Home /News /business /

ppf account you can open ppf account in the name of your child know its benefits rrmb

बच्‍चे के नाम पर भी खोल सकते हैं PPF अकाउंट, जानिए नियम और शर्तें

पीपीएफ पर 7.1 फीसदी की वार्षिक दर से ब्‍याज दिया जा रहा है.

पीपीएफ पर 7.1 फीसदी की वार्षिक दर से ब्‍याज दिया जा रहा है.

एक अभिभावक एक ही बच्चे के नाम पर पीपीएफ अकाउंट (PPF Account) खोल सकता है. अगर किसी के दो बच्चे हैं तो एक नाबालिग बच्चे का PPF अकाउंट मां और दूसरे का पिता खुलवा सकता है. पीपीएफ अकाउंट में 500 रुपये से लेकर 1.5 लाख रुपये तक का निवेश किया जा सकता है.

अधिक पढ़ें ...

नई दिल्‍ली. पब्लिक प्रोविडेंट फंड (PPF) भारत की एक बेहत लोकप्रिय बचत योजना है. इसके लोकप्रिय होने का कारण है इसका सुरक्षित होता, बढ़िया रिटर्न और टैक्‍स में छूट मिलना. फिलहाल पीपीएफ पर 7.1 फीसदी की वार्षिक दर से ब्‍याज दिया जा रहा है. यह काफी आकर्षक ब्‍याज दर है. यही कारण है पीएफ में बहुत ज्‍यादा लोग निवेश करते हैं.

कर्मचारी भविष्‍य निधि संगठन (EPFO) के नियमों के मुताबिक एक व्यक्ति अपने नाम पर केवल एक ही पीपीएफ खाता खुलवा सकता है. लेकिन ईपीएफओ उस व्‍यक्ति को अपने नाबालिग बच्‍चे के नाम पर पीपीएफ अकाउंट खोलने की सुविधा प्रदान करता है. लेकिन गौर करने वाली बात यह है कि एक अभिभावक एक ही बच्चे के नाम पर पीपीएफ अकाउंट खोल सकता है. अगर किसी के दो बच्चे हैं तो एक नाबालिग बच्चे का PPF अकाउंट मां और दूसरे का पिता खुलवा सकता है.

ये भी पढ़ें- 1 जुलाई से कौन-कौन से नए नियमों के कारण आपकी जेब पर पड़ेगा असर? डिटेल में जानिए

500 रुपये से शुरू करें निवेश
नाबालिग के PPF अकाउंट के लिए भी एक वित्त वर्ष में कम से कम 500 और अधिकतम 1.5 लाख रुपए तक पीपीएफ खाते में जमा कराए जा सकते हैं. लेकिन अगर मां-पिता का खुद का PPF अकाउंट भी है तो उनके खुद के अकाउंट और नाबालिग के PPF अकाउंट, दोनों को मिलाकर अधिकतम निवेश की लिमिट 1.5 लाख रुपए सालाना ही रहेगी.

मिलती है टैक्‍स छूट
पीपीएफ की खास बात यह है कि इसमें पूरी टैक्‍स छूट मिलती है. इसमें निवेश की गई राशि, निवेश से मिलने वाले ब्याज और निवेश की संपूर्ण राशि पर भी किसी तरह का टैक्स नहीं देना होता. PPF पर मिलने वाले ब्‍याज की दर हर तीन महीने में बदलती है. इसकी एक खासियत यह है किपीपीएफ अकाउंट को किसी भी कोर्ट या आदेश द्वारा कर्ज या अन्य लायबिलिटी के समय जब्त नहीं किया जा सकता है.

बच्चे के 18 साल का होने पर बच्चा मैनेज कर सकता है अकाउंट
नाबालिग बच्चे के 18 साल का हो जाने के बाद अकाउंट का स्‍टेटस बदलने के लिए आवेदन करना होता है. इसके बाद बालिग हो चुका बच्चा अपना अकाउंट खुद से हैंडल कर सकता है. विशेष मामलों जैसे बच्‍चे की उच्‍च शिक्षा या बीमारी के इलाज के लिए अकाउंट को पांच साल बाद बंद भी कराया जा सकता है.

ये भी पढ़ें- Good News: सुकन्‍या समृद्धि और पीपीएफ समेत छोटी बचत योजनाओं पर जल्‍द बढ़ेंगी ब्‍याज दरें! जानिए डिटेल

15 में होता है मैच्‍योर
PPF अकाउंट 15 साल में मैच्योर होता है. 15 साल बाद इससे पूरा पैसा आप निकाल सकते हैं. इसके अलावा 5-5 साल के लिए इसे बढ़ाया भी जा सकता है. इसका मतलब यह है कि 15 साल बाद भी अगर आपको पैसों की जरूरत नहीं है तो आप पांच साल के लिए इसमें और निवेश जारी रख सकते हैं.

इन दस्‍तावेजों की होगी जरूरत
बच्‍चे के नाम पर पीपीएफ अकाउंट खोलने के लिए कुछ दस्‍तावेजों की जरूरत होती है. इसके लिए बच्चे की फोटो, बच्चे का आयु प्रमाण पत्र (आधार या जन्म प्रमाण पत्र) गार्जियन के केवाईसी दस्तावेज और शुरुआती योगदान के लिए एक बैंक चेक की आवश्यकता होगी.

Tags: Epfo, Personal finance, PPF

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर