Railway ने किसान आंदोलन की वजह से कैंसिल की इन रूटों पर ट्रेनें, घर से निकलने से पहले चेक कर लें लिस्ट

 Railway ने किसान आंदोलन की वजह से कैंसिल की इन रूटों पर ट्रेनें
Railway ने किसान आंदोलन की वजह से कैंसिल की इन रूटों पर ट्रेनें

किसानों के बंद बुलाने और आंदोलन को देखते हुए रेलवे (Railway) ने अपनी कई ट्रेनों को पूरी तरह या आंशिक तौर पर रद्द कर दिया है. ख़ास तौर पर अमृतसर जाने वाली ट्रेनों को लेकर रेलवे ने कदम उठाए हैं. इसका असर 27 सितंबर तक चलने वाली ट्रेनों पर होगा.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 25, 2020, 3:48 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. देशभर में किसानों के आंदोलन (Farmer Bill) से कई ट्रेनें प्रभावित हुई हैं. इसका सबसे ज़्यादा असर पंजाब की तरफ जाने या वहां से चलने वाली ट्रेनों पर हुआ है. किसानों के बंद बुलाने और आंदोलन को देखते हुए रेलवे (Railway) ने अपनी कई ट्रेनों को पूरी तरह या आंशिक तौर पर रद्द कर दिया है. ख़ास तौर पर अमृतसर जाने वाली ट्रेनों को लेकर रेलवे ने कदम उठाए हैं. इसका असर 27 सितंबर तक चलने वाली ट्रेनों पर होगा.

मुंबई सेंट्रल से अमृतसर तक चलने वाली ट्रेन गोल्डन टेंपल स्पेशल को अंबाला कैंट तक ही चलाने का फैसला लिया गया है. वहीं 27 सितंबर को इस ट्रेन की वापसी भी अमृतसर की जगह अंबाला कैंट से होगी. न्यू जलपाईगुड़ी से अमृतसर तक चलने वाली कर्मभूमि एक्सप्रेस को अंबाला कैंट तक चलाने और यहीं से वापसी का फैसला.

बांद्रा टर्मिनस से अमृतसर स्पेशल-अंबाला कैंट तक चल रही है और यहीं से वापसी होगी. नांदेड़ से अमृतसर सचखंड एक्सप्रेस पिछले 4 दिनों से नई दिल्ली तक ही चल रही है और 26 तारीख तक यहीं से वापसी की योजना बनाई गई है. जयनगर से अमृतसर तक चलने वाली शहीद एक्सप्रेस 25 सितंबर को अंबाला कैंट तक चलेगी और यहीं से वापसी भी होगी.




जयनगर से अमृतसर तक चलने वाली सरयु यमुना एक्सप्रेस अंबाला कैंट तक चलेगी और 26 तारीख को यहीं से वापस जाएगी. वहीं इस आंदोनल का असर डिब्रुगढ़-अमृतसर स्पेशल, जयनगर-अमृतसर हमसफर स्पेशल, अमृतसर-कोलकाता स्पेशल ट्रेनों पर भी पड़ा है.

जबकि 24 और 25 सितंबर को चलने वाली कुछ ट्रेनों को रद्द कर उन्हें 27 सितंबर को चलाने का फैसला किया गया है. जिनमें

अमृतसर- हावड़ा स्पेशल
गुरुदासपुर- श्रीबदरया लाठी स्पेशल
बाड़ी ब्राहम्ण- नामकोम ट्रेन और
करतारपुर- अमृतसर

वहीं इस आंदोलन की वजह से कुछ ट्रेनों को बदले हुए रुट से भी चलाने का फैसला किया गया है. इस बीच रेलले की तरफ से किसानों से अपने आंदोलन और बंद के दौरान रेल संपत्ति को नुकसान न पहुंचाने की अपील की है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज