बाद 144 रुपए हो जाएगी. यहां ध्‍यान रखने वाली बात ये है कि टैक्‍स पर छूट केवल 1.5 लाख तक के नि‍वेश पर ही मि‍लती है. इस योजना की सबसे बड़ी खासि‍यत ये है कि‍ ये योजना सरकारी है. यानी एक तो आपका पैसा पूरी तरह से सुरक्षि‍त है और दूसरा ये कि‍ सरकार ने जि‍तना कहा है उतना रि‍टर्न आपको मि‍लेगा. इसके अलावा आपको बहुत भागदौड़ नहीं करनी.



नेशनल सेविंग सर्टि‍फि‍केट का मेच्योरिटी पीरियड
इसकी मेच्योरिटी 5 साल की है. अच्छी बात ये है कि अगर आप कुछ शर्तों को पूरा करते हैं तो 1 साल की परिपक्वता अवधि के बाद खाते की राशि को निकाल सकते हैं. नेशनल सेविंग सर्टि‍फि‍केट में ब्याज दर हर 3 महीने में बदली या निर्धारित की जाती हैं. इसलिए लिए निवेशक को घटते बढ़ते ब्याज दरों के साथ निवेश की राशि में भी बदलाव करना चाहिए.

1 सितंबर से जीरो बैलेंस बैंक खाते पर फ्री मिलेंगी ये सर्विस!

18 साल से कम उम्र के लोग भी उठा सकते हैं फायदा
खास बात ये है कि इस योजना का लाभ 18 साल से कम उम्र के लोगों को भी मिल सकता है यानी कि इस योजना से नाबालिगों को भी लाभ मिलेगा. इसके लिए उनके अभिभावकों को अपने 18 साल से कम उम्र के बच्चों के नाम पर नेशनल सेविंग सर्टि‍फि‍केट खरीदना होगा. इसमें दो वयस्क ज्वाइंट स्कीम के जरिए भी निवेश कर सकते हैं. वहीं NRI (अप्रवासी भारतीय) और हिंदू अनडिवाइडेड फैमिली (HUF) को इस स्कीम का लाभ नहीं मिल सकता है. नेशनल सेविंग सर्टि‍फि‍केट आप एक पोस्ट ऑफिस से दूसरे पोस्ट ऑफिस में ट्रांसफर कर सकते हैं. नेशनल सेविंग सर्टि‍फि‍केट के प्रमाण पत्र को आप किसी एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति को हस्तांतरित तक सकते हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading