• Home
  • »
  • News
  • »
  • business
  • »
  • इस सरकारी स्कीम में किसानों को तेजी से फायदा पहुंचाने के लिए शुरू हुआ सैटेलाइट का इस्तेमाल! जानिए पूरा मामला

इस सरकारी स्कीम में किसानों को तेजी से फायदा पहुंचाने के लिए शुरू हुआ सैटेलाइट का इस्तेमाल! जानिए पूरा मामला

Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana: मोदी सरकार (Modi Government) ने किसानों का काम आसान करने के लिए सैटेलाइट के जरिए स्मार्ट सैंपलिंग करने का फैसला किया है. इससे किसानों को बीमा दावों का भुगतान जल्दी होगा.

Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana: मोदी सरकार (Modi Government) ने किसानों का काम आसान करने के लिए सैटेलाइट के जरिए स्मार्ट सैंपलिंग करने का फैसला किया है. इससे किसानों को बीमा दावों का भुगतान जल्दी होगा.

Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana: मोदी सरकार (Modi Government) ने किसानों का काम आसान करने के लिए सैटेलाइट के जरिए स्मार्ट सैंपलिंग करने का फैसला किया है. इससे किसानों को बीमा दावों का भुगतान जल्दी होगा.

  • Share this:
    नई दिल्ली. मोदी सरकार (Modi Government) ने किसानों की एक बड़ी समस्या का समाधान कर लिया है. प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना (Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana) में फसल के नुकसान का आंकलन अब सैटेलाइट द्वारा किया जाएगा. इसके जरिए स्मार्ट सैंपलिंग होगी. इससे किसानों (Farmers) को बीमा दावों (Insurance claim) का भुगतान पहले के मुकाबले जल्दी होगा. देश के 10 राज्यों के 96 जिलों में पायलट प्रोजेक्ट के तहत इसकी शुरुआत की गई है. केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने यह जानकारी दी है.

    तोमर ने बताया कि योजना (PMFBY) में इस वर्ष केवल धान के फसल की सैंपलिंग की जा रही है. रबी की फसल वाले सीजन में अन्य राज्यों की दूसरी फसलों को भी इसमें शामिल किया जाएगा. इस तकनीक से फसल उपज का सही अनुमान लगाया जा सकेगा. जिससे किसानों को बीमा दावों का भुगतान शीघ्र हो सकेगा. हालांकि प्रोजेक्ट को सही तरीके से लागू करने के लिए कृषि विभाग के कर्मचारी फील्ड में जाकर अवलोकन भी करेंगे.

    4 लाख रुपये लगाकर घर बैठे शुरू करें ये बिजनेस हर साल होगी 8 लाख रुपये की कमाई!

    PMFBY में कैसे मिलता है लाभ
    >> बुआई के 10 दिन के अंदर किसान को PMFBY का अप्लीकेशन भरना होगा.
    >> बीमा की रकम का लाभ तभी मिलेगा जब आपकी फसल किसी प्राकृतिक आपदा की वजह से ही खराब हुई हो.
    >> बुवाई से कटाई के बीच खड़ी फसलों को प्राकृतिक आपदाओं, रोगों व कीटों से हुए नुकसान की भरपाई.



    >> खड़ी फसलों को स्थानीय आपदाओं, ओलावृष्टि, भू-स्खलन, बादल फटने, आकाशीय बिजली से हुए नुकसान की भरपाई.
    >> फसल कटाई के बाद अगले 14 दिन तक खेत में सुखाने के लिए रखी गई फसलों को बेमौसम चक्रवाती बारिश, ओलावृष्टि और आंधी से हुई क्षति की स्थिति में व्यक्तिगत आधार पर क्षति का आकलन कर बीमा कंपनी भरपाई करेगी.
    >> प्रतिकूल मौसमी स्थितियों के कारण फसल की बुवाई न कर पाने पर भी लाभ मिलेगा.

    Alert! PM-किसान का फायदा उठाने के लिए 41 दिन बाकी, लिंक करवाईए ये डिटेल वरना नहीं मिलेंगे 2000 रुपये!

    कितना देना पड़ता है प्रीमियम
    >> खरीफ की फसल के लिये 2 फीसदी प्रीमियम और रबी की फसल के लिये 1.5% प्रीमियम का भुगतान करना पड़ता है.
    >> PMFBY योजना में कॅमर्शियल और बागवानी फसलों के लिए भी बीमा सुरक्षा प्रदान करती है. इसमें किसानों को 5% प्रीमियम का भुगतान करना पड़ता है.

    फायदा लेने के लिए इन डॉक्यूमेंट की जरूरत
    >> किसान की एक फोटो, आईडी कार्ड, एड्रेस प्रूफ, खेत का
    >> खसरा नंबर, खेत में फसल का सबूत

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज