अंडों को विदेश भेजने से पहले क्वालिटी सर्टिफिकेट होगा जरूरी: वाणिज्य मंत्रालय

अंडे को विदेश भेजने के लिए निर्यात योग्य प्रमाणपत्र होगा जरूरत

अंडे को विदेश भेजने के लिए निर्यात योग्य प्रमाणपत्र होगा जरूरत

मंत्रालय द्वारा जारी मसौदा आदेश के तहत अंडे और अंडे के उत्पादों की किसी खेप का निर्यात तब तक नहीं किया जा सकेगा जब तक उसको लेकर लागू मानकों के अनुपालन की पुष्टि नहीं हो जाती.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 24, 2021, 10:56 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. वाणिज्य मंत्रालय ने अंडों और उसके उत्पाद के निर्यात के नियमों का एक मसौदा जारी किया है जिसके तहत माल की खेप विदेश भेजने से पहले उसकी गुणवत्ता की जांच कराना जरूरी होगा. मंत्रालय ने इस आदेश के मसौदे पर लोगों से सुझाव और आपत्तियां आमंत्रित की हैं. मसौदा आदेश के तहत अंडे और अंडे के उत्पादों की किसी खेप का निर्यात तब तक नहीं किया जा सकेगा जब तक उसको लेकर लागू मानकों के अनुपालन की पुष्टि नहीं हो जाती. साथ ही इस पर मनोनीत एजेंसी द्वारा जारी निर्यात योग्य प्रमाणपत्र की जरूरत होगी.

निर्यात व्यापार को गति देने के लिये उठाया कदम

मंत्रालय के 22 फरवरी के आदेश के तहत, केंद्र सरकार ने निर्यात निरीक्षण परिषद के साथ विचार विमर्श के बाद यह तय किया है कि भारत के निर्यात व्यापार को गति देने के लिये यह जरूरी है...यह अधिसूचित किया जाता है कि अंडा और अंडे के उत्पादों का निर्यात गुणवत्ता नियंत्रण या निरीक्षण अथवा दोनों पर निर्भर करेगा. यह सब निर्यात से पहले किया जाएगा. इसमें यह भी कहा गया है कि अगर किसी व्यक्ति का इस मामले में कोई आपत्ति या सुझाव है तो वह उसे निर्यात निरीक्षण परिषद को भेज सकता है.

ये भी पढ़ें: नौकरी की चिंता छोड़ करें मोटी कमाई, शुरू करें हर सीजन में हिट रहने वाला ये खास बिजनेस
फिर बढ़ने लगी अंडे की डिमांड

बर्ड फ्लू की खबरों के बाद चिकन (Chicken) और अंडे (Egg) के दाम गिर गए थे. मार्केट में इनकी डिमांड में तेजी से कमी आई थी. इसके चलते पोल्ट्री फार्म मालिकों में हाहाकार मचा हुआ है. बाजार की इस हालत के चलते उनकी लागत भी नहीं निकल पा रही थी. लेकिन अब एक बार फिर अंडे की डिमांड बढ़ने लगी है.

कारोबारियों का कहना है कि अंडे की कीमतों में तेजी आने लगी है. मौजूदा वक्त में पोल्ट्री फार्म से 100 अंडे 400 रुपये से लेकर 450 रुपये तक बिक रहे हैं.कारोबारियों का कहना है कि सरकार और विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) की ओर से जारी एडवाइजरी के बाद लोगों ने अंडे खाने शुरू कर दिए है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज