अपना शहर चुनें

States

PNB में खाता है तो ध्यान दें! 31 मार्च के बाद करना है पैसों का लेनदेन तो करें ये काम, नहीं तो...

पीएनबी.
पीएनबी.

पीएनबी (Punjab National Bank) में अगर आपका अकाउंट है तो यह खबर आपके लिए बहुत ही जरूरी है. पीएनबी ने बताया है कि पुराने आईएफएससी और एमआईसीआर कोड (IFSC/MICR Code) को बैंक की ओर से बदल दिए जाएंगे.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 25, 2021, 2:48 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली: देश के दूसरे सबसे बड़े सरकारी बैंक पीएनबी (Punjab National Bank) में अगर आपका अकाउंट है तो यह खबर आपके लिए बहुत ही जरूरी है. पीएनबी ने बताया है कि पुराने आईएफएससी और एमआईसीआर कोड (IFSC/MICR Code) को बैंक की ओर से बदल दिया गया है. यानी 31 मार्च 2021 के बाद से ये कोड काम नहीं करेंगे. अगर आपको पैसे ट्रांसफर करने हैं तो उसके लिए आपको बैंक से नया कोड लेना होगा. इसके बाद ही आप लेनदेन कर सकते हैं.

आपको बता दें 1 अप्रैल 2020 को सरकार ने देश के तीन बैंक पंजाब नेशनल बैंक, ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉर्स और यूनाइटेड बैंक ऑफ इंडिया का मर्जर कर दिया था. इसके बाद से ग्राहकों की चेक बुक, IFSC/MICR Code में बदलाव हो जाएगा.






यह भी पढ़ें: आम आदमी को पेट्रोल-डीजल की कीमतों में राहत, आज नहीं बढ़े रेट्स, चेक करें लेटेस्ट भाव
पंजाब नेशनल बैंक ने किया ट्वीट
पंजाब नेशनल बैंक की ओर से ट्वीट करके इस बारे में जानकारी दी गई है. बैंक ने कहा है कि ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉर्स और यूनाइटेड बैंक ऑफ इंडिया की पुरानी चेकबुक और IFSC/MICR Code सिर्फ 31 मार्च तक ही काम करेंगे. इसके बाद आपको बैंक से नया कोड और चेकबुक लेना होगा.

PNB
PNB


ज्यादा जानकारी के लिए इस नंबर पर करें कॉल
इन बैंकों के मर्जर के बाद दोनों बैंकों के कोड और चेकबुक बदल गए हैं, जिसके बाद ग्राहकों को बैंक जाकर नई चेकबुक लेनी होगी. बता दें ग्राहक अधिक जानकारी के लिए टोल फ्री नंबर 18001802222/18001032222 पर फोन भी कर सकते हैं.

यह भी पढ़ें: बड़ी खबर: क्या मार्च के बाद नहीं चलेंगे 100, 10 और 5 रुपये के पुराने नोट? RBI ने दी जानकारी

आईएफएससी कोड के बदलाव का खाताधारकों पर पड़ेगा. हालांकि तुरंत आपको परेशान होने की जरूरत नहीं है. अभी इन शाखाओं के आईएफएससी कोड की आखिरी तारीख 31 मार्च 2021 है. बैंक ने इस बाबत सभी ग्राहकों को सूचना भी दी है. आपको बता दें ऑनलाइन ट्रांजेक्शन के लिए बैंक अकाउंट नंबर के साथ बैंक का IFSC यानी इंडियन फाइनेंशियल सिस्टम कोड एड करना पड़ता है. भारत में बैंकों की संख्या बहुत ज्यादा है और इस स्थिति में सभी बैंकों के ब्रांच को याद नहीं रखा जा सकता है. वहीं, MICR कोड को मैगेनेटिक इंक कैरेक्टर रिक्निशन (Magnetic Ink Character Recognition) होता है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज