Choose Municipal Ward
    CLICK HERE FOR DETAILED RESULTS

    प्रधानमंत्री जन सम्मान योजना के तहत क्या केंद्र सरकार आपके खाते में ₹90 हजार डालेगी? जानिए सच्चाई

    प्रधानमंत्री जन सम्मान योजना' (Pradhan Mantri Jan Samman Yojana 2020)
    प्रधानमंत्री जन सम्मान योजना' (Pradhan Mantri Jan Samman Yojana 2020)

    Pradhan Mantri Jan Samman Yojana 2020: क्या केंद्र सरकार (Government of India) सभी के बैंक खातों में 'प्रधानमंत्री जन सम्मान योजना' के तहत 90,000 रुपये की राशि जमा कर रही है? आइए जानें इससे जुड़ी सभी बातें...

    • News18Hindi
    • Last Updated: October 12, 2020, 1:58 PM IST
    • Share this:
    नई दिल्ली. अगर आपने कहीं सुना, पढ़ा है या फिर किसी वीडियो में देखा है कि केंद्र सरकार सभी के बैंक खातों में 'प्रधानमंत्री जन सम्मान योजना' (Pradhan Mantri Jan Samman Yojana 2020) के तहत ₹90,000 की राशि जमा कर रही है. तो इस पर बिल्कुल भी भरोसा नहीं करें. ये खबर पूरी तरह से फर्जी है. दरअसल सोशल मीडिया पर एक पोस्ट और उसके साथ एक वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है. वायरल पोस्ट और वीडियो में दावा किया जा रहा है कि केंद्र सरकार सभी के बैंक खातों में 'प्रधानमंत्री जन सम्मान योजना' के तहत 90,000 रुपये की राशि जमा कर रही है. अगर आपके पास भी इस तरह का मैसेज आया है, तो सावधान हो जाएं. नहीं तो आपका तगड़ा नुकसान हो सकता है.

    सरकार नहीं चलाती है प्रधानमंत्री जन सम्मान योजना- प्रेस सूचना ब्यूरो (पीआईबी) फैक्ट चेक में कहा गया है कि यह दावा पूरी तरह से फर्जी है. केंद्र सरकार द्वारा ऐसी कोई योजना नहीं चलाई जा रही है. साथ ही आपको बता दें कि, पीआईबी समय-समय पर लोगों को सोशल मीडिया पर वायरल इस तरह की खबरों को लेकर सावधान करता रहता है और सच्चाई बताता है.

    इस योजना के झांसे में फंसकर खाली हो सकता है बैंक खाता- पीआईबी का कहना है कि अगर आपके पास कोई वायरल संदेश आए और लिंक आए तो भरोसा न करें. साथ ही दिए गए लिंक पर भूलकर भी क्लिक न करें. नहीं तो इससे आपका डाटा लीक या फिर बैंक अकाउंट भी खाली हो सकता है.







    दावा गलत और फर्जी है- वीडियो के वायरल होने के बाद लोगों में प्रधानमंत्री जन सम्मान योजना के तहत बैंक अकाउंट खुलवाने की होड़ मच गयी है. इस वीडियो और पोस्ट के वायरल होते ही भारत सरकार के आधिकारिक ट्विटर हैंडल पीआईबी फैक्ट चेक (PIB Fact Check) ने इस दावे की जांच की तो इसका सच सामने आया. प्रेस सूचना ब्यूरो ने बताया कि यह दावा गलत और फर्जी है.

    पीआईबी फैक्ट चेक केंद्र सरकार की पॉलिसी/स्कीम्स/विभाग/मंत्रालयों को लेकर गलत सूचना को फैलने से रोकने के लिए काम करता है. सरकार से जुड़ी कोई खबर सच है या झूठ, यह जानने के लिए PIB Fact Check की मदद ली जा सकती है. कोई भी पीआईबी फैक्ट चेक को संदेहात्मक खबर का स्क्रीनशॉट, ट्वीट, फेसबुक पोस्ट या URL वॉट्सऐप नंबर 918799711259 पर भेज सकता है या फिर pibfactcheck@gmail.com पर मेल कर सकता है.
    अगली ख़बर

    फोटो

    टॉप स्टोरीज