Top Saving Schemes: इन 5 स्कीम्स में लगाएं पैसे! डबल मिलेगा मुनाफा, टैक्स भी बचेगा

प्रतीकात्मक तस्वीर

प्रतीकात्मक तस्वीर

अगर आप न‍िवेश का व‍िकल्‍पतलाश रहे है, जि‍समें र‍िटर्न भी बढ़‍िया मिले तो यह खबर जरुर पढ़ें. सरकार ने लोगों में निवेश की आदत को बढ़ावा देने के लिए दर्जनों सेविंग और पेंशन स्कीम्स (Pension Schemes) लॉन्च की हैं, जिनमें निवेश कर आप निश्चित रिटर्न पा सकते हैं.

  • Share this:
नई दिल्ली. अगर आप न‍िवेश का व‍िकल्‍प (Investment Options) तलाश रहे है, जि‍समें र‍िटर्न (Good return) भी बढ़‍िया मिले तो यह खबर जरुर पढ़ें. सरकार ने लोगों में निवेश की आदत को बढ़ावा देने के लिए दर्जनों सेविंग और पेंशन स्कीम्स (Pension Schemes) लॉन्च की हैं, जिनमें निवेश कर आप निश्चित रिटर्न पा सकते हैं. सरकार द्वारा जारी किए जाने के कारण ये स्कीम रिस्क फ्री होते हैं, यानी इनमें निवेशकों का पैसा डूबने का जोखिम नहीं होता है. इसके साथ ही आप इनमें निवेश करते टैक्स बेनिफिट भी पा सकते हैं.

टैक्स बचत में मदद मिलेगी
इनकम टैक्स एक्ट के सेक्शन 80C के तहत पीपीएफ, ईपीएफ, एलआईसी प्रीमियम, सुकन्या समृद्धि योजना (SSY), राष्ट्रीय बचत प्रमाणपत्र (NSC), वरिष्ठ नागरिक बचत योजना (SCSS), यूलिप, टैक्स सेविंग्स FD, स्टांप ड्यूटी और संपत्ति खरीद पंजीकरण शुल्क यानी property purchase registration fees पर टैक्स बेनिफिट प्राप्त कर सकते हैं. सालान 7.6% तक गारंटीड रिटर्न के लिए ये हैं 5 बेस्ट गवर्मेंट सेविंग स्कीम्स…

1. सुकन्या समृद्धि योजना
केंद्र सरकार ने यह योजना गर्ल चाइल्ड के भविष्य को बेहतर बनाने के लिए किया है. इस योजना के तहत किए गए निवेश पर इनकम टैक्स के सेक्शन 80C के तहत छूट मिलती है. सुकन्या समृद्धि योजना में मात्र 250 रुपये से अकाउंट खोला जा सकता है. यानी अगर आप रोजाना 1 रुपये भी बचाते हैं तो भी आप इस स्कीम का लाभ ले सकते हैं. इसमें 7.6 फीसदी की दर से ब्याज दिया जा रहा है. इसमें बेटी की उच्च शिक्षा के खर्च के लिए 50 फीसदी तक रकम निकाली जा सकती है. यह योजना 21 साल तक की लड़कियों के लिए या फिर उनकी शादी से पहले तक के लिए है.



ये भी पढ़ें- ICICI Bank दे रहा सस्ते में खरीदारी का मौका! ज्वेलरी पर 10,000 तो इलेक्ट्रॉनिक्स सामान पर 20,000 की होगी बचत

2. पब्लिक प्रोविडेंट फंड (PPF)

पब्लिक प्रोविडेंट फंड (PPF) भारत में उपलब्ध सबसे लोकप्रिय लॉन्ग टर्म डेब्ट निवेश प्रोडक्ट्स में से एक है. PPF का एक सबसे बड़ा फायदा यह है कि यह गारंटीड टैक्स-फ्री रिटर्न देता है, जो आपको NPS, म्यूचुअल फंड जैसे अन्य लॉन्ग टर्म निवेश साधनों में नहीं मिलता है. PPF में हर साल 1.5 लाख रुपए तक के निवेश पर इनकम टैक्स एक्ट के सेक्शन 80C के तहत टैक्स छूट है. PPF में कमाई गई ब्याज और मेच्योरिटी की राशि दोनों पर टैक्स छूट मिलती है .

3. सीनियर सिटीजंस सेविंग स्कीम (SCSS)

सीनियर सिटीजंस सेविंग स्कीम के तहत बुजुर्ग नागरिक 5 साल तक के लिए पैसा जमा करा सकते हैं और इसे मैच्योरिटी पीरियड पूरा होने के बाद 3 साल के लिए और बढ़ाया जा सकता है. SCSS में वरिष्ठ नागरिकों को 7.4% इंटरेस्ट मिलता है. इसमें इंटरेस्ट हर तीसरे महीने मिलता है। 60 साल से अधिक उम्र के लोग इनमें 1000 रुपये से लेकर 15 लाख रुपये तक जमा करा सकते हैं. इस योजना में पैसा जमा करने वालों को इनकम टैक्स एक्ट के सेक्शन 80C के तहत टैक्स छूट का लाभ भी मिलता है. इस योजना के तहत प्रीमैच्योर अकाउंट बंद करने यानी 5 साल से पहले अकाउंट बंद करने पर पेनाल्टी लगती है, जो प्रिंसिपल अमाउंट का 1% से 1.5% तक हो सकता है.

4. बैंक फिक्स्ड डिपोडिट (Bank FD)

देश का लगभग हर बैंक वरिष्ठ नागरिकों के लिए सीनियर सिटीजंस स्पेशल एफडी स्कीम चला रही है.इसमें सीनियर सिटीजंस को आम ग्राहकों से कम से कम 0.5% अधिक ब्याज मिलता है.कुछ प्राइवेट बैंक 1% तक अधिक ब्याज देते हैं. ग्राहक बैंक में मिनिमम 7 दिन से लेकर 10 साल तक के लिए FD करा सकते हैं.बैंक 1 साल से कम के FD पर जहां 4% के आसपास इंटरेस्ट देते हैं, वहीं 5 साल के FG पर औसतन 5.5% से 6% तक ब्याज मिलता है. कुछ प्राइवेट बैंक और स्मॉल फाइनेंस बैंक FD पर 8% तक ब्याज देते हैं. बैंक FD पर इंटरेस्ट आप चाहें तो हर महीने ले सकते हैं.

ये भी पढ़ें- RBI MPC Meeting: आरबीआई का बड़ा फैसला! पेमेंट बैंक में डिपॉजिट लिमिट 1 लाख से बढ़ाकर 2 लाख रुपये किया, जानें अन्य अहम फैसले...

5. नेशनल सेविंग्स सर्टिफिकेट (NSC)

नेशनल सेविंग्स सर्टिफिकेट (NSC) में 5 वर्ष के लिए निवेश करने पर जमाकर्ताओं को गारंटीड रिटर्न मिलता है. अभी NSC पर सालाना 6.8% की दर से ब्याज मिल रहा है, जो कि मैच्योरिटी पूरा होने पर मिलता है, लेकिन इस पर मिलने वाले रिटर्न की गणना सालाना चक्रवृद्धि ब्याज पर होती है. जिससे इसमें निवेश करने वालों को जबरदस्त रिटर्न मिलता है. हालांकि, मैच्योरिटी पर मिलने वाली रकम टैक्सेबल होती है. हालांकि, जब आप इंटरेस्ट के अमाउंट को दोबारा इसमें निवेश कर दे ते हैं तो यह टैक्स फ्री हो जाता है. इसमें आप मिनिमम 1000 रुपये जमा कर सकते हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज