किसानों के लिए बड़ी खबर! इस स्कीम का फायदा उठाने के लिए 31 जुलाई है आखिरी तारीख

ओम प्रकाश | News18Hindi
Updated: July 25, 2019, 2:17 PM IST
किसानों के लिए बड़ी खबर! इस स्कीम का फायदा उठाने के लिए 31 जुलाई है आखिरी तारीख
शर्तों के साथ मिलता है प्रधानमंत्री फसल बीमा का लाभ

फसल खराब होने के 12 घंटे के अंदर बीमा कंपनी को पेश करना होगा दावा वरना नहीं मिलेगा पैसा, यूपी के किसान किन फसलों का करवा सकते हैं बीमा?

  • Share this:
उत्तर प्रदेश सरकार ने अपने यहां के किसानों से अधिक से अधिक संख्या में फसल बीमा का लाभ उठाने की अपील की है. अक्सर किसान आशंकित रहते हैं कि पता नहीं बीमा कंपनी विपरीत स्थितियों में उन्हें पैसा देगी या नहीं. इसलिए बीमा कंपनी ने पहले ही स्पष्ट कर दिया है कि वो किन-किन हालातों में किसान को बीमा कवर देंगी. अगर बीमा का लाभ लेना है कि किसानों को किसी आपदा के 12 घंटे के अंदर व्यक्तिगत रूप से बीमा कंपनी में जाकर फसल खराब होने का दावा पेश करना होगा.

31 जुलाई बीमा करवाने की अंतिम तारीख है. कर्जदार और गैर कर्जदार दोनों किसान इसका फायदा उठा सकते हैं. 2019 में सरकार के सहयोग से प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना एवं पुनर्गठित मौसम आधारित फसल बीमा योजना को यूपी के सभी जिलों में चलाने का नोटिफिकेशन जारी कर दिया गया है.

Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana, PMFBY, crop insurance, farmer, kisan, kisan credit card, up government, National Insurance Company, ministry of agriculture, प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना, फसल बीमा, किसान, किसान क्रेडिट कार्ड, सरकार, कर्जदार किसान, नेशनल इंश्यारेंस कंपनी, कृषि मंत्रालय, उत्तर प्रदेश सरकार, प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना की गाइडलाइन, guideline of Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana
31 जुलाई तक खरीफ फसलों का इंश्योरेंस करवा सकते हैं


ऐसी स्थिति में ही मिलेगा बीमा करवाने का लाभ

फसल की मध्य अवस्था तक प्रतिकूल मौसमी स्थितियों के कारण संभावित उपज सामान्यता: 50 प्रतिशत कम होने की स्थिति में आपको उस रकम का 25 परसेंट मिलेगा जितने का बीमा करवाया है. यह तात्कालिक सहायता होगी.

  1. बुवाई से कटाई के बीच खड़ी फसलों को प्राकृतिक आपदाओं, रोगों व कीटों से हुए नुकसान की भरपाई.

  2. Loading...

  3. खड़ी फसलों को स्थानीय आपदाओं, ओलावृष्टि, भू-स्खलन, बादल फटने, आकाशीय बिजली से हुए नुकसान की भरपाई.

  4. फसल कटाई के बाद अगले 14 दिन तक खेत में सुखाने के लिए रखी गई फसलों को बेमौसम चक्रवाती बारिश, ओलावृष्टि और आंधी से हुई क्षति की स्थिति में व्यक्तिगत आधार पर क्षति का आकलन कर बीमा कंपनी भरपाई करेगी.

  5. प्रतिकूल मौसमी स्थितियों के कारण फसल की बुवाई न कर पाने पर भी लाभ मिलेगा.


इन फसलों का होगा बीमा
खरीफ मौसम: धान, मक्का, ज्वार, बाजरा, उरद, मूंग, मूंगफली, तिल, सोयाबीन, अरहर.

 conditions apply for pradhan mantri fasal bima yojana farmers can get benefit of crop insurance in up-dlop
बीमा का लाभ लेने के लिए पूरी करनी होती हैं शर्तें


कर्जदार किसानों के लिए
सरकारी बीमा कंपनी नेशनल इंश्यारेंस ने कहा है कि सभी किसान क्रेडिट कार्ड धारक और फसली कर्ज लेने वाले किसान अपने नजदीकी सरकारी, निजी, सहकारी बैंक या उसके कार्यालय में संपर्क कर सकते हैं.

जो कर्जदार नहीं है उनके लिए
जिन किसानों ने खेती-किसानी के लिए किसी तरह का कर्ज नहीं ले रखा है वे जन सुविधा केंद्र या बीमा पोर्टल से सीधे फसल का बीमा करवा सकते हैं.

ये भी पढ़ें: कौन कहलाएगा किसान और किसे मिलेगा खेती-किसानी से जुड़ी इन योजनाओं का लाभ?

सामान्य से 33 फीसदी कम हुई बारिश, मोदी सरकार ने 648 जिलों में सूखे से निपटने के लिए बनाया ये प्लान

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए Delhi से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 25, 2019, 1:45 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...