जरूरी खबर! HDFC Bank अपने क्रेडिट कार्ड को करेगा अपग्रेड, जानें क्या है पूरा मामला

एचडीएफसी बैंक

एचडीएफसी बैंक

देश का सबसे बड़ा निजी क्षेत्र का ऋणदाता बैंक एचडीएफसी बैंक (HDFC Bank) ग्राहकों की सुविधा के लिए अपने क्रेडिट कार्ड (Credit Card ) में कुछ बदलाव करने की तैयारी कर रहा है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 28, 2021, 2:59 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. देश का सबसे बड़ा निजी क्षेत्र का ऋणदाता बैंक एचडीएफसी बैंक (HDFC Bank) ग्राहकों की सुविधा के लिए अपने क्रेडिट कार्ड (Credit Card ) में कुछ बदलाव करने की तैयारी कर रहा है. मिंट में छपी एक खबर के मुताबिक, एचडीएफसी बैंक अपने पुराने क्रेडिट कार्ड व्यवस्था को लेटेस्ट टेक्नोलॉजी में बदलने की तैयारी कर रहा है. इस बदलाव से ग्राहकों को बेहतर अनुभव के साथ अधिक सुरक्षा मिलेगी. बता दें कि आरबीआई (RBI) ने दिसंबर में निजी क्षेत्र के बैंक को नए कार्ड जारी करने पर रोक लगा दी थी.

फिनटेक कंपनी में ट्रांसफर करने पर कर रही विचार: एचडीएफसी बैंक कार्ड के बेहतर एंड-टू-एंड प्रोसेसिंग और सुरक्षा के लिए अपने कार्ड प्लेटफॉर्म को एक विश्वसनीय फिनटेक कंपनी में ट्रांसफर करने पर विचार कर रहा है. फिनटेक कंपनियों ने ऑनलाइन बैंकिंग और क्रेडिट कार्ड जारी करने के लिए एक अच्छा मंच है जो बैंकों को अपने प्लेटफार्मों पर इसे ट्रांसफर करने का विकल्प दे रहे हैं. एचडीएफसी बैंक ने करीब दो साल पहले फिनटेक कंपनियों के साथ बातचीत शुरू की थी. लेकिन महामारी के दौरान डिजिटल लेनदेन में उछाल के बाद क्रेडिट कार्ड के संचालन को और अधिक कुशल डिजिटल प्लेटफॉर्म पर ले जाने की जरूरत महसूस की गई.

ये भी पढ़ें: क्या आप भी बनवाने जा रहे हैं Ration Card, तो ये डाक्यूमेंट ले जाएं साथ, वरना रुक जाएगा काम 

RBI ने नए क्रेडिट कार्ड जारी करने पर लगाई थी रोक: भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने HDFC बैंक की सभी डिजिटल लॉन्चिंग को रोकने का आदेश नवंबर में दिया था. इसमें नए क्रेडिट कार्ड भी शामिल हैं. हालांकि, यह आदेश अस्थाई था. एचडीएफसी बैंक को ग्राहकों को क्रेडिट कार्ड जारी करने के लिए अभी और इंतजार करना होगा. बीते महीने रिजर्व बैंक (RBI) ने एचडीएफसी बैंक की डिजिटल कामकाज में परेशानी के कारण नए क्रेडिट कार्ड जारी करने को अस्थायी रूप से रोक दिया था.



बताई थी यह वजह: HDFC ने तब शेयर बाजार को बताया था कि आरबीआई ने एचडीएफसी बैंक लिमिटेड को एक आदेश जारी किया था, जो पिछले दो वर्षों में बैंक के इंटरनेट बैंकिंग/ मोबाइल बैंकिंग/ पेमेंट बैंकिंग में हुई परेशानियों के संबंध में था, जिसमें 21 नवंबर 2020 को प्राइमरी डेटा सेंटर में बिजली बंद हो जाने के चलते बैंक की इंटरनेट बैंकिंग और भुगतान प्रणाली का बंद होना शामिल था.

ये भी पढ़ें: Petrol-Diesel Price Today: पेट्रोल डीजल के भाव में आज क्या हुआ बदलाव, यहां करें चेक



एचडीएफसी बैंक ने तब जवाब में कहा था कि आरबीआई ने आदेश में बैंक को सलाह दी कि वह अपने कार्यक्रम डिजिटल 2.0 और अन्य प्रस्तावित आईटी अनुप्रयोगों के तहत आगामी डिजिटल व्यापार विकास गतिविधियों और नए क्रेडिट कार्ड ग्राहकों की सोर्सिंग को रोक दे. एचडीएफसी बैंक ने कहा कि इसके साथ ही बैंक के निदेशक मंडल से कहा गया कि वे कमियों की जांच करें और जवाबदेही तय करें.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज