अगर कोई देश मदद न करे तो पाकिस्तान को बर्बाद होने के लिए 2 महीने ही काफी हैं! ये है वजह

अगर कोई देश मदद न करे तो पाकिस्तान को बर्बाद होने के लिए 2 महीने ही काफी हैं! ये है वजह
पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान.

पाकिस्तान हथियार, निर्यात और अर्थव्यवस्था हर मामले में भारत से कोसों पीछे है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 21, 2019, 3:41 PM IST
  • Share this:
पिछले 70 सालों में पाकिस्तान ने अपनी खुशहाली की बजाय पड़ोसी मुल्क हिंदुस्तान को नीचा दिखाने के लिए इतने बम-बारूद और आतंक खरीद डाले कि अब मुल्क को पटरी पर वापस लाने के लिए कर्ज भी कम पड़ रहा है. आलम ये है कि पाकिस्तान को कर्ज तो छोड़िए कर्ज की ईएमआई चुकाने तक के लिए दूसरे कर्ज लेने पड़ रहे हैं. मगर हालात ये हैं कि भले ही जनता के पास भरपेट खाना न हो, कायराना तरीके से पुलवामा जैसे हमलों के अंजाम दे रहा है. यहां तक कि कंगाली की दहलीज पार कर चुके पाकिस्तान को अपनी भैसें, गधे, कार, चॉपर, सरकारी बंगले और सरकारी जमीन की सेल लगानी पड़ रही है. पाकिस्तान पर कर्ज भी इतना ज्यादा है कि IMF ने और पैसा देने से भी मना कर दिया है.

ये भी पढ़ें: पुलवामा हमला: महिला भिखारी की आखिरी इच्छा हुई पूरी, शहीदों के परिवार को दिए 6 लाख

28 हजार अरब का कर्ज
पाकिस्तान में हालात फिलहाल ऐसे हैं कि 21 में से 7 करोड़ जनता के पास भरपेट खाना और पीने को पानी नहीं है. हर दस में से चार पाकिस्तानी भूखा है और इमरान खान का सरकारी खजाना खाली है. फिलहाल फॉरेन एक्सचेंज रिजर्व के मामले में पाक की हालत इतनी ज्यादा पतली है कि अगर दूसरे देशों से सहायता न मिले तो पाकिस्तान सिर्फ 60 दिनों का सामान ही इंपोर्ट कर सकता है. पाकिस्तानी रुपए की वैल्यू अतंर्राष्ट्रीय बाजार में खत्म हो चुकी है. एक डॉलर की कीमत करीब 140 पाकिस्तानी रुपए के बराबर पहुंच चुकी है.



अमेरिका ने भी रोकी मदद


अपनी सरजमीं से होने वाले आतंकवाद को न रोकने के चलते अमेरिका ने भी पाकिस्तान को आर्थिक मदद देना बंद कर दिया है. आईएमएफ के अनुसार पाकिस्तान पर कर्ज का बोझ लगातार बढ़ता जा रहा है. 2009 से 2018 के बीच पाकिस्तान पर विदेशी कर्ज 50 फीसदी बढ़ा है.

ये भी पढ़ें: Railway कैंटीन में कैसे बन रहा है आपके लिए खाना, ऐसे करें पता

चीन बना मददगार
पिछले कई सालों से पाकिस्तान के आर्थिक संकट के समय चीन सबसे बड़ा मददगार साबित हुआ है. चीन, पाकिस्तान को आर्थिक संकट से उबरने के लिए लगातार लोन दे रहा है. पाक के फॉरेन एक्सचेंज रिजर्व को बढ़ावा देने के लिए चीन ने इसी महीने 17 हजार 750 करोड़ रुपए का कर्ज देने का फैसला किया है. यह रकम सेंट्रल बैंक में जमा कराई जाएगी. इससे पहले जुलाई 2018 में चीन ने पाक को 14 हजार दो सौ करोड़ रुपए का कर्ज दिया था. चीन अब तक पाक को 31 हजार 950 करोड़ रुपए का कर्ज दे चुका है.

PM के लग्जरी आइटम्स की लगी थी सेल
इमरान खान ने पाकिस्तान का प्रधानमंत्री बनते ही ऐलान किया था कि देश पर बढ़ते कर्ज से उबरने के लिए लग्जरी आइटम्स की भी नीलामी की जाएगी. इसी कड़ी में 102 सरकारी गाड़ियों, सरकारी भैंसें, हेलीकॉप्टर, रेलवे की जमीन की भी नीलामी की गई थी.

- दुष्यंत कुमार

ये भी पढ़ें: LIC की कन्यादान पॉलिसी: सिर्फ 121 रुपए से करें शुरुआत, मिलेंगे 27 लाख रुपये

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पाससब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading