पीपीएफ में बचत करते हैं तो इस तारीख को हमेशा याद रखें, मिलेगा मोटा मुनाफा

आरोपी योगेंद्र सिंह के घर तलाशी के दौरान 6 प्लॉट, 3 दुकानों और दो मकानों के दस्तावेजों के अलावा लॉकर से करीब 10 लाख रुपये का गोल्ड भी मिला है.

आरोपी योगेंद्र सिंह के घर तलाशी के दौरान 6 प्लॉट, 3 दुकानों और दो मकानों के दस्तावेजों के अलावा लॉकर से करीब 10 लाख रुपये का गोल्ड भी मिला है.

पीपीएफ खाते (PPF Account) में हर महीने की पांच तारीख के न्यूनतम बैलेंस (Minimum Balance) पर ब्याज कैल्कुलेट (Interest Calculation) होता है. इस दिन पैसे जमा करने पर पूरे महीने का ब्याज मिलेगा.

  • Share this:

नई दिल्ली. छोटी बचत योजना और टैक्स सेविंग में पीपीएफ (PPF) का कोई तोड़ नहीं है. यदि आपका भी पीपीएफ अकाउंट (PPF Account) है तो आपके लिए यह खबर बहुत अहम है. पीपीएफ अकाउंट में हर महीने की पांच तारीख को निवेश करते हैं तो आपको ज्यादा ब्याज (Interest) मिलता है. ऐसा ब्याज कैलकुलेट करने की तरीके की वजह से होता है.

मौजूदा समय में पीपीएफ पर ब्याज का कैल्कुलेशन मासिक आधार पर होता है, लेकिन वह ब्याज वित्त वर्ष के आखिर में खाते में क्रेडिट किया जाता है. पीपीएफ खाते के न्यूनतम बैलेंस पर हर महीने की 5वीं से आखिरी तारीख के बीच ब्याज कैल्कुलेट होता है. अगर आप पीपीएफ में 5 तारीख को या उससे पहले निवेश करते हैं तो उस पैसे पर भी ब्याज कैल्कुलेट होगा, जबकि अगर आप 5 तारीख के बाद निवेश करते हैं तो आपको सिर्फ उससे पिछले महीने तक के पैसे पर ही ब्याज मिलेगा. यानी आपको पूरे एक महीने के ब्याज का नुकसान होगा.

यह भी पढें : Success Story : लॉकडाउन में सांसद ने नौकरी से निकाला तो राजमा-चावल ने बदल दी इस कपल की जिंदगी


इस तरह समझें आपका फायदा

यदि आपने 5 मार्च तक पीपीएफ में 50 हजार रुपए निवेश किए. ब्याज दर 7.1 फीसदी है और 28 फरवरी तक खाते का बैलेंस 3 लाख रुपए है. ऐसे में 31 मार्च तक खाते का न्यूनतम बैलेंस 3.5 लाख रुपए माना जाएगा. इसी आधार पर ब्याज की गणना कुछ इस तरह होगी - 7.1%/12*3.5 लाख= 2,071 रुपए. जबकि, यदि आप 6 मार्च को 50 हजार रुपए निवेश करते हैं और 28 फरवरी तक आपका बैलेंस 3 लाख रुपए है तो मार्च के लिए आपके खाते का बैलेंस 3 लाख रुपए ही माना जाएगा. ऐसी स्थिति में ब्याज की गणना कुछ इस तरह होगी-7.1%/12*3 लाख= 1775 रुपए. यानी सिर्फ एक दिन के अंतर की वजह से आपको 296 रुपए का नुकसान उठाना पड़ेगा.

यह भी पढें : नौकरी की बात :  इंटरव्यू में नई स्किल के बेहतर प्रदर्शन से मिलेगी जॉब की गारंटी, जानिए ऐसे ही अहम मंत्र



पीपीएफ पर मिलता है 7.1 फीसदी ब्याज

पीपीएफ में निवेश पर मौजूदा समय में 7.1 फीसदी ब्याज मिलता है. 30 मार्च 2020 को सरकार ने स्मॉल सेविंग्स स्कीम पर मिलने वाले ब्याज में कटौती की थी. पिछले दिनों भी सरकार ने ब्याज में भारी कटौती करते हुए इसे 6.4 फीसदी कर दिया था, लेकिन सुबह होते ही सरकार ने ये कह कर अपना फैसला बदल दिया कि ऐसा गलती से हो गया था. सरकार की तरफ से छोटी बचत योजनाओं और पीपीएफ पर दिए जाने वाले ब्याज का आकलन हर तिमाही में किया जाता है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज