दुनिया की सबसे बड़ी कोयला खनन कंपनी के उत्‍पादन में आएगी गिरावट! चालू वित्‍त वर्ष में 60 करोड़ टन से कम रहेगा

कोरोना संकट के बीच मांग घटने के कारण कोयला उत्‍पादन में कटौती करनी पड़ी.

कोरोना संकट के बीच मांग घटने के कारण कोयला उत्‍पादन में कटौती करनी पड़ी.

कोल इंडिया (Coal India) ने वित्‍त वर्ष 2018-19 के दौरान 60.69 करोड़ टन का उत्‍पादन किया था, जो उसका सबसे ज्‍यादा उत्‍पादन (Highest Production) रहा था. कंपनी ने चालू वित्त वर्ष में 66 करोड़ टन उत्पादन का लक्ष्य निर्धारित (Production Target) किया था. वित्‍त वर्ष के मध्य में कंपनी ने उम्मीद जताई थी कि उसका उत्पादन 63 से 64 करोड़ टन रह सकता है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 28, 2021, 8:30 PM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली. दुनिया की सबसे बड़ी कोयला खनन कंपनी (Coal Mining Company) कोल इंडिया लिमिटेड (CIL) के उत्पादन में लगातार दूसरे साल गिरावट दर्ज किए जाने का अनुमान है. कंपनी के मुताबिक, वित्त वर्ष 2020-21 के दौरान कोयला उत्‍पादन (Coal Production) में 50-60 लाख टन की मामूली गिरावट दर्ज की सकती है. इस दौरान कोल इंडिया (Coal Indian) का अनुमान है कि कोयला उत्पादन 60 करोड़ टन से काफी नीचे रहेगा. बता दें कि वित्त वर्ष 2019-20 में कंपनी का कोयला उत्पादन 60.2 करोड़ टन रहा था.

कोरोना संकट के बीच मांग घटने से उत्‍पादन में की गई कटौती

कोल इंडिया ने वित्‍त वर्ष 2018-19 के दौरान 60.69 करोड़ टन का उत्‍पादन किया था, जो उसका सबसे ज्‍यादा उत्‍पादन (Highest Production) रहा था. कंपनी ने चालू वित्त वर्ष में 66 करोड़ टन उत्पादन का लक्ष्य निर्धारित (Production Target) किया था. वित्‍त वर्ष के मध्य में कंपनी ने उम्मीद जताई थी कि उसका उत्पादन 63 से 64 करोड़ टन रह सकता है. कोल इंडिया के अधिकारियों का कहना है कि कोरोना संकट (Coronavirus Crisis) के कारण बने हालात से उत्पादन पर बुरा असर पड़ा और ये कम रहा है. दरअसल, कोरोना महामारी के कारण मांग घट गई. इससे कंपनी के पास कोयले का भंडार जमा होता चला गया. इससे कंपनी को उत्पादन में कटौती करनी पड़ी है.

ये भी पढ़ें- Gold Loan: घर में रखे सोने के आभूषणों पर 90 फीसदी तक लोन लेने के लिए बचा है सिर्फ 1 दिन, जानें कितनी हैं ब्‍याज दरें
फरवरी के आखिर तक कोयले का भंडार पहुंचा 7.78 करोड़ टन

कोल इंडिया का उत्पादन 27 मार्च 2021 तक 58.5 करोड़ टन रहा है. मार्च के बाकी बचे 4 दिन में 1.1 करोड़ टन कोयले का उत्पादन होगा. इस तरह कंपनी का कुल उत्पादन (Total Coal Production) 59.6 से 59.7 करोड़ टन के बीच रहेगा, जो लक्ष्‍य से कुछ कम रहेगा. वित्त वर्ष 2020-21 के दौरान कोयले का उठाव 57.7 करोड़ टन रहने की उम्मीद है. कोल इंडिया के पास कोयले का भंडार फरवरी 2021 के अंत तक बढ़कर 7.78 करोड़ टन हो गया है. वहीं, जनवरी 2021 के आखिर तक 6.68 करोड़ टन कोयले का भंडार कंपनी के पास मौजूद था.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज