जल्द शुरू हो सकती हैं सार्वजनिक परिवहन की सेवाएं, गडकरी ने दिए संकेत

जल्द शुरू हो सकती हैं सार्वजनिक परिवहन की सेवाएं, गडकरी ने दिए संकेत
पब्लिक ट्रांसपोर्ट शुरू करने के बारे में नितिन गडकरी ने दी जानकारी.

बुधवार को राष्ट्रीय राजमार्ग एवं परिवहन मंत्री नितिन गडकरी (Nitin Gadkari) ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए बस एंड कार ऑपरेशन कॉन्फेडरेशन ऑफ इंडिया के सदस्यों से बात की. उन्होंने बताया कि इस इंडस्ट्री द्वारा राहत पैकेज की मांग पर कहा कि सरकार इसके लिए जरूरी कदम उठाएगी.

  • Share this:
नई दिल्ली. राष्ट्रीय राजर्माग एवं परिवहन मंत्री नितिन गडकरी (Nitin Gadkari) ने बुधवार को कहा कि बहुत जल्द ही पब्लिक ट्रांसपोर्ट सेवाओं (Public Transport Services) को चालू किया जाएगा. इसके लिए सोशल डिस्टेंसिंग को ध्यान में रखते हुए केंद्र सरकार गाइडलाइंस तैयार कर रही है. बुधवार को नितिन गडकरी ने बस एंड कार ऑपरेशन कॉन्फेडरेशन ऑफ इंडिया के सदस्यों से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए बात में यह कहा.

उन्होंने कहा कि सोशल डिस्टेंसिंग और सुरक्षा के मद्देनजर पब्लिक ट्रांसपोर्ट और हाईवे को धीरे-धीरे खोला जाएगा. साथ ही हैंड वॉश, सेनिटाइजिंग, फेस मास्क्स आदि सुरक्षा पर विशेष ध्यान दिया जाएगा.

राहत पैकेज को लेकर कही ये बात
पैसेंजर ट्रांसपोर्ट इंडस्ट्री (Passenger Transport Industry) के लिए राहत पैकेज की मांग पर गडकरी ने कहा कि सरकार इस परेशानी से पूरी तरह अवगत है. इस समस्या के लिए हम जरूरी कदम उठाएंगे. उन्होंने बताया कि वो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) और वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण (FM Nirmala Sitharaman) से लगातार संपर्क में हैं. मौजूदा महामारी के इस समय में सभी लोग अर्थव्यवस्था के लिए मिलकर काम कर रहे हैं.
यह भी पढ़ें:  लॉकडाउन में सरकार अब दे सकती है इस इनकम टैक्स पर बड़ी राहत, मिलेगा सीधा फायदा



कोरोना वायरस लेकर आया है नया मौका
वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए बातचीत के दौरान नितिन गडकरी ने इन्वेस्टर्स और इंडस्ट्री से अपील की कि कोरोना वायरस महामारी के इस संकट में उनके लिए बेहतर मौका है. वैश्विक बाजार में हम पकड़ बना सकते हैं. उन्होंने कहा, 'कोरोना वायरस आउटब्रेक की वजह अर्थव्यवस्था में संकट की स्थिति है. हमें इसे एक नए मौके के रूप में देखना होगा क्योंकि फिलहाल चीन से कोई डील नहीं करना चाहता है. जापानी प्रधानमंत्री इस बात पर जोर दे रहे हैं कि ​कंपनियां चीन से बाहर निवेश करें. ऐसे में हम भारतीय अर्थव्यवस्था को बूस्ट कर सकते हैं.'

आत्मनिर्भर बनने पर जोर
इस दौरान उन्होंने यह भी कहा कि हमारी पूरी कोशिश होगी कि इंपोर्ट को कम किया जाए और आत्मनिर्भर बना जाए. उन्होंने आगे कहा कि दो तीन हफ्ते के लिए हमने जो टोल बंद कर दिया था उसका कंपनसेशन तो हमें देना ही पड़ेगा और हम देंगे. सरकार ने 30 किमी प्रतिदिन सड़क बनाने का लक्ष्य पूरा कर लिया है. 40 किमी मीटर प्रतिदिन सड़क बनाने का टारगेट हम पूरा नहीं कर पाए हैं. ये हाईवे, एयरपोर्ट में बड़े पैमाने के निवेश का सही समय है. इस साल टोल से 40 हजार करोड़ रुपये की आमदनी होगी.

यह भी पढ़ें:  लॉकडाउन के बीच कारोबारियों को मिली बड़ी राहत! सरकार ने GST पर लिया ये फैसला
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading