PM Kisan Scheme: देश के 9 करोड़ किसानों को मिली तीनों किश्त, खुद ऐसे करें आवेदन

PM Kisan Scheme: देश के 9 करोड़ किसानों को मिली तीनों किश्त, खुद ऐसे करें आवेदन
पीएम किसान योजना में 10 करोड़ 50 लाख किसानों का रजिस्ट्रेशन

प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि स्कीम के तहत मोदी सरकार ने 3 सितंबर तक 8 करोड़ 95 लाख किसानों के बैंक अकाउंट में 6000-6000 रुपये भेज दिए हैं. घर बैठे ऐसे करें योजना में अप्लाई.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 5, 2020, 7:53 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. पीएम किसान सम्मान निधि स्कीम (PM Kisan Samman Nidhi Scheme) के तहत देश के 8 करोड़ 95 लाख से अधिक किसानों के बैंक अकाउंट में खेती के लिए 6000-6000 रुपये भेज दिए गए हैं. ये वे किसान हैं जिनका रिकॉर्ड दुरुस्त है और उन्हें योजना की तीन किश्त मिल चुकी है. केंद्रीय कृषि मंत्रालय के एक अधिकारी के मुताबिक यह 3 सितंबर तक की रिपोर्ट है. यूपी के सबसे ज्यादा 2,05,35,813 किसानों को इस कैटेगरी में फायदा मिला है. अगर आपकी किश्त अब तक नहीं आई है तो pmkisan.gov.in पर अपना स्टेटस चेक करें.

मोदी सरकार ने यह योजना इसलिए चलाई है ताकि किसानों की आय बढ़ सके. उन पर दबाव कम हो. सरकार अधिक से अधिक लोगों को इसका लाभ देना चाहती है. इसलिए पीएम किसान स्कीम के तहत परिवार की परिभाषा पति-पत्नी और नाबालिग बच्चे हैं. जिस भी बालिग व्यक्ति का नाम रेवेन्यू रिकॉर्ड (Revenue Record) में दर्ज है वो इसका अलग से इसका फायदा ले सकता है.

PM-Kisan Samman Nidhi yojana, farmers Scheme, rs 6000 Yojana, Kisan Helpline, modi government, पीएम किसान सम्मान निधि योजना, किसान स्कीम, 6000 रुपये वाली योजना, मोदी सरकार, किसान हेल्पलाइन
पीएम किसान स्कीम में रजिस्ट्रेशन जारी है




इसका अर्थ यह है कि एक ही खेती योग्य जमीन के भूलेख पत्र में अगर एक से ज्यादा व्यस्क सदस्य के नाम दर्ज हैं तो योजना के तहत हर व्यस्क सदस्य अलग से लाभ के लिए पात्र हो सकता है. भले ही वो संयुक्त परिवार में ही क्यों न रह रहा हो. इसके लिए रेवेन्यू रिकॉर्ड के अलावा आधार कार्ड (Aadhaar Card) और बैंक अकाउंट नंबर (Bank Account) की जरूरत पड़ेगी.
इसे भी पढ़ें: भावांतर स्कीम: लाभ व्यापारी कमाएंगे, टैक्सपेयर्स के पैसे से घाटा सरकार भरेगी!



कैसे चेक स्टेटस

>>सबसे पहले पीएम किसान योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाएं. इसके Farmers corner के ऑप्शन पर क्लिक करें. यहां आपको PM Kisan Beneficiary Status का एक ऑप्शन मिलेगा.

>>आपको इसमें Beneficiary Status वाले ऑप्शन का चयन करना होगा. अब आप यहां आधार नंबर, अकाउंट नंबर या मोबाइल नंबर में से किसी एक का इस्तेमाल करके अपना स्टेटस चेक कर सकते हैं. आपका रिकॉर्ड वेरीफाई हुआ या नहीं या फिर किसी वजह से आधार नंबर गलत दर्ज हो गया है तो इसकी जानकारी मिल जाएगी. उसके आधार पर सुधार करवा लें.

खुद ऐसे करें आवेदन

किसान खुद से ऑनलाइन आवेदन कर सकें इसके लिए 'फार्मर कार्नर' टैब में सुविधा दी गई हैं. आप pmkisan.gov.in बेवसाइट पर लॉग इन करके 'फार्मर कार्नर' वाले टैब में क्लिक करें. अब पीएम किसान योजना में रजिस्ट्रेशन का विकल्प आ जाएगा. यहां क्लिक करके जरूरी जानकारी भरें और फॉर्म सबमिट कर दें.

ये भी पढ़ें: किसानों को कब मिलेगी कर्ज से आजादी, आत्मनिर्भर होगा अन्नदाता?

हेल्पलाइन की ले सकते हैं मदद

आवेदन के बाद भी अगर आपको पैसा न मिल रहा हो तो अपने लेखपाल, कानूनगो और जिला कृषि अधिकारी से संपर्क करें. वहां से बात न बने तो केंद्रीय कृषि मंत्रालय की ओर से जारी हेल्पलाइन (PM-Kisan Helpline 155261 या 1800115526 (Toll Free) पर संपर्क करें. वहां से भी बात न बने तो मंत्रालय के दूसरे नंबर ( 011-24300606, 011-23381092) पर बात करें.

PM-Kisan Samman Nidhi yojana, farmers Scheme, rs 6000 Yojana, Kisan Helpline, modi government, पीएम किसान सम्मान निधि योजना, किसान स्कीम, 6000 रुपये वाली योजना, मोदी सरकार, किसान हेल्पलाइन
पीएम किसान स्कीम के तहत सलाना 6000 रुपये मिलते हैं


जानिए, कौन ले सकता है लाभ और कौन नहीं

>>ऐसे किसान जो भूतपूर्व या वर्तमान में संवैधानिक पद धारक हैं, वर्तमान या पूर्व मंत्री हैं, मेयर या जिला पंचायत अध्यक्ष हैं, विधायक, एमएलसी, लोकसभा और राज्यसभा सांसद हैं तो वे इस स्कीम से बाहर माने जाएंगे. भले ही वो किसानी भी करते हों.

>>केंद्र या राज्य सरकार में अधिकारी एवं 10 हजार से अधिक पेंशन पाने वाले किसानों को लाभ नहीं. बाकी पात्र होंगे.

>>पेशेवर, डॉक्टर, इंजीनियर, सीए, वकील, आर्किटेक्ट, जो कहीं खेती भी करता हो उसे लाभ नहीं मिलेगा.

>>केंद्र और राज्य सरकार के मल्टी टास्किंग स्टाफ/चतुर्थ श्रेणी/समूह डी कर्मचारियों लाभ मिलेगा.

>>पिछले वित्तीय वर्ष में इनकम टैक्स का भुगतान करने वाले किसान इस लाभ से वंचित होंगे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading