लाइव टीवी

आपके पास भी है ये खाता तो आसानी से मिलेगा लोन, जानिए कैसे

News18Hindi
Updated: December 1, 2019, 4:33 PM IST
आपके पास भी है ये खाता तो आसानी से मिलेगा लोन, जानिए कैसे
PPF अकाउंट की मदद से लोन भी लिया जा सकता है.

इस खास सेविंग स्कीम में 7.9 फीसदी की दर से ब्याज मिलने के साथ-साथ कम जोखिम होता है. इसमें एक साल के दौरान अधिकतम 1.5 लाख रुपये का निवेश कर सकते हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 1, 2019, 4:33 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. पब्लिक प्रोविडेंट फंड (Public Provident Fund) में पर 7.9 फीसदी की दर से प्रिंसिपल और ब्याज की रकम पर भी ब्याज और सरकारी सेविंग स्कीम (Government Saving Schemes) होने की वजह से कम जोखिम ही इसे सबसे बेहतर सेविंग स्कीम्स में से एक बनाता है. आप इस स्कीम में एक वित्तीय वर्ष में अधिकतम 1.5 लाख रुपये तक जमा कर सकते हैं. हालांकि, इस स्कीम में हर साल कम से कम 500 रुपये जमा करना ​अनिवार्य है.

इस सरकारी की स्कीम की खास बात है कि इसे आप न सिर्फ पोस्ट ऑफिस (Post Office) में ​बल्कि SBI समेत​ किसी भी प्राइवेट बैंक (Private Banks) में भी खुलवा सकते हैं. पीपीएफ अकाउंट (PPF Account) की मैच्योरिटी अवधि 15 साल की होती है, जब इस अकाउंट में निवेश किए गए पूरी रकम के साथ ब्याज की भी निकासी कर सकते हैं. हालांकि, इसे आप 5-5 साल की अवधि के लिए इसे आगे भी बढ़ा सकते हैं. आज हम आपको इस अकाउंट से निकासी से लेकर कर्ज लेने तक के बारे में जानकारी दे रहे हैं.

ये भी पढ़ें: महंगाई की मार! दिसंबर में फिर बढ़ा LPG सिलेंडर का भाव, जानिए अब कितना करना होगा खर्च


15 साल के बाद क्या PPF विड्रॉल नियम

1. पीपीएफ स्कीम में किसी भी अकाउंट को वित्तीय वर्ष यानी अप्रैल से लेकर मार्च तक के लिए लागू होता है. अगर आपने मार्च 2019 में पीपीएफ अकाउंट खोलते हैं तो अप्रैल में आपके पास केवल 14 साल ही बचे होंगे.

2. 15 साल पूरा होने के बाद आप आसानी से अपने पीपीएफ अकाउंट को बंद कर सकते हैं. इसके लिए आपको फॉर्म सी भरना होगा और इसे पोस्ट ऑफिस या बैंक में जमा करना होगा, जहां भी आपने पीपीएफ अकाउंट खुलवाया है.
Loading...

3. अगर आप इसे अगले 5 साल के लिए और आगे बढ़ाना चाहते हैं तो इसके लिए फॉर्म एच भरना होगा. इस बात का ध्यान रहे कि जब तक अकाउंट होल्डर जीवित है, तब तक इस अकाउंट को 5-5 साल की अवधि के लिए बढ़ाया जा सकता है.

ये भी पढ़ें: सरकार को मिली बड़ी खुशखबरी! नवंबर माह में ₹1 लाख करोड़ के पार पहुंचा GST कलेक्शन

15 साल की मैच्योरिटी से पहले क्या है निकासी का नियम

1. पीपीएफ अकाउंट खोलने के 7वें वित्तीय वर्ष के बाद आप इस अकाउंट से निकासी कर सकते हैं. पहले 6 साल के ​लिए आप अपने पीपीएफ अकाउंअ से निकासी नहीं कर सकते हैं.

2. 7 साल के बाद भी एक वित्तीय वर्ष में आप केवल 1 बार ही अपने पीपीएफ अकाउंट से पैसे निकासी कर सकते है।.

3. आप अपने पीपीएफ अकाउंट से जो रकम निकाल सकते हैं, उस पर भी कैपिंग है. यह रकम 4 साल पहले वित्तीय वर्ष के अंत में जो रकम होगी उसका 50 फीसदी ही होगा. या फिर ठीक एक साल पहले वाले वित्तीय वर्ष में जो कुल रकम होगी, उसका 50 फीसदी निकाल सकते हैं. इन दोनों में से जो रकम सबसे कम होगी, उसी रकम को आप निकाल सकते हैं.

4. आप मैच्योरिटी अवधि से पहले जो भी रकम निकालते हैं, उसपर आपको कोई टैक्स नहीं देना होगा.

5. ध्यान देने की बात है कि आप मैच्योरिटी से पहले भी आप इस अकाउंट को नहीं बद करा सकते हैं. हालांकि, कुछ विशेष परिस्थितियों में आपको इसे बंद करा सकते हैं.

ये भी पढ़ें: IDBI बैंक के ग्राहकों को झटका, कम बैलेंस होने के कारण ATM ट्रांजैक्शन हुआ फेल तो देना होगा 20 रुपए चार्ज

क्या है लोन लेने का नियम?

1. चूंकि, आपको 7 वित्तीय वर्ष से पहले इस अकाउंट से लोन लेने की अनुमति नहीं मिलती है. ऐसे में आप तीसरे साल छठे साल के बीच में कभी भी पीपीएफ अकाउंट की मदद से लोन ले सकते हैं.

2. पहले के दो वित्तीय वर्ष के अंत में जो भी रकम आपके पीपीएफ अकाउंट में होगी, उसका 25 फीसदी हिस्सा ही आप लोन के तौर पर ले सकते हैं.

3. आप तब तक फ्रेश लोन नहीं ले सकते हैं, जब तक आपका पहले का लोन क्लियर नहीं हो जाता है.

4. आपको लोन की रकम पर मिलने वाले मौजूदा ब्याज दर से 2 फीसदी से अधिक ब्याज पर लोन मिलेगा. मान लीजिए, अगर आप वर्तमान में अपने पीपीएफ अकाउंट के आधा पर लोन लेते हैं तो इसके लिए आपको 9.9 फीसदी की दर से लोन मिलेगा, क्योंकि पीपीएफ अकाउंट पर 7.9 फीसदी की दर से ब्याज मिल रहा है.

5. 36 महीनों के अंदर आपको लोन चुकाना होगा.

6. 7वें साल के बाद से आपको पीपीएफ अकाउंट के आधार पर कोई लोन नहीं मिलेगा. हालांकि, इस दिन से आप कुछ रकम की निकासी कर सकते हैं.

ये भी पढ़ें: SBI ग्राहक ध्यान दें! 31 दिसंबर तक जरूर कर लें ये काम, वरना नहीं निकाल पाएंगे ATM से पैसे

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मनी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 1, 2019, 2:44 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...