Home /News /business /

पंजाब एंड सिंध बैंक ने की MCLR में कटौती, लोन लेने वाले ग्राहकों को मिलेगा फायदा, जानिए डिटेल

पंजाब एंड सिंध बैंक ने की MCLR में कटौती, लोन लेने वाले ग्राहकों को मिलेगा फायदा, जानिए डिटेल

ज्यादातर कंज्यूमर लोन एक साल के MCLR के आधार पर होती है

ज्यादातर कंज्यूमर लोन एक साल के MCLR के आधार पर होती है

पब्लिक सेक्टर के पंजाब एंड सिंध बैंक (Punjab & Sind Bank) ने एमसीएलआर (MCLR) में 5 से 10 बेसिस प्वाइंट्स (BPS) की कटौती की है.

नई दिल्ली. अगर आप होम लोन, ऑटो लोन या एजुकेशन लोन (Loan) लेना चाहते हैं तो आपके लिए खुशखबरी है. दरअसल, पब्लिक सेक्टर के पंजाब एंड सिंध बैंक (Punjab & Sind Bank) ने मार्जिनल कॉस्ट बेस्ड लेंडिंग रेट यानी एमसीएलआर (MCLR) में कटौती की है. बैंक ने एमसीएलआर में 5 से 10 बेसिस प्वाइंट्स (BPS) यानी 0.10 फीसदी तक की कटौती की है. नई दरें आज यानी 16 जनवरी 2022 से प्रभावी हो गई हैं.

ज्यादातर कंज्यूमर लोन जैसे पसर्नल लोन, ऑटो लोन और होम लोन एक साल के मार्जिनल कॉस्ट बेस्ड लेंडिंग रेट के आधार पर होती है. पंजाब एंड सिंध बैंक की ओर से जारी एक बयान में कहा गया है कि 16 जनवरी, 2022 से एक साल का एमसीएलआर 7.45 फीसदी है जबकि ओवरनाइट, एक महीने, 3 महीने और 6 महीने की एमसीएलआर दरों में कटौती देखी गई है. हालांकि मौजूदा बेस रेट और बीपीएलआर में कोई कटौती नहीं की गई है.

ये भी पढ़ें- IRCTC Rupay SBI Card: रेल टिकट बुकिंग पर 10% तक का वैल्यूबैक, रेलवे लाउंज एक्सेस सहित मिलेंगे कई फायदे

क्या होता है MCLR?
गौरतलब है कि एमसीएलआर भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) द्वारा विकसित की गई एक पद्धति है जिसके आधार पर बैंक लोन के लिए ब्याज दर निर्धारित करते हैं. आरबीआई ने 1 अप्रैल 2016 से देश में एमसीएलआर की शुरुआत की थी. उससे पहले सभी बैंक बेस रेट के आधार पर ही ग्राहकों के लिए ब्याज दर तय करते थे.

ये भी पढ़ें- Post Office MIS: एकमुश्त जमा करें एक लाख रुपये, हर महीने 550 रुपये की होगी गारंटीड इनकम

आधार दर की जगह पर अप्रैल 2016 से बैंक एमसीएलआर का इस्तेमाल कर रहे हैं. अब बैंकों द्वारा एमसीएलआर में किसी भी बढ़ोतरी या कटौती का असर नए और मौजूदा लेनदारों पर भी पड़ता है.

Tags: Bank Loan, Taking a home loan

विज्ञापन
विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर