• Home
  • »
  • News
  • »
  • business
  • »
  • बड़े नोटों को बंद करने से कम हुई भारत की इकोनॉमिक ग्रोथ: रघुराम राजन

बड़े नोटों को बंद करने से कम हुई भारत की इकोनॉमिक ग्रोथ: रघुराम राजन

आरबीआई के पूर्व गवर्नर रघुराम राजन (फाइल)

आरबीआई के पूर्व गवर्नर रघुराम राजन (फाइल)

रिजर्व बैंक (RBI) के पूर्व गवर्रन रघुराम राजन ने कहा है कि नोटबंदी से भारत की इकोनॉमिक ग्रोथ धीमी हुई है. उन्होंने कहा, जिस वक्त ग्लोबल इकोनॉमी तेजी से बढ़ रही थी उस वक्त नोटबंदी के लागू होने से भारत की ग्रोथ कम हो गई.

  • Share this:
    भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) के पूर्व गवर्रन रघुराम राजन ने कहा है कि नोटबंदी से भारत की इकोनॉमिक ग्रोथ धीमी हुई है. उन्होंने कहा, 'जिस वक्त ग्लोबल इकोनॉमी तेजी से बढ़ रही थी, उस वक्त नोटबंदी के लागू होने से भारत की ग्रोथ कम हो गई.'

    बता दें कि मोदी सरकार ने  8 नवंबर 2016 को कालाधन, जाली नोट और आतंकी फंडिंग पर लगाम लगाने के लिए 500 रुपये और 1000 रुपये के नोट को सिस्टम से बाहर कर दिया था.

    ये भी पढ़ें: रघुराम राजन बोले- किसानों की कर्जमाफी सही नहीं, राजनीतिक दल न करें वादा

    राजन ने कहा, 'मैंने इसपर काफी स्टडी की. इसमें पाया है कि 2016 के आखिर में बड़े नोटों को प्रतिबंधित करने का असर भारत की ग्रोथ पर पड़ा है.' एक न्यूज चैनल को दिए इंटरव्यू में उन्होंने कहा, 'मेरा मानना है कि नोटबंदी से भारतीय अर्थव्यवस्था सुस्त पड़ गई है. साल 2017 में दुनिया की अर्थव्यवस्था तेजी से रफ्तार पकड़ी थी, लेकिन हम स्लोडाउन हो गए.'

    आरबीआई के पूर्व गवर्नर ने कहा, 'ग्रोथ न सिर्फ नोटबंदी से प्रभावित हुआ, बल्कि गुड्स एंड सर्विसेज टैक्स (GST) के लागू होने से भी हुआ. 2017-18 में भारतीय इकोनॉमी ग्रोथ 6.7 फीसदी रही. नोटबंदी और जीएसटी लागू किया जाना गलत साबित हुआ. जीएसटी लंबी अवधि के लिए अच्छा आइडिया है, लेकिन शॉर्ट टर्म में इसका असर देखने को मिला.'

    ये भी पढ़ें: पूर्व RBI गवर्नर रघुराम राजन ने सरकारी बैंकों को लेकर कही ये बड़ी बात

    जब उनसे पूछा गया कि क्या उन्हें भारतीय रिजर्व बैंक के गवर्नर के रूप में अपने कार्यकाल के दौरान नोटबंदी को लागू करने के लिए कहा गया था? राजन ने कहा कि उन्हें सिस्टम से बड़े नोटों पर प्रतिबंध लगाने पर उनकी राय के लिए कहा गया था, इस पर उन्होंने सोचा था कि वह बुरा विचार था. बता दें कि राजन तीन वर्ष (2013 से सितंबर 2016 तक) के लिए रिजर्व बैंक के गवर्नर रहे.

     

     

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन