अभी कम नहीं हुईं एविएशन सेक्टर की मुश्किलें! सितंबर में यात्रियों की संख्‍या रही 66 फीसदी कम

अनलॉक में फ्लाइट्स के लिए मंजूरी मिलने बाद भी पैसेंजर्स की कमी के चलते एविएशन सेक्‍टर की हालत खस्‍ता है.
अनलॉक में फ्लाइट्स के लिए मंजूरी मिलने बाद भी पैसेंजर्स की कमी के चलते एविएशन सेक्‍टर की हालत खस्‍ता है.

डायरेक्‍टर जनरल ऑफ सिविल एविएशन (DGCA) के आंकड़ों के मुताबिक, जुलाई 2020 में 21 लाख से ज्‍यादा और अगस्त 2020 में 28 लाख से ज्‍यादा लोगों ने डॉमेस्टिक फ्लाइट्स (Domestic Flights) से हवाई यात्रा की. इस दौरान डॉमेस्टिक एविएशन मार्केट में 57 फीसदी से ज्‍यादा की हिस्‍सेदारी रखने वाली एयरलाइंस इंडिगो (IndiGo) से 22 लाख से ज्‍यादा लोगों ने हवाई यात्रा (Air Travel) की.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 15, 2020, 2:23 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. कोरोना वायरस (Coronavirus in India) के फैलने की रफ्तार पर ब्रेक लगाने के लिए लागू किए गए लॉकडाउन के दौरान सभी घरेलू और अंतरराष्‍ट्रीय उड़ानों (Domestic & International Flight) को रद्द कर दिया गया. इसके बाद केंद्र सरकार (Central Government) ने मई 2020 के आखिरी सप्‍ताह में कुछ शर्तों के साथ डॉमेस्टिक फ्लाइट्स को मंजूरी दे दी. देश में घरेलू उड़ानों को शुरू हुए साढ़ चार महीने से ज्‍यादा हो चुके हैं, लेकिन एविएशन सेक्‍टर (Aviation Sector) की मुश्किलें कम नहीं हो रही हैं. दरअसल, अभी भी लोग कोरोना वायरस संक्रमण के डर की वजह से यात्राएं करने से कतरा रहे हैं. ऐसे में हवाई यात्रियों (Flyers) की संख्‍या बहुत धीमी रफ्तार से बढ़ रही है.

पिछले साल के मुकाबले अब भी 66 फीसदी कम हैं यात्री
डायरेक्‍टर जनरल ऑफ सिविल एविएशन (DGCA) के आंकड़ों के मुताबिक, सितंबर 2020 में 39.43 लाख लोगों ने ही घरेलू उड़ानों से यात्रा की, जो पिछले साल के इसी महीने के मुकाबले 66 फीसदी कम है. डीजीसीए ने कहा कि जुलाई 2020 में 21.07 लाख और अगस्त 2020 में 28.32 लाख लोगों ने घरेलू हवाई यात्रा (Air Travel) की. इस दौरान डॉमेस्टिक एविएशन मार्केट में 57.5 फीसदी हिस्‍सेदारी रखने वाली एयरलाइंस इंडिगो (Indigo) से 22 लाख से ज्‍यादा लोगों ने हवाई यात्रा की. वहीं, घरेलू बाजार में 13.4 फीसदी की हिस्‍सेदार स्पाइसजेट के यात्रियों की संख्या 5.30 लाख रही.

ये भी पढ़ें- त्‍योहारी सीजन में चीन को तगड़ा झटका देंगे भारतीय कारोबारी! नहीं बेचेंगे चीनी सामान, मनाएंगे देसी दीवाली
6 प्रमुख एयरलाइंस की 57-73 फीसदी के बीच भरीं सीटें


आंकड़ों के मुताबिक, सितंबर में एयर इंडिया से 3.72 लाख, एयरएशिया इंडिया से 2.35 लाख, विस्तारा से 2.58 लाख और गोएयर से 2.64 लाख यात्रियों ने उड़ान भरी. देश की छह प्रमुख एयरलाइंस की कुल सीटों के मुकाबले यात्रियों की संख्‍या 57 से 73 फीसदी के बीच रही. डीजीसीए के मुताबिक, लॉकडाउन के बाद उड़ान सेवाएं शुरू होने से अब तक मांग में लगातार बढ़त हो रही है. इस दौरान स्पाइसजेट ने 73 फीसदी भरी सीटों के साथ उड़ान भरी. वहीं, विस्तार की सीटें भरने की दर 66.7 फीसदी, इंडिगो की 65.4 फीसदी, एयरएशिया इंडिया की 58.4 फीसदी, एयर इंडिया की 57.9 फीसदी और गोएयर की 57.6 फीसदी रही.



ये भी पढ़ें- केंद्र के खास प्‍लान से बढ़ेगी किसानों की आय! सब्‍जी-फलों के रेलभाड़े में लागू की 50 फीसदी छूट

एयरएशिया इंडिया के विमानों ने सही समय पर भरी उड़ान
डीजीसीए के मुताबिक, बेंगलुरु, दिल्ली, हैदराबाद और मु्ंबई हवाईअड्डों पर एयरएशिया इंडिया की सबसे ज्‍यादा उड़ानें 98.4 फीसदी सही समय से चलीं. कोरोना संकट के बीच एकतरफ सभी घरेलू और अंतरराष्ट्रीय उड़ानें बंद थी. वहीं, दूसरी तरफ प्रवासियों की स्वदेश वापसी के लिए वंदे भारत मिशन के तहत विशेष अंतरराष्ट्रीय उड़ानों का परिचालन किया गया. इस समय कुछ देशों के साथ द्विपक्षीय समझौतों के तहत अंतरराष्ट्रीय उड़ानों का परिचालन किया जा रहा है. हालांकि, बीच में हॉन्‍ग कॉन्‍ग और दुबई ने एयर इंडिया की उड़ानों पर अस्‍थायी रोक लगा दी थी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज