प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि स्कीम: फेल हो गई 46 लाख लोगों की पेमेंट, ऐसे कर सकते हैं सुधार

प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि स्कीम: फेल हो गई 46 लाख लोगों की पेमेंट, ऐसे कर सकते हैं सुधार
पीएम किसान योजना में 10 करोड़ 50 लाख किसानों का रजिस्ट्रेशन

सावधानी से करेंगे आवेदन तभी आपके बैंक खाते में आएंगे पीएम किसान सम्मान निधि स्कीम के 6000 रुपये

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 10, 2020, 6:32 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. मोदी सरकार की सबसे बड़ी किसान योजना पीएम किसान सम्मान निधि स्कीम (Pradhan Mantri Kisan Samman Nidhi Scheme) के 20 महीने पूरे हो गए हैं. इस दौरान स्पेलिंग, बैंक अकाउंट नंबर व आधार सीडिंग न होने की वजह से 46 लाख से अधिक लोगों की पेमेंट फेल हो गई है. पहली किश्त में सबसे ज्यादा लोगों की पेमेंट फेल हुई थी, उसके बाद बढ़ती जागरूकता के कारण धीरे-धीरे ऐसे लोगों की संख्या घटने लगी. केंद्रीय कृषि मंत्रालय के एक अधिकारी के मुताबिक आवेदनकर्ताओं के नाम, मोबाइल नंबर और बैंक अकाउंट नंबर में बड़े पैमाने पर गड़बड़ी हुई है. बताया गया है कि ऐसे राज्यों में महाराष्ट्र, मध्य प्रदेश और यूपी में सबसे आगे हैं. इसलिए अगर खेती-किसानी के लिए 6000 रुपये चाहिए तो फार्म भरते वक्त सावधानी रखें. वरना आवेदन के बाद भी पैसा नहीं आएगा.



बैंक अकाउंट और अन्य कागजातों में नाम की स्पेलिंग  अलग-अलग होगी तो पैसा नहीं आ पाएगा क्योंकि स्कीम में पेमेंट का सिस्टम ऑटोमेटिक है. वो उसे रिजेक्ट कर देता है. इस समय योजना की छठी किश्त के 2000 रुपये भेजे जा रहे हैं. सभी किश्तों का विश्लेषण करने से पता चलता है कि 46,13,797 किसानों का भुगतान फेल हुआ है. जबकि उनके लिए फंड ट्रांसफर ऑर्डर (FTO) जनरेट हो चुका था.



Pradhan mantri kisan samman nidhi scheme, Pm kisan Status check, Pm Kisan Online Registration And Correction, why pm kisan Payment Failed, Aadhaar correction in bank, प्रधान मंत्री किसान सम्मान निधि स्कीम, पीएम किसान स्टेटस कैसे चेक करें, पीएम किसान स्कीम में ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन और सुधार, क्यों पीएम किसान स्कीम का भुगतान विफल हो रहा, आधार सुधार
फिलहाल, पीएम किसान सम्मान निधि स्कीम के तहत सालाना 6000 रुपये मिलते हैं

केंद्रीय कृषि मंत्रालय के सूत्रों के मुताबिक पहली किश्त में सबसे अधिक 13,68,509 लोगों का भुगतान फेल हुआ. दूसरी में 11,40,085, तीसरी में 8,53,721, चौथी में 10,51,525, पांचवीं में 31,774, जबकि अभी भेजी जा रही छठी किश्त में अब तक 1,68,183 की पेमेंट फेल हुई है. यह 100 फीसदी केंद्र सरकार फंडेड स्कीम है, लेकिन किसान को पैसा तब मिलता है जब राज्य सरकार किसान के डाटा को वेरीफाई करके केंद्र को भेजती है. क्योंकि राजस्व राज्य सरकार का विषय है.

इसे भी पढ़ें: चपरासी से भी कम है किसानों की आय,ये है अर्थव्यवस्था को संभालने वालों का सच

ये है बड़ी वजह

>>खाता अमान्य होने के कारण अस्थायी रोक

>>जो खाता संख्या दिया गया वो बैंक में मौजूद नहीं था.

>>बैंक पीएफएमएस यानी सार्वजनिक वित्त प्रबंधन प्रणाली में रजिस्टर्ड नहीं था.

>>नेशनल पेमेंट कारपोरेशन ऑफ इंडिया में आधार (Aadhaar card) सीडिंग नहीं हुई थी.

कैसे ठीक होगी गलती?

-सबसे पहले PM-Kisan Scheme की ऑफिशियल वेबसाइट पर जाएं. इसके फार्मर कॉर्नर के अंदर जाकर Edit Aadhaar Details ऑप्शन पर क्लिक करें.

-आपको यहां पर अपना आधार नंबर दर्ज करना होगा. इसके बाद एक कैप्चा कोड डालकर सबमिट करें. जैसा कि नीचे दिखाया गया है.

इसे भी पढ़ें:  वो अध्यादेश, जिनके खिलाफ किसान-व्यापारी दोनों उठा रहे हैं आवाज

-अगर आपका केवल नाम गलत होता है यानी कि अप्लीकेशन और आधार में जो आपका नाम है दोनों अलग-अलग है तो आप इसे ऑनलाइन ठीक कर सकते हैं. अगर कोई और गलती है तो इसे आप अपने लेखपाल, बैंक और कृषि विभाग कार्यालय में संपर्क करें.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading