IMF-वर्ल्ड बैंक ने चेताया, ट्रेड वॉर से पैदा हुईं मुश्किलों को झेलने के लिए तैयार रहें देश

दुनिया की दो प्रमुख अर्थव्यवस्थाओं की ओर से एक-दूसरे के खिलाफ ऊंचे शुल्क लगाने की कार्रवाई से वैश्विक आर्थिक वृद्धि संकट में पड़ सकती है.

भाषा
Updated: October 13, 2018, 8:23 PM IST
IMF-वर्ल्ड बैंक ने चेताया, ट्रेड वॉर से पैदा हुईं मुश्किलों को झेलने के लिए तैयार रहें देश
अमेरिका-चाइना ट्रेड वार की फाइल फोटो
भाषा
Updated: October 13, 2018, 8:23 PM IST
अंतराष्ट्रीय मुद्राकोष और विश्वबैंक की बाली में हुई सालाना बैठक शनिवार को खत्म हुई. यहां दुनिया की अर्थव्यवस्थाओं को व्यापारिक विवादों और अन्य तनावों से पैदा होने वाले संभावित संकटों को झेलने के लिए तैयार रहने की चेतावनी दी गई.

इन दोनों बहुपक्षीय आर्थिक संगठनों की बाली बैठक में विश्व स्तर पर फाइनेंशियल मार्केट में चल रही उठा-पटक और चीन की टेक्नॉलजी संबंधी नीतियों के कारण उसके और अमेरिका के बीच छिड़े व्यापार युद्ध पर बातें हुई. दुनिया की दो प्रमुख अर्थव्यवस्थाओं की ओर से एक-दूसरे के खिलाफ ऊंचे शुल्क लगाने की कार्रवाई से वैश्विक आर्थिक वृद्धि संकट में पड़ सकती है.

मुद्राकोष की अंतरराष्ट्रीय मौद्रिक और वित्तीय समिति की ओर से बैठक के बाद जारी बयान में कहा गया है कि इन चुनौतीपूर्ण परिस्थितियों में देशों को अपना कर्ज नियंत्रण में रखना चाहिए. मौद्रिक नीति ऐसी रखनी चाहिए, जिससे कीमतों में स्थिरता रहे और आर्थिक वृद्धि भी मजबूत बनी रहे. बयान में कहा गया है कि इसी में सबका भला होगा.

ये भी पढ़ें- अमेरिका का दावा चीन की इकॉनमी WTO के मुताबिक नहीं, कहा- फिर से परिभाषित हो- ‘विकासशील देश’

मुद्राकोष की मैनेजिंग डायरेक्टर क्रिस्टीन लेगार्दे ने कहा कि वैश्विक आर्थिक वृद्धि दर अब भी मजबूत बनी हुई है, लेकिन यह एक मुकाम पर पहुंच कर वहीं रुकी हुई है. मुद्राकोष ने बाली बैठक के शुरू में वर्ष 2018 में दुनिया की आर्थिक वृद्धि दर के अनुमान को घटा कर 3.7 प्रतिशत कर दिया. इससे पहले के अनुमान में इसे 3.9 प्रतिशत तक रहने की संभावना जताई गई थी.

लेगार्दे ने कहा, 'आसमान पर संकट के बादलों को देखते हुए वृद्धि दर में इस ठहराव का आना कोई अजूबी बात नहीं है.' उन्होंने सभी देशों से अपील की कि सभी को मिल कर नाव को एक ही दिशा खेना चाहिए. हम मिल कर प्रयास करें उसी से सबकी ताकत बढ़ेगी.

उन्होंने कहा कि दुनियाभर में कर्ज की मौजूदा स्थिति को लेकर हमने कुछ मजबूत सिफारिशें की हैं और व्यापार के संबंध में हमारा कहना है कि कृपया तनाव कम कीजिए और परस्पर बातचीत का रास्ता अपनाइए.
Loading...
क्रिस्टीन लेगार्दे ने कहा कि देशों को यह सुनिश्चत करना चाहिए कि उन पर कर्ज का बोझ नियंत्रण में रहे और वे ऐसे नीतियां अपनाएं जिससे सबकी वृद्धि में मदद मिले. चीन के केंद्रीय बैंक के गवर्नर यी गांग ने कहा कि संरक्षणवाद और व्यापारिक तनाव वैश्विक अर्थव्यवस्था के लिए बड़ा संकट बन गया है.

अमेरिका के वित्त मंत्री स्टीफन न्यूचिन ने चीन के साथ व्यापारिक तनाव के खतरे को ज्यादा भाव नहीं देते हुए कहा कि वह इस बात को लेकर अपनी रात की नींद खराब नहीं करते कि चीन अमेरिकी सरकार के बॉन्ड बेचना शुरू कर देगा. उन्होंने यह भी कहा कि राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप इस महीने ब्यूनस आयर्स (अर्जेंटिना) में जी20 शिखर सम्मेलन में चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग से मुलाकत करेंगे या नहीं, यह अभी तय नहीं है.

ये भी पढ़ें- अमेरिका-चीन के बीच अहम बैठक, व्यापारिक टकराव, सैन्य तनाव बड़े मुद्दे
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर