लाइव टीवी

Post Office में खोलें ये खास खाता! गारंटीड मुनाफे के साथ मिलेंगे ये बड़े फायदें

News18Hindi
Updated: December 29, 2019, 8:59 PM IST
Post Office में खोलें ये खास खाता! गारंटीड मुनाफे के साथ मिलेंगे ये बड़े फायदें
1.5 करोड़ में शुरू हुआ Toffee इंश्योरेंस

नए नियम के तहत PPF में जमा राशि को जब्त नहीं किया जा सकता. खाताधारक पर किसी कर्ज या देनदारी की स्थिति में यदि अदालत का भी कोई आदेश होगा, तब भी PPF में जमा राशि को जब्त नहीं किया जा सकेगा.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 29, 2019, 8:59 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. पोस्ट ऑफिस (Post Office) कई तरह के बचत योजनाएं चलाती है. इनमें एक खास योजना है पीपीए यानी पब्लिक प्रोविडेंट फंड (PPF). इस अकाउंट की खासियत यह है कि इसे किसी भी परिस्थिति में जब्त नहीं किया जा सकता है. मतलब है कि अगर पीपीएफ (Public Provident Fund) का खाताधारक कोई लोन डिफॉल्ट करता है तो उसके पीपीएफ अकाउंट में जमा रकम को किसी कोर्ट के आदेश के तहत जब्त नहीं किया जा सकता है. आइए जानतें हे इस अकाउंट के बारे में सबकुछ...

केंद्र सरकार ने हाल ही में पब्लिक प्रोविडेंट फंड स्कीम-2019 को नोटिफाई किया है. नए नियम के तहत पीपीएफ में जमा राशि को जब्त नहीं किया जा सकता. खाताधारक पर किसी लोन या देनदारी की स्थिति में अगर अदालत का भी कोई आदेश होगा, तब भी पीपीएफ में जमा राशि को जब्त नहीं किया जा सकेगा.

अब एड्रेस बदलने पर भी बंद हो सकता है PPF
नए नियमों में पीपीएफ अकाउंट को बंद करने का एक नया आधार जोड़ा गया है. प्रीमैच्योर अकाउंट क्लोजर कुछ जानलेवा बीमारी, उच्च शिक्षा जैसे मामलों में ही किया जाता है. अब सरकार ने इस में एक नई शर्त जोड़ दी है. इसके बाद अब अगर कोई अकाउंट होल्डर अपना आवास बदलता है तो भी उसे प्रीमैच्योर​ क्लोजिंग के लिए आवेदन किया जा सकता है.

ये भी पढ़ें: 31 दिसंबर से पहले निपटा लें ये 4 काम, नहीं तो नए साल में होगी परेशानी

15 साल के बाद भी जमा कर सकते हैं पैसा
नए नियमों में मैच्योरिटी के बाद भी पीपीएफ अकाउंट में पैसे जमा कर सकने का प्रावधान है. जिस साल पीपीएफ का अकाउंट खुलता है, उस साल की समाप्ति के बाद 15 साल पूरे होने पर खाताधारक अपने खाते का विस्तार कर सकता है और उसमें पांच साल की अवधि के लिए और पैसे जमा कर सकता है.1 फीसदी कम ब्याज दर पर ले सकते हैं लोन
पीपीएफ अकाउंट की मदद से अकाउंटहोल्डर को लोन मिल सकता है. नए नियम के तहत, अब यह लोन पीपीएफ पर मिलने वाले ब्याज से एक फीसदी ही कम होगा. इसके पहले 2 फीसदी कम ब्याज पर लोन देने का प्रावधान है.

ऐसे कैलकुलेट होता है ब्याज
पीपीएफ बैलेंस पर मिलने वाले ब्याज को हर माह में 5 तारीख तक जो न्यूनतम रकम होती है, उसी के आधार पर तय की जाती है. हर वित्तीय वर्ष के पूरा होने के बाद खाते में पीपीएफ पर मिलने वाला ब्याज क्रेडिट किया जाता है.

ये भी पढ़ें: इस बिजनेस को शुरू करने के लिए मोदी सरकार दे रही ₹2.50 लाख, हर महीने होगी मोटी कमाई!

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए इनोवेशन से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 23, 2019, 4:48 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर