होम /न्यूज /व्यवसाय /

PPF account merge: क्या आपके पास हैं एक से ज्‍यादा पीपीएफ अकाउंट? ऐसे करें मर्ज

PPF account merge: क्या आपके पास हैं एक से ज्‍यादा पीपीएफ अकाउंट? ऐसे करें मर्ज

PPF account merge: पब्लिक प्रोविडेंट फंड (PPF) निवेश का अच्छा जरिया है. इसकी मुख्य वजह  इसमें निवेश की गई रकम पर टैक्स छूट, मैच्योरिटी पर टैक्स फ्री रिटर्न और सरकार का हाथ होना. मौजूदा समय में इस वक्त PPF पर सालाना ब्याज दर 7.1 फीसदी है. PPF अकाउंट्स से जुड़े नियम कड़े हैं. अगर आपने एक से ज्यादा पीपीएफ अकाउंट खुलवा लिए हैं तो आप मुश्किल में फंस सकते हैं.

PPF account merge: पब्लिक प्रोविडेंट फंड (PPF) निवेश का अच्छा जरिया है. इसकी मुख्य वजह इसमें निवेश की गई रकम पर टैक्स छूट, मैच्योरिटी पर टैक्स फ्री रिटर्न और सरकार का हाथ होना. मौजूदा समय में इस वक्त PPF पर सालाना ब्याज दर 7.1 फीसदी है. PPF अकाउंट्स से जुड़े नियम कड़े हैं. अगर आपने एक से ज्यादा पीपीएफ अकाउंट खुलवा लिए हैं तो आप मुश्किल में फंस सकते हैं.

PPF account merge: पब्लिक प्रोविडेंट फंड (PPF) निवेश का अच्छा जरिया है. इसकी मुख्य वजह इसमें निवेश की गई रकम पर टैक्स छूट, मैच्योरिटी पर टैक्स फ्री रिटर्न और सरकार का हाथ होना. मौजूदा समय में इस वक्त PPF पर सालाना ब्याज दर 7.1 फीसदी है. PPF अकाउंट्स से जुड़े नियम कड़े हैं. अगर आपने एक से ज्यादा पीपीएफ अकाउंट खुलवा लिए हैं तो आप मुश्किल में फंस सकते हैं.

अधिक पढ़ें ...

    नई दिल्ली. पब्लिक प्रोविडेंट फंड (PPF) निवेश का अच्छा जरिया है. इसकी मुख्य वजह इसमें निवेश की गई रकम पर टैक्स छूट, मैच्योरिटी पर टैक्स फ्री रिटर्न और सरकार का हाथ होना. मौजूदा समय में इस वक्त PPF पर सालाना ब्याज दर 7.1 फीसदी है. PPF अकाउंट्स से जुड़े नियम कड़े हैं. अगर आपने एक से ज्यादा पीपीएफ अकाउंट खुलवा लिए हैं तो आप मुश्किल में फंस सकते हैं.

    अगर किसी जमाकर्ता ने एक से अधिक पीपीएफ खाते खोले हैं, तो खोले गए दूसरे और बाद के खातों को अनियमित माना जाता है. लेकिन कुछ मामलों में पीपीएफ में कुछ छूट दी जाती है. वित्त मंत्रालय एक से अधिक पीपीएफ खातों को एक ही खाते में मर्ज कर ऐसे अनियमित खातों/जमाओं को नियमित करता है.

    डाक विभाग ने बताई मर्ज करने की प्रक्रिया
    डाक विभाग ने हाल ही में एक सर्कुलर जारी किया था जिसमें कई पीपीएफ खाते होने और एक ही पीपीएफ खाते में कई पीपीएफ खातों को मर्ज करने की प्रक्रिया के बारे में बताया गया था.

    ये भी पढ़ें: Stock Market: आज बंद रहेंगे BSE और NSE, 4 नवंबर को ये स्टॉक रहे सबसे बड़े Gainers

    सर्कुलर के अनुसार, जब भी किसी जमाकर्ता ने एक से अधिक पीपीएफ खाते खोले हैं, तो दूसरे और बाद में खोले गए खातों को अनियमित माना जाता है, क्योंकि एक व्यक्ति पीपीएफ योजना के तहत केवल एक ही खाता खोल सकता है. ऐसे में अगर अनजाने में दो पीपीएफ खाते खुलवा लिए हैं तो एक खाते को दूसरे में मर्ज करा लें. ऐसा करना जरूरी है क्योंकि पीपीएफ खाते को मैच्योरिटी से पहले बंद नहीं कराया जा सकता है. इस सूरत में आपको मर्ज कराने का ही विकल्प मिलता है.

    जमाकर्ता के पास ये है ऑप्शन
    इन्वेस्टर्स के पास अपनी पसंद के पीपीएफ अकाउंट को बनाए रखने का विकल्प होगा. इसके लिए शर्त ये है कि दोनों अकाउंट्स में जमा की गई रकम निर्धारित जमा सीमा के अंदर हो. अभी यह प्रति कारोबारी साल में 1.5 लाख रुपये है. अगर आपके पास अलग अलग बैंकों में एक से ज्यादा पीपीएफ हैं या डाकघर में दो खाते हैं, तो पीपीएफ अकाउंट के ट्रांसफर का प्रोसेस का इस्तेमाल करके आसानी से मर्ज किया जा सकता है.

    PPF अकाउंट खोलने का नियम
    15 साल मैच्योरिटी पीरियड वाले इस अकाउंट को किसी भी बैंक या पोस्ट ऑफिस में खुलवाया जा सकता है. लेकिन कोई भी व्यक्ति अपने नाम पर केवल एक PPF अकाउंट ही खुलवा सकता है. फिर चाहे बैंक में खुलवाए या पोस्ट ऑफिस में.

    Tags: Business news in hindi, PPF, PPF account

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर