10 साल में ही आपका पैसा होगा डबल, कमाल की है ये सरकारी गारंटी वाली स्कीम

अपने पैसो को करें दोगुना, जुड़ें इस सरकारी स्कीम से
अपने पैसो को करें दोगुना, जुड़ें इस सरकारी स्कीम से

अगर आप अपने पैसो को दोगुना करने की सोच रहे हैं तो इस योजना में निवेश कर सकते हैं. इस योजना में निवेश करने पर निवेशक को उसका पैसा सुरक्षित होने और बेहतर रिटर्न की गारंटी मिलती है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 31, 2020, 8:03 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. अगर आप अपने पैसों को दोगुना करने का सोच रहे हैं तो पोस्ट ऑफिस (Post Office) की किसान विकास पत्र (Kisan Vikas Patra KVP) योजना में निवेश कर सकते हैं. पोस्ट ऑफिस की इस योजना में निवेश से निवेशक को उसका पैसा सुरक्षित होने और बेहतर रिटर्न की गारंटी मिलती है. इस योजना के लिए ब्याज की दर और निवेश के दोगुने होने की अवधि सरकार द्वारा तिमाही आधार पर तय की जाती है. इंडिया पोस्ट की वेबसाइट के अनुसार, किसान विकास पत्र में मैच्योरिटी अवधि 124 महीने है. अर्थात इस योजना में अब ग्राहक का निवेश 124 महीने यानी 10 साल और 4 महीनों में दोगुना हो जाएगा.

कौन कर सकते हैं निवेश?
किसान विकास पत्र (KVP) में निवेश करने वाले की उम्र कम से कम 18 साल होना जरूरी है. इसमें सिंगल अकाउंट के अलावा ज्वॉइंट अकाउंट की भी सुविधा है. वहीं यह योजना नाबालिगों के लिए भी मैजूद है, जिसकी देखरेख अभिभावक को करना होता है. यह योजना हिंदू अविभाजित परिवार यानी HUF या NRI को छोड़कर ट्रस्ट के लिए भी लागू है. KVP में 1000 रुपये, 5000 रुपये, 10,000 रुपये और 50,000 रुपये तक के सर्टिफिकेट हैं, जिन्हें खरीदे जा सकते हैं.

जानिए कितनी है ब्याज दर
KVP के लिए वित्त वर्ष 2021 की दूसरी तिमाही यानी 30 सितंबर तक इसकी ब्याज दर 6.9 फीसदी तय की गई है. य​हां आपका निवेश 124 महीने में डबल हो जाएगा. अगर आप एकमुश्त 1 लाख रुपये निवेश करते हैं तो आपको मेच्योरिटी पर 2 लाख रुपये मिलेंगे. 124 महीने की इस स्कीम की मैच्योरिटी पीरियड है.



ये भी पढ़ें: इस साल फीकी पड़ी सोने की चमक, मांग में कमी के बाद टूट सकता है 25 साल का रिकॉर्ड

किसान विकास पत्र को जारी करने की तारीख के ढाई साल बाद भुनाया जा सकता है. KVP को एक पोस्ट ऑफिस से दूसरे पोस्ट ऑफिस में भी स्थानांतरित किया जा सकता है. किसान विकास पत्र को एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति को स्थानांतरित किया जा सकता है. KVP में नॉमिनेशन की सुविधा उपलब्ध है. किसान विकास पत्र को पासबुक के आकार में जारी किया जाता है.

देना होगा PAN और आधार
निवेश की कोई सीमा नहीं होने से मनी लॉन्ड्रिंग का खतरा भी है, इसलिए सरकार ने 2014 में 50,000 रुपए से ज्यादा के निवेश पर PAN कार्ड अनिवार्य कर दिया था. अगर 10 लाख या इससे ज्यादा निवेश करते हैं तो इनकम प्रूफ भी जमा करना होगा, जैसे ITR, सैलरी स्लिप और बैंक स्टेटमेंट. इसके अलावा पहचान पत्र के तौर पर आधार भी देना होता है.

ये भी पढ़ें: बड़ी खबर: किसानों को नहीं मिलेगा ब्‍याज-पर-ब्‍याज माफी स्‍कीम का लाभ, जानिए इसकी वजह

तीन तरह से खरीद सकते हैं
>> सिंगल होल्डर टाइप सर्टिफिकेट: इस तरह का सर्टिफिकेट खुद के लिए या किसी नाबालिग के लिए खरीदा जाता है
>>  ज्वाइंट A अकाउंट सर्टिफिकेट: इसे दो वयस्कों को ज्वाइंट रूप से जारी किया जाता है. दोनों होल्डर्स को भुगतान होता है, या जो जीवित हो
>> ज्वाइंट B अकाउंट सर्टिफिकेट: इसे दो वयस्कों को ज्वाइंट रूप से जारी किया जाता है. दोनों में से किसी एक को भुगतान होता है या जो जीवित हो
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज