Home /News /business /

मात्र एक बार 4.5 लाख रुपये जमा करने पर हर महीने मिलेंगे 2475 रुपये, जानिए क्या है Post Office ये स्कीम?

मात्र एक बार 4.5 लाख रुपये जमा करने पर हर महीने मिलेंगे 2475 रुपये, जानिए क्या है Post Office ये स्कीम?

Post Office की ये एक मंथली इनकम स्कीम है

Post Office की ये एक मंथली इनकम स्कीम है

अगर आप इस स्कीम में एकमुश्त 4.5 लाख रुपये जमा कर देते हैं तो आपको हर साल 29,700 रुपये मिलेंगे.

    नई दिल्ली. अगर आप किसी अच्छी स्कीम में निवेश (Saving Schemes) करने की तलाश में हैं तो आप पोस्ट ऑफिस (Post Office) की स्कीम्स में निवेश कर सकते हैं. यहां निवेश करने पर किसी भी प्रकार का कोई जोखिम नहीं रहता है. हम आपको बता रहे हैं पोस्ट ऑफिस मंथली इनकम स्कीम (Post Office Monthly Income Scheme) के बारे में. जैसा कि नाम से ही आप समझ सकते हैं कि ये एक मंथली इनकम स्कीम है. इस स्कीम के जरिए आप अपने पैसे पूरी गारंटी के साथ वापस पा सकते हैं वो भी ब्याज के साथ.

    जानिए कैसे मिलेंगे हर महीने 2475 रुपये
    पोस्ट ऑफिस की इस स्कीम में 6.6 फीसदी का सालाना ब्याज मिलता है. इसका मैच्योरिटी पीरियड 5 साल का है. यानी 5 साल बाद आपको गारंटीड मंथली इनकम होने लगेगी. अगर आप एकमुश्त 4.5 लाख रुपये जमा कर देते हैं तो 5 साल बाद आपको हर साल 29,700 रुपये मिलेंगे. अगर आप हर महीने इनकम चाहते हैं तो आपको 2475 रुपये हर महीने की कमाई होगी.

    ये भी पढ़ें: नौकरी के साथ शुरू करें ये बिजनेस हर महीने होगी 50 हजार रुपये की कमाई, जानें कैसे

    सिर्फ 1000 रुपये में खुल जाएगा अकाउंट
    पोस्ट ऑफिस मंथली इनकम स्कीम के तहत सिर्फ 1000 रुपये में अकाउंट खोला जा सकता है. 18 साल की उम्र पूरी कर चुका कोई भी व्यक्ति अकाउंट खुलवा सकता है. एक व्यक्ति एक साथ ज्यादा से ज्यादा 3 अकाउंट होल्डर के साथ अकाउंट खुलवा सकता है.

    क्या है स्कीम की शर्तें
    इस काउंट को खुलवाने की एक शर्त ये है कि आप 1 साल से पहले अपनी जमा राशि निकाल नहीं सकते हैं. वहीं अगर अपनी मैच्योरिटी पीरियड पूरी होने से पहले यानी 3 से 5 साल के बीच में निकालते हैं तो मूलधन में से 1 फीसदी की राशि काटकर वापस कर दी जाएगी. वहीं मैच्योरिटी पीरियड पूरा होने पर पैसे निकालते हैं तो स्कीम के सारे फायदे मिलेंगे.

    Tags: Business news in hindi, Post Office, Post office MIS, Small Saving Schemes

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर