• Home
  • »
  • News
  • »
  • business
  • »
  • सुकन्या समृद्धि, नेशनल सेविंग्स सर्टिफिकेट्स और पीपीएफ निवेशक तैयार रहें, 1 जुलाई से सरकार करेगी ब्याज में कटौती!

सुकन्या समृद्धि, नेशनल सेविंग्स सर्टिफिकेट्स और पीपीएफ निवेशक तैयार रहें, 1 जुलाई से सरकार करेगी ब्याज में कटौती!

हालांकि सरकार की तरफ अभी इस बारे में कोई पुष्टि नहीं हुई है.

हालांकि सरकार की तरफ अभी इस बारे में कोई पुष्टि नहीं हुई है.

एक्सपर्ट्स का मानना है कि ग्रोथ की लय को वापस पाने के लिए वित्तीय और मौद्रिक दोनों तरह के सपोर्ट की जरूरत है. छोटी बचत योजनाओं के ब्याज में कटौती से सरकार की उधारी की लागत कम हो जाएगी, जिससे इकोनॉमी को सहारा मिलेगा.

  • Share this:
    नई दिल्ली. यदि आप भी छोटी बचत योजनाओं जैसे पीपीएफ, नेशनल सेविंग्स सर्टिफिकेट्स या फिर सुकन्या समृद्धि में निवेश किया है तो यह खबर आपको थोड़ा परेशान कर सकती है. ऐसा इसलिए क्योंकि माना जा रहा है कि केंद्र सरकार इन छोटी बचत योजनाओं की ब्याज दरों में कटौती का विचार बना रही है. हालांकि सरकार की तरफ अभी इस बारे में कोई पुष्टि नहीं हुई है. लेकिन माना जा रहा है कि 30 जून को होने वाली बैठक में इस पर फ़ैसला लिया जा सकता है यदि ऐसा हुआ तो एक जुलाई से छोटी बचत योजनाओं में ब्याज का पैसा कम मिलेगा.

    इसलिए सरकार ले सकती है फैसला
    एक्सपर्ट्स का मानना है कि ग्रोथ की लय को वापस पाने के लिए वित्तीय और मौद्रिक दोनों तरह के सपोर्ट की जरूरत है. छोटी बचत योजनाओं के ब्याज में कटौती से सरकार की उधारी की लागत कम हो जाएगी, जिससे इकोनॉमी को सहारा मिलेगा. रिजर्व बैंक और बैंक्स दोनों ही ब्याज दरों में कटौती के पक्ष में हैं. आपको बता दें कि 5 राज्यों के विधानसभा चुनाव से पहले 31 मार्च को छोटी बचत योजनाओं की ब्याज दरों में कटौती कर दी गई थी, लेकिन उसके अगले ही दिन वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने इस फैसले को एक भूल बताते हुए वापस ले लिया था. हो सकता है सरकार ने विधानसभा चुनावों को देखते हुए ही ये फैसला वापस ले लिया था, लेकिन अब सरकार की ऐसी कोई मजबूरी नहीं है. सरकार हर तिमाही छोटी बचत योजनाओं की ब्याज दरें तय करती है. 30 जून अगली समीक्षा की तारीख है. अगर दरों में कटौती हुई तो छोटे निवेशकों को काफी नुकसान होगा.

    ये भी पढ़ें - FM निर्मला सीतारमण ने आत्‍मनिर्भर भारत रोजगार योजना का किया विस्‍तार, जानें अब कब तक मिलता रहेगा फायदा

    मार्च में की थी कटौती, फिर वापस लिया था फैसला
    मालूम हो इससे पहले 5 राज्यों के विधानसभा चुनाव से पहले 31 मार्च को छोटी बचत योजनाओं की ब्याज दरों में कटौती कर दी गई थी, लेकिन उसके अगले ही दिन वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने इस फैसले को एक भूल बताते हुए वापस ले लिया था. सरकार हर तिमाही छोटी बचत योजनाओं की ब्याज दरें तय करती है. 30 जून अगली समीक्षा की तारीख है. मीडिया रिपोर्ट्स में दावा किया जा रहा है कि जुलाई से अधिसूचना को फिर से जारी किया जा सकता है. अगर दरों में कटौती हुई तो छोटे निवेशकों को काफी नुकसान होगा.

    अभी इतना मिलता है इन स्कीम में ब्याज
    सुकन्या समृद्धि स्कीम पर अभी 7.6% ब्याज मिल रहा है. जबकि सीनियर सिटिजन सेविंग स्कीम पर 7.4%, पब्लिक प्रॉविडेंट फंड पर 7.1%, किसान विकास पत्र पर 6.9%, नेशनल सेविंग सर्टिफिकेट पर 6.8% और मासिक इनकम अकाउंट पर 6.6% ब्याज मिल रहा है. छोटी स्कीम पर ब्याज दरों की हर तिमाही में समीक्षा होती है. इस चालू वित्त वर्ष की पहली तिमाही की समीक्षा जून में होगी.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज